विज्ञापन
विज्ञापन

शहद लेने पर राजी हुए शिवानंद

Haridwar Updated Tue, 28 Aug 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
हरिद्वार। अनशन पर बैठे मातृसदन के परमाध्यक्ष स्वामी शिवानंद और प्रशासनिक अधिकारियों के बीच सोमवार को चार घंटे की मैराथन वार्ता हुई। लंबी बातचीत के बाद शिवानंद शहद लेने पर राजी हुए। हालांकि, उन्हाेंने अनशन खत्म करने से साफ इनकार कर दिया। शिवानंद का कहना है कि मांगों को पूरी करने के लिए प्रशासन को 15 दिन का समय दिया गया है। इस बीच मांग पूरी नहीं हुई तो शहद लेना बंद कर देंगे। प्रशासन ने पहले शिवानंद का अनशन समाप्त कराने का दावा किया था लेकिन देर रात अधिकारी अपने बयान से पलट गए।
विज्ञापन
विज्ञापन
स्वामी शिवानंद सरस्वती के अनशन का सोमवार को 22वां दिन था। सुबह उनके मेडिकल परीक्षण के लिए चिकित्सकों के दो दल मातृसदन पहुंचे। लेकिन स्वामी शिवानंद ने दोनों को ही वापस भेज दिया। सोमवार शाम चार बजे एसडीएम अरविंद पांडे, सीओ सिटी अजय सिंह और तहसीलदार ऋषिपाल सिंह चौहान पुलिसबल के साथ मातृसदन पहुंचे। पुलिसकर्मियों को तो बाहर ही रोक दिया गया और अधिकारी वार्ता के लिए अंदर गए। शाम करीब चार बजे से रात आठ बजे तक चली वार्ता के दौरान कई उतार चढ़ाव आए। स्वामी शिवानंद का कहना था कि 15 दिन में कुंभ क्षेत्र के विस्तारीकरण का शासनादेश लाकर दें तब वे अनशन के दौरान शहद लेने को राजी हो सकते हैं। लेकिन, अधिकारी अनशन समाप्त करने और कम से कम छह महीने का समय देने की बात कह रहे थे।
बाद में प्रशासनिक अधिकारी स्वामी शिवानंद सरस्वती की ही बात पर राजी हो गए। मातृसदन के ब्रह्मचारी दयानंद सरस्वती ने बताया कि 15 दिन तक स्वामी शिवानंद सरस्वती अनशन तो जारी रखेंगे लेकिन शहद लेते रहेंगे। अगर 15 दिनों में शासनादेश जारी नहीं किया गया तो शहद लेना बंद कर देंगे। अधिकारियों की मौजूदगी में ही शहद लेने पर प्रशासनिक अमला वापस लौट आया।

जबरन उठाने की थी तैयारी
हरिद्वार। शाम करीब सात बजे ऐसी स्थिति आई कि प्रशासन ने स्वामी शिवानंद सरस्वती को जबरन उठाने की तैयारी कर ली। इसके लिए उनके कमरे का चैनल गेट काटने के लिए गैस कटर भी मंगवा लिया था। आसपास के सभी थानों की पुलिस भी बुला ली। पुलिसकर्मी आश्रम के भीतर भी घुस आए। लेकिन, इसी बीच वार्ता के सकारात्मक परिणाम दिखाई दिए तो प्रशासन ने उन्हें जबरन उठाने का इरादा बदल दिया।

चेकअप के लिए मानें शिवानंद
हरिद्वार। एसडीएम अरविंद पांडे ने बताया कि शिवानंद के प्राणों की रक्षा करना प्रशासन का कर्तव्य है। इसलिए उन्हें शहद लेने के साथ ही नियमित मेडिकल चेकअप के लिए राजी किया गया है। मंगलवार से उनका नियमित मेडिकल चेकअप किया जाएगा। चेकअप के लिए चिकित्सक का नाम स्वामी शिवानंद की ओर से ही सुझाया गया है। उनके बताए डाक्टर नियमित चेकअप करेंगे। मातृसदन की ओर से डा. विजय वर्मा और देहरादून के सरकारी चिकित्सक डा. केसी पंत एवं उनकी टीम मेडिकल चेकअप करेगी।

हत्या की रची जा रही साजिश
हरिद्वार। सोमवार दोपहर आनन-फानन में मातृसदन की ओर से प्रेसवार्ता बुलाई गई। पत्रकारों से बातचीत में स्वामी शिवानंद सरस्वती ने जिला प्रशासन पर अपनी हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया। उन्होंने आशंका जताई कि जिस तरह से स्वामी निगमानंद सरस्वती को अनशन से जबरन उठाकर अस्पताल में भर्ती करा दिया गया था और उपचार के दौरान उन्हें जहर देकर हत्या कर दी गई थी ऐसा उनके साथ भी हो सकता है।

Recommended

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।
UP Board 2019

UP Board Class 10th & 12th 2019 की परीक्षाओं का सबसे तेज परिणाम देखने के लिए रजिस्टर करें।

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019
ज्योतिष समाधान

अक्षय तृतीया पर अपार धन-संपदा की प्राप्ति हेतु सामूहिक श्री लक्ष्मी कुबेर यज्ञ - 07 मई 2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव में किस सीट पर बदल रहे समीकरण, कहां है दल बदल की सुगबुगाहट, राहुल गाँधी से लेकर नरेंद्र मोदी तक रैलियों का रेला, बयानों की बाढ़, मुद्दों की पड़ताल, लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े हर लाइव अपडेट के लिए पढ़ते रहे अमर उजाला चुनाव समाचार।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Haridwar

हादसे के समय 100 किमी प्रतिघंटे से दौड़ रही नंदा एक्सप्रेस

हादसे के समय 100 किमी प्रतिघंटे से दौड़ रही नंदा एक्सप्रेस

20 अप्रैल 2019

विज्ञापन

हरिद्वार के पास दो हाथियों की मौत, ट्रेन की चपेट में आने से गई जान

शुक्रवार को हरिद्वार के पास नंदा देवी एक्सप्रेस की चपेट में आने से दो हाथियों की मौत की खबर सामने आई है। वन अधिकारियों का कहना है कि ये हादसा सुबह लगभग 5 बजे के करीब हुआ। सूचना मिलने के बाद वन अधिकारियों ने दोनों हाथियों का पोस्टमार्टम किया।

19 अप्रैल 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election