विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

पिकनिक मनाने निकले थे दोस्त, ओवरटेक के चक्कर में हुआ भीषण हादसा, कार काटकर निकाले शव, तस्वीरें...

दिल्ली-हरिद्वार हाईवे पर इनोवा और ट्रक की आमने-सामने की टक्कर में तीन लोगों की मौत हो गई जबकि दो गंभीर रूप से घायल हो गए।

15 अक्टूबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

चम्पावत

मंगलवार, 15 अक्टूबर 2019

करो जनक सीता को सनमुख, करूं धनुष का भंग अभी मैं

जिले के विभिन्न स्थानों में रामलीलाओं का मंचन चरम पर है। जिला मुख्यालय के फुलारागांव में जहां राम दरबार के साथ ही रामलीला का समापन किया गया। वहीं मल्लीहाट की रामलीला में बालि वध का मंचन किया गया।
कोट अमोड़ी में चल रही रामलीला में शुक्रवार को तीसरे दिन की लीला का मंचन किया गया। जिसमें सीता स्वयंवर में रावण द्वारा जनक दरबार में करो जनक सीता को सनमुख करू धनुष का भंग अभी मैं...गीत प्रस्तुत कर भगवान शिव के धनुष को तोड़ने को प्रयास करना, आकाशवाणी होना, रावण का अपनी बहन की रक्षा करने आदि दृश्यों का मंचन किया गया।
रामलीला कमेटी अध्यक्ष ललित मोहन, व्यवस्थापक खीमानंद भट्ट, संचालन सुरेश भट्ट, बलदेव भट्ट, मनोहर भट्ट, दिनेश भट्ट आदि सहयोग कर रहे हैं। बेलखेत में पांचवें दिन की रामलीला में दशरथ केकैई संवाद से लेकर वनवास तक की लीला का मंचन किया गया। पाटी में सीता स्वयंवर की लीला का मंचन किया गया।
भिंगराड़ा में चल रही श्री ऐड़ी रामलीला में अशोक वाटिका में रावण की सीता से प्रथम भेंट, हनुमान-सीता संवाद, हनुमान द्वारा अशोक वाटिका उजाड़ना, अक्षय कुमार वध, रावण-हनुमान संवाद और लंका दहन आदि दृश्यों का मंचन किया गया।
इस मौके पर नैनीताल बैंक शाखा प्रबंधक चंद्र शेखर तिवारी, शिक्षक संघ अध्यक्ष पान सिंह मेहता, तारा दत्त भट्ट, धर्मानंद भट्ट, गिरीश भट्ट, प्रकाश शर्मा कृष्ण चंद्र भट्ट आदि मौजूद रहे।
बाराकोट विकासखंड के चौमेल में कमेटी के अध्यक्ष दीवान सिंह की अध्यक्षता में चल रही रामलीला में चौथे दिन दशरथ कैकई संवाद, कैकई द्वारा दशरथ से राम को 14 वर्ष का बनवास और भरत के लिए राज्य मांगना, राम, लक्ष्मण, सीता द्वारा कौशल्या, सुमित्रा, कैकई से वन जाने की आज्ञा लेना, दशरथ से आज्ञा लेकर राम, लक्ष्मण, सीता का वन की ओर प्रस्थान करने की लीला का मंचन किया गया।
यहां त्रिलोक सिंह बिष्ट, डॉ. गंगा दत्त जोशी, शिव दत्त जोशी, लाल सिंह बिष्ट, संजय फर्त्याल, अजय बिष्ट, नारायण सिंह, गणेश सिंह, रमेश जोशी, तारा दत्त पाठक, योगेश बिष्ट, महेश पाठक, शंकु महर, अमर सिंह आदि मौजूद रहे।
चंपावत के भिंगराड़ा रामलीला में अशोक बाटिका को उजाड़ते हनुमान।
चंपावत के भिंगराड़ा रामलीला में अशोक बाटिका को उजाड़ते हनुमान।- फोटो : CHAMPAWAT
चंपावत के कोट अमोड़ी में शिव धनुष को उठाने का प्रयास करता लंकापति रावण।
चंपावत के कोट अमोड़ी में शिव धनुष को उठाने का प्रयास करता लंकापति रावण।- फोटो : CHAMPAWAT
चंपावत के मल्लीहाट रामलीला में घायल अवस्था में पड़े बालि को समझाते प्रभु राम।
चंपावत के मल्लीहाट रामलीला में घायल अवस्था में पड़े बालि को समझाते प्रभु राम।- फोटो : CHAMPAWAT
... और पढ़ें

पूजन को अंबे गौरी, चलियो सखी सहेली

जिले के विभिन्न स्थानों में रामलीलाओं मंचन जारी है। मल्लीहाट में लक्ष्मण शक्ति के बाद लक्ष्मण-मेघनाद युद्ध का मंचन किया गया। फुलारागांव, सैंदर्का और धौन में रामलीला देखने को ग्रामीण उमड़ रहे हैं।
जिला मुख्यालय के दूरस्थ क्षेत्र कोट अमोड़ी में भी रामलीला मंचन शुरू हो गया है। बृहस्पतिवार को रामलीला कमेटी अध्यक्ष खीमानंद भट्ट एवं सामाजिक कार्यकर्ता ललित मोहन, दिनेश भट्ट, तुलसी दत्त भट्ट आदि ने दीप प्रज्ज्वलित कर रामलीला का शुभारंभ किया।
दूसरे दिन की लीला में दशरथ-विश्वामित्र संवाद, विश्वामित्र का राम-लक्ष्मण को अपने साथ ले जाना, जंगल में ताड़का का वध करने के बाद पुष्पवाटिका की सैर, राम का लक्ष्मण को पुष्प वाटिका में घुमाना व पुष्प वाटिका में सीता से मुलाकात के बाद गौरी पूजन तक की लीला का मंचन किया गया। इसमें सीता अपनी सहेलियों से कहती हैं पूजन को अंबे गौरी, चलियो सखी सहेली। वहीं बेलखेत में चौथे दिन की रामलीला में सीता विवाह की लीला का मंचन किया गया।
पाटी की रामलीला में दूरदराज के गांवों से भारी भीड़ उमड़ रही है। बृहस्पतिवार रात की लीला में राजा जनक द्वारा सीता स्वयंवर के लिए राजाओं को न्यौता देने की लीला का मंचन किया गया। महर्षि विश्वामित्र राजा दशरथ के दरबार में पहुंच राम व लक्ष्मण को जंगल ले जाने के लिए पूछते हुए कहते हैं कि बता जल्दी ए राजा तू राम देगा कि नहीं...।
आयोजन में रामलीला कमेटी के अध्यक्ष राजेंद्र लडवाल, टीका राम सौराड़ी, देवेंद्र मौनी, सुरेश भट्ट, राम सिंह मेहता, चतुर सिंह मेहता पीतांबर गहतोड़ी, तेज सिंह बिष्ट आदि सहयोग कर रहे हैं। उधर चौमेल की रामलीला में धनुष यज्ञ की लीला का मंचन किया गया।
पाटी की रामलीला में दशरथ-विश्वामित्र संवाद का नजारा।
पाटी की रामलीला में दशरथ-विश्वामित्र संवाद का नजारा।- फोटो : CHAMPAWAT
... और पढ़ें

झुंड से बिछुड़े हाथी ने छीनीगोठ में फिर मचाया उत्पात

टनकपुर (चंपावत)। झुंड से बिछुड़े हाथी ने बृहस्पतिवार रात जंगल से लगे छीनीगोठ गांव में फिर उत्पात मचाया है। देर रात आए हाथी ने एक व्यक्ति के शौचालय की छत को क्षतिग्रस्त कर सात बीघा धान की फसल रौंदकर नष्ट कर दी। हाथियों द्वारा अब तक किए नुकसान का मुआवजा नहीं मिलने से इस बार ग्रामीणों ने वन विभाग को सूचना तक नहीं दी है।
बृहस्पतिवार रात एक हाथी झुंड से बिछुड़ कर जंगल से छीनीगोठ गांव में घुस आया। हाथी ने किशन तिवारी के शौचालय की छत को क्षतिग्रस्त करने के साथ ही किशन तिवारी और विकास तिवारी की करीब सात बीघा भूमि में पककर तैयार धान की फसल को रौंदकर नष्ट कर दिया है। समाजसेवी श्याम सिंह बिष्ट ने बताया कि हाथियों द्वारा कई गांव में ग्रामीणों की फसल और संपत्ति को नुकसान पहुंचाया जा चुका है, लेकिन वन विभाग ने न तो सुरक्षात्मक कदम उठाए और न ही प्रभावित ग्रामीणों को मुआवजा दिया है।
इसके चलते इस बार वन विभाग को हाथी के नुकसान करने की सूचना तक नहीं दी गई। इधर हाथियों के उत्पात से प्रभावित ग्रामीण दीपक जुकरिया, लक्ष्मण राम, प्रभा जोशी, प्रकाश जोशी, नवीन चंद्र जोशी, लक्ष्मण सिंह, किशोर सिंह, सुरेश सिंह, कल्याण राम, अनिल कुमार आदि ने वन विभाग और प्रशासन से शीघ्र गांव में हाथियों की दस्तक रोकने को कारगर कदम उठाने की मांग की है।
... और पढ़ें

ीआईसी भिंगराड़ा में 450 मरीजों का स्वास्थ्य परीक्षण किया

मायावती आश्रम के धर्मार्थ अस्पताल की ओर से सोमवार को जीआईसी भिंगराड़ा में स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया गया जिसमें छात्र-छात्राओं सहित 450 मरीजों का स्वास्थ्य परीक्षण कर दवाएं बांटीं गईं।
मायावती धर्मार्थ अस्पताल के प्रबंधक स्वामी एकदेवानंद महाराज के नेतृत्व में पहुंची टीम ने कान, गला, नाक, आंख, दांत के रोगों के विशेषज्ञ, जनरल फिजिशियन तथा मल्टी स्पेशलिस्ट डॉक्टरों ने करीब 450 लोगों की जांचकर परामर्श दिया और दवाएं बांटीं।
डॉ. विश्वनाथ वंधोपाध्याय, डॉ. लोकेश जोशी, डॉ. हरिदास राहा और सहायक के तौर पर देवोश्री मुखर्जी, दिवाकर मुखोपाध्याय, दिलीप चक्रवर्ती ने भिंगराड़ा, गड्यूडा़, गूंठा, अनरकिया, चलथिया, खटोली, पचनई, महर पिनाना, भाट पिनाना,खरही, रत्युड़ा, बैजगांव, नाखुड़ा, इजरतोक, बालातड़ी, चौड़ामेहता, बिरगुल, गोली, कैन्यूड़ा, टांड, मछियाड़ आदि गांवों के लोगों का उपचार किया।
स्वामी जी ने बताया कि 21,22,23 अक्तूूबर को मायावती आश्रम में आंखों का शिविर लगाया जा रहा है जिसमें आंखों का इलाज और ऑपरेशन किए जाएंगे। इसके अलावा 30 अक्तूबर से 5 नवंबर तक निशुल्क बाल रोग, त्वचा रोग, छाती रोग और स्त्री रोग शिविर लगाया जाएगा।
वहां असीम कुमार, पंकज चौड़ाकोटी, सतीश पुनेठा, अनिल पुनेठा, कमल कुल्याल, मनोज पुनेठा, गंगा धामी, चंद्रशेखर तिवारी, दीपक शर्मा, दीपक भट्ट, दिनेश भट्ट, कृष्ण चंद्र भट्ट, उमेश भट्ट, हरीश भट्ट, खिलानंद भट्ट, प्रेमबल्लभ भट्ट, रमेश भट्ट, नंदकिशोर भट्ट, तारादत्त भट्ट, पान सिंह मेहता, विकास सिजवाली, सुरेश राम, बीना भट्ट, त्रिलोचन जोशी, कैलाश जोशी, अनिल बिष्ट, मंजू आर्या, हेमा भट्ट, भोला भट्ट, अमित बोहरा, राकेश शर्मा, गौरव भट्ट, सूरज कुमार, विनोद बोहरा आदि थे।
... और पढ़ें
जीआईसी भिंगराड़ा में चिकित्सा शिविर लगाने पहुंची टीम। जीआईसी भिंगराड़ा में चिकित्सा शिविर लगाने पहुंची टीम।

रोडवेज कार्यालय चंपावत शिफ्ट करने की सुगबुगाहट का विरोध

उत्तराखंड रोडवेज परिवहन निगम लोहाघाट के सहायक मंडलीय प्रबंधक कार्यालय को चंपावत शिफ्ट करने की सुगबुगाहट से व्यापारी और क्षेत्रीय लोग भड़क गए हैं। आक्रोशित लोगों ने रोडवेज स्टेशन में नारेबाजी कर गहरी नाराजगी जताई। चेतावनी दी कि यदि एजीएम कार्यालय को चंपावत शिफ्ट किया गया तो लोग उग्र आंदोलन करेंगे।
सोमवार को एजीएम कार्यालय चंपावत शिफ्ट करने की भनक लगने पर आक्रोशित लोगों ने रोडवेज प्रशासन होश में आओ आदि नारे लगाकर कार्यालय को चंपावत शिफ्ट करने का जोरदार विरोध किया। व्यापारियों ने डिपो के वरिष्ठ स्टेशन प्रभारी के माध्यम से मंडलीय प्रबंधक को ज्ञापन भेजा। लोगों ने कहा कि वर्ष 1982 से लोहाघाट में एजीएम कार्यालय है।
लोहाघाट डिपो बाराकोट, पाटी और लोहाघाट का केंद्र बिंदु है। यहां कार्यालय होने लोगों को काफी सुविधाएं मिलती हैं। उन्होंने चेतावनी दी कि यदि लोहाघाट से एजीएम कार्यालय चंपावत शिफ्ट किया गया तो लोग उग्र आंदोलन शुरू कर देंगे।
वहां व्यापार मंडल कोषाध्यक्ष सतीश मुरारी, जगदीश राय, लक्ष्मण बिष्ट, परमानंद, नवल राय, कैलाश खर्कवाल, हरीश चंद्र, चन्नु खर्कवाल, प्रेम सिंह, महेश जोशी, कृष्ण सिंह चौधरी, संदीप, नाथू राम, पार्वती देवी, बसंती देवी, राजेश्वरी, सीता बिष्ट, महेश राम, हरीश प्रसाद, मनोहर टम्टा आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

निर्विरोध ग्राम प्रधान ने ग्रामीणों पर लगाया उत्पीडन का आरोप

विकासखंड लोहाघाट के कलीगांव की निर्विरोध चुनी गई ग्राम प्रधान ने ग्रामीणों पर मानसिक उत्पीड़न का आरोप लगाया है। उन्होंने गांव के कुछ लोगों से जान माल का खतरा बताते हुए जिलाधिकारी को संबोधित ज्ञापन एसडीएम को सौंपा। उन्होंने 11 लोगों के खिलाफ लोहाघाट थाने में तहरीर दी है।
निर्विरोध चुनी गई ग्राम प्रधान रेखा पुजारी ने जिलाधिकारी को भेजे ज्ञापन में मानसिक उत्पीड़न करने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने के और उन्हें व उनके परिवार को सुरक्षा देने की गुहार लगाई है। ज्ञापन में कहा है कि कलीगांव के लोगों की ओर से चुनाव बहिष्कार की घोषणा की गई थी लेकिन मुझे विश्वास में नहीं लिया गया था।
चुनाव में भागीदारी करना सबका लोकतांत्रिक अधिकार है। मैंने ग्राम प्रधान पद पर टिकट लिया। एकमात्र नामांकन होने के कारण मैं निर्विरोध प्रधान चुनी गई हूं। इसके बाद से गांव के कुछ अराजक तत्वों की ओर से मानसिक उत्पीड़न किया जा रहा है। रेखा का कहना है कि जिन मतदाताओं ने 11 अक्तूबर को हुए मतदान में भागीदारी की थी, उनका सामाजिक बहिष्कार करने के साथ उन्हें धमकाया जा रहा है।
जो लोग वार्ड सदस्य का टिकट लेंगे उनका सामाजिक बहिष्कार करने की बात कहकर उन्हें भी धमकाया जा रहा है। रेखा का कहना है कि कुछ लोगों से उन्हें व उनके परिवार को जानमाल का खतरा पैदा हो गया है। इधर थानाध्यक्ष मनीष खत्री का कहना है कि ग्राम प्रधान रेखा पुजारी की तहरीर के आधार पर मामले की जांच की जा रही है।
क्या है मामला
कलीगांव के ग्रामीणों ने फर्नहिल में बनाए जा रहे ट्रंचिंग ग्राउंड का विरोध कर उसे वहां से हटाने की मांग को लेकर आंदोलन किया था। चेतावनी दी थी कि ट्रंचिंग ग्राउंड न हटाए जाने पर सभी ग्रामीण त्रिस्तरीय पंचायती चुनाव का बहिष्कार करेंगे। ट्रंचिंग ग्राउंड हटाने की मांग को लेकर ग्रामीणों ने लगातार आठ दिन तक क्रमिक अनशन करने के साथ लोहाघाट नगर का कूड़ा ट्रंचिंग ग्राउंड में नहीं डालने दिया।
इसी दौरान ग्राम प्रधान पद के लिए रेखा पुजारी ने एकमात्र नामांकन कर दिया जिससे भड़के ग्रामीणों ने अनशन समाप्त कर दिया। अधिकतर ग्रामीणों ने पंचायती चुनाव का बहिष्कार कर दिया। 11 अक्तूबर को हुए मतदान में कलीगांव में 869 मतदाताओं में से मात्र नौ मतदाताओं ने ही चुनाव में मतदान किया। बाद में ग्रामीणों ने बैठक कर निर्विरोध चुनी गई ग्राम प्रधान, वोट डालने वाले लोगों और वार्ड सदस्य का टिकट लाने वाले लोगों का सामाजिक बहिष्कार करने का निर्णय लिया।
... और पढ़ें

एनएच पर यात्री विश्राम शेड में मृत अवस्था में मिला एक अधेड़

यात्री विश्राम शेड में मृत मिला पूर्व सैनिक
नेपाल से पेंशन लेने के लिए आए थे बनबसा
बीमारी से मौत होने की आशंका, जांच शुरू
अमर उजाला ब्यूरो
बनबसा (चंपावत)। पाटनी तिराहे स्थित यात्री विश्राम शेड में सोमवार सुबह पूर्व सैनिक का शव मिलने से हड़कंप मच गया है। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव नेपाल निवासी परिजनों को सौंप दिया। पुलिस बीमारी से मौत की आशंका जता रही है। पूर्व सैनिक पेंशन लेने के लिए बनबसा आए थे।
थानाध्यक्ष जसवीर सिंह चौहान ने बताया कि पाटनी तिराहे स्थित एनएच पर बने यात्री विश्राम शेड की बेंच में सोमवार सुबह एक अधेड़ का शव पड़ा होने की सूचना मिली। मृतक के पास मिली पासबुक से उसकी पहचान गगन सिंह (65) पुत्र जोगा सिंह निवासी ग्राम दारी, पुलहिंडोला चंपावत के रूप में हुई। बताया कि पूर्व सैनिक गगन सिंह नेपाल से बनबसा स्थित एसबीआई की शाखा में सोमवार सुबह पेंशन लेने आए थे। प्रथमदृष्टया उनकी मौत का कारण बीमारी लग रहा है। बताया कि वर्तमान में गगन सिंह का परिवार कंचनपुर महेंद्रनगर के सूड़ा गांव में रह रहा है। सूचना पर पहुंचे दामाद को पोस्टमार्टम के बाद गगन सिंह की पार्थिव देह सौंप दी गई। मामले की जांच वरिष्ठ एसआई देवेंद्र सिंह मनराल को सौंपी गई है। इधर, प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक पूर्व सैनिक नेपाल की ओर से यात्री विश्राम शेड की ओर गए, जहां वह बेंच पर बैठे और उनकी मौत हो गई।
... और पढ़ें

हे पिता जी तुम्हारी दुलारी सीया आज रो रो के तुमसे जुदा हो रही

police
जिले के विभिन्न स्थानों में रामलीलाओं का मंचन जारी है। मुख्यालय में चल रही रामलीला में लंका दहन का मंचन किया गया। सैंदर्का में लक्ष्मण ने सूपर्णखा की नाक काटी, भिंगराड़ा में अंगद-रावण संवाद और पाटी में सीता विवाह की लीला का मंचन किया गया।
कोट अमोड़ी की रामलीला में चौथे दिन सीता विवाह से लेकर कैकई कोप भवन तक की लीला का मंचन किया गया। इस दौरान सीता कहती हैं हे पिता जी तुम्हारी दुलारी सीया आज रो रो के तुमसे जुदा हो रही। कैकई के पात्र की भूमिका उमेश भट्ट व दशरथ के पात्र की भूमिका हेतराम भट्ट ने निभाई। कैकई द्वारा पूर्व में राजा से दो वर मांगने का वरदान प्राप्त था।
कैकई ने प्रथम वर में राम को चौदह वर्ष का वनवास और दूसरे वर में भरत को राजतिलक मांगा। रामलीला कमेटी अध्यक्ष ललित मोहन भट्ट व व्यवस्थापक खीमानंद, संचालक सुरेश भट्ट, दिनेश भट्ट, मनोहर भट्ट आदि सहयोग कर रहे हैं। वहीं बेलखेत में पांचवें दिन की रामलीला में सीता हरण की लीला का मंचन किया गया।
भिंगराड़ा की रामलीला में अंगद-रावण संवाद देखने को भीड़ उमड़ पड़ी। ठंड के बावजूद दर्शक देर रात तक पंडाल में जमे रहे। गिरीश चंद्र भट्ट की अध्यक्षता और कृष्ण चंद्र भट्ट के निर्देशन में भिंगराड़ा की रामलीला में मंदोदरी-रावण संवाद के बाद अंगद के पात्र प्रकाश चंद्र भट्ट और रावण के पात्र नित्यानंद भट्ट ने शानदार प्रस्तुति देकर खूब वाहवाही लूटी।
मेघनाद-लक्ष्मण संवाद, लक्ष्मण शक्ति, राम का विलाप, हनुमान के संजीवनी बूटी लाने तक की लीला का मंचन किया गया। इस मौके पर देवीधुरा से आए अमित लमगड़िया, राकेश लमगड़िया, लोचन चम्याल, सुदीप चम्याल, अजय सिंह दानू, विक्रम सिंगवाल के अलावा जीवन गहतोड़ी, हरीश सकलानी, प्रेमबल्लभ भट्ट, पान सिंह मेहता, धर्म सिंह रावत, शिव दत्त भट्ट, कृष्णानंद भट्ट आदि मौजूद रहे।
चंपावत के पाटी रामलीला में सीता विवाह को लेकर हुआ स्वयंवर।
चंपावत के पाटी रामलीला में सीता विवाह को लेकर हुआ स्वयंवर।- फोटो : CHAMPAWAT
... और पढ़ें

शरद पूर्णिमा पर श्रद्घालुओं ने लगाई शारदा में आस्था की डूबकी

शरद पूर्णिमा पर बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने मां पूर्णागिरि धाम के दर्शन किए। दूर-दराज से आए श्रद्धालुओं ने टनकपुर के शारदा और बूम घाट में आस्था की डुबकी लगाई।
शरद पूर्णिमा पर शारदा में स्नान और मां पूर्णागिरि धाम के दर्शन के लिए शनिवार शाम से ही श्रद्धालुओं की आवाजाही का सिलसिला शुरू हो गया था। रविवार को ब्रह्ममुहूर्त से ही शारदा स्नानघाट में डुबकी लगाने को श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा।
श्रद्धालुओं की आवाजाही से स्नानघाट पर खासी चहल-पहल बनी रही। स्नान के बाद श्रद्धालुओं की टोलियां मां पूर्णागिरि धाम को रवाना हुईं। मंदिर समिति अध्यक्ष पं. भुवन चंद्र पांडेय के मुताबिक करीब पांच हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने देवी मां के दर्शन कर मत्था टेका। पूर्णागिरि धाम के साथ ही नेपाल स्थित बाबा सिद्धनाथ के दर्शन को श्रद्धालु नेपाल को रवाना हुए जिससे सीमा पर भी खासी रौनक रही।
सीताराम मंदिर में हुए भजन-कीर्तन
टनकपुर। शहर के सीताराम मंदिर में भी शरद पूर्णिमा का पर्व धूमधाम से मनाया गया। भक्तों ने भजन-कीर्तन कर रात 12 बजे अमृत प्रसाद बांटा। इस मौके पर कमेटी अध्यक्ष रोहताश अग्रवाल, उपाध्यक्ष सुरेश चंद्र अग्रवाल, धर्मानंद पांडेय, महामंत्री नरेश अग्रवाल, कोषाध्यक्ष अजय अग्रवाल, सह मंत्री दिनेश चंद्र भट्ट के अलावा संजय गर्ग, वैभव अग्रवाल, अभिषेक गर्ग, गिरिजा सुमन गुप्ता, ईश्वर चंद बंसल, दीपक बत्रा समेत काफी संख्या में देवी भक्त शामिल थे।
... और पढ़ें

चंपावत में निकली भगवान वाल्मीकि की शोभा यात्रा

चंपावत में निकली भगवान वाल्मीकि की शोभा यात्रा
राधा कृष्ण की झांकी में रासलीला रही आकर्षण का केंद्र
अमर उजाला ब्यूरो
चंपावत। वाल्मीकि जयंती पर वाल्मीकि धर्म समाज की ओर से नगर में भगवान वाल्मीकि की भव्य शोभा यात्रा निकाली गई।
रविवार को तहसील प्रांगण में हवन-यज्ञ कर भगवान वाल्मीकि की पूजा अर्चना की गई। शोभा यात्रा मल्ली हाट, तल्ली हाट, भैरवां चौराहा, पोस्ट ऑफिस रोड सहित नगर के सभी मुख्य मार्गों होते हुए वापस तहसील पहुंची। रथ में भगवान वाल्मीकि का चित्र और वाल्मीकि के वेश में सजे बच्चे आकर्षण का केंद्र रहे। इस दौरान राधा और कृष्ण की झांकी में रास लीला पर आधारित गीत और नृत्य प्रस्तुत कर रहे बच्चों ने भी शोभा यात्रा में चार चांद लगा दिए।
गाजे बाजे के साथ निकली शोभा यात्रा में वाल्मीकि समाज के लोगों के साथ बड़ी संख्या में स्थानीय नागरिक भी शामिल हुए। पालिकाध्यक्ष विजय वर्मा समेत कई गणमान्य लोग भी झांकी में शामिल रहे। रघुवीर पंवार, विपिन, मोहित, राजू, अर्जुन, नितिन, मनीष, सचिन, दीपू, मोनू भारती, नरेंद्र, महादेव, रवि, राजेश, देवेंद्र, बालकिशन आदि ने कार्यक्रम के संचालन में सहयोग किया। वाल्मीकि धर्म समाज के अध्यक्ष सतीश पंवार ने सहयोगियों का आभार जताया। इससे पूर्व तहसील परिसर में यज्ञ होम के साथ विशाल भंडारे का आयोजन किया गया जिसमें सैकड़ों लोगों ने प्रसाद ग्रहण किया।
फोटो 13 सीपीटी 09 पी, 10 पी।
धूमधाम से मनाई महर्षि वाल्मीकि जयंती
लोहाघाट (चंपावत)। महर्षि वाल्मीकि समाज सुधार समिति की ओर से महर्षि वाल्मीकि जयंती धूमधाम से मनाई गई। समिति के अध्यक्ष हरचरन सिंह के दिशा निर्देशन में रोडवेज स्टेशन के समीप बने मंदिर में विशेष पूजा-अर्चना कर आशीर्वाद लिया गया। इस मौके पर महिलाओं ने भजन कीर्तन आयोजित किए। आयोजन में कोषाध्यक्ष सतीश कुमार, उपाध्यक्ष विलियम सिंह, कार्यकर्ता मनीष कुमार, संजय कुमार, राजेंद्र कुमार, देव, दीपक, लकी, अंकित, विजय, सुनील, अजय, गुंजा, दिनेश, सुरेश संतोष देवी, ममता, बाला, अजय शिवा आदि मौजूद रहे।
ऐपण में गीता, रंगोली में सौम्या और निशा ने मारी बाजी
वाल्मीकि जयंती पर हरेला क्लब ने आयोजित की प्रतियोगिता
टनकपुर (चंपावत)। वाल्मीकि जयंती के अवसर पर हरेला क्लब की महिला इकाई की रंगोली और ऐपण प्रतियोगिता में महिलाओं और युवतियों ने अपनी प्रतिभा का शानदार प्रदर्शन किया।
ओपन महिला वर्ग की ऐपण में गीता पंत ने और जूनियर वर्ग की रंगोली में सौम्या व सीनियर वर्ग की रंगोली में निशा राज ने पहला पुरस्कार जीता। मुख्य अतिथि क्षेत्रीय विधायक कैलाश गहतोड़ी ने विजेता प्रतिभागियों को पुरस्कार बांटे।
होटल मंगलदीप में आयोजित प्रतियोगिता में ओपन महिला वर्ग की धर्मल चौकी, लक्ष्मी पीठ एवं पूजा चौकी में गीता पंत ने प्रथम पुरस्कार जीता। अनुपमा ने द्वितीय और नेहा ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। जूनियर वर्ग की रंगोली में सौम्या ने प्रथम, सब्या ने द्वितीय और स्नेहा ने तृतीय पुरस्कार जीता। सीनियर वर्ग की रंगोली में निशाराज प्रथम और खुशी द्वितीय स्थान पर रहीं। निर्णायक मंडल में शिक्षिका शीला जोहार और मंजू थापा शामिल थे। क्लब की अध्यक्ष रेखा पांडेय ने सफल आयोजन के लिए सहयोगियों को आभार जताया। इस मौके पर हरीश हैसियत, क्लब के पूर्व अध्यक्ष धर्मेंद्र चंद के अलावा क्लब की महिला इकाई उपाध्यक्ष सुनीता गहतोड़ी, सचिव शांति भट्ट, संरक्षक विद्या जुकरिया, दीपा नरियाल, ऋचा सुतेड़ी, हेमा वर्मा, सुमन वर्मा, गीता तिवारी, शिक्षिका कल्पना धामी आदि मौजूद थे।
फोटो 13 टीएनपी 03 व 04 पी।
सेना छावनी में धूमधाम से मनाई वाल्मीकि जयंती
बनबसा (चंपावत)। आंबेडकर ग्राम फागपुर में वाल्मीकि जयंती धूमधाम से मनाई गई। सेना छावनी स्थित वाल्मीकि मंदिर परिसर में बीते दिवस शनिवार को रात्रि जागरण का आयोजन किया गया। सेना छावनी के अलावा फागपुरवासियों ने रात्रि जागरण में शिरकत की। रविवार को मंदिर परिसर में भंडारा आयोजित हुआ। वाल्मीकि समाज परिषद के अध्यक्ष नरेश पाल के अलावा वाल्मीकि जयंती कार्यक्रम के संचालक रितेश कुमार के नेतृत्व में कमेटी सदस्यों ने सहयोग दिया। भंडारे में सेना छावनी के अलावा दूर-दराज से बड़ी संख्या में आए लोगों ने प्रसाद ग्रहण किया।
शोक में वाल्मीकि समाज ने नहीं मनाई वाल्मीकि जयंती
टनकपुर। वाल्मीकि समाज के युवा नेता और विधायक प्रतिनिधि सुनील वाल्मीकि के मां के निधन के शोक में इस बार वाल्मीकि समाज के लोगों ने वाल्मीकि जयंती नहीं मनाई। बता दें कि वाल्मीकि समाज के लोग हर साल वाल्मीकि की जयंती धूमधाम से मनाते हैं। इस मौके पर महर्षि वाल्मीकि और लव-कुश की सुंदर झांकी निकाली जाती है।
... और पढ़ें

लड़ीधुरा महोत्सव: हजारों लोग बने रथ यात्राओं के साक्षी

बाराकोट के पांच दिनी लड़ीधूरा महोत्सव का देवी रथों के मंदिर परिक्रमा के बाद समापन हो गया है। हजारों लोग देवी रथ यात्राओं के साक्षी बने जिन्होंने मां का आशीर्वाद प्राप्त किया। सुहावने मौसम के बीच सुबह से ही श्रद्धालुओं का लड़ीधूरा मंदिर की आने का क्रम शुरू हो गया था। शनिवार रात को काकड़ और बाराकोट गांवों में देवी जागरण हुआ। इस दौरान लगी देव गद्दी में लोक देवताओं ने अवतरित होकर पीड़ित लोगों के कष्टों का निवारण कर उन्हें आशीर्वाद दिया।
रविवार दोपहर बाद काकड़ और बाराकोट से देवी रथों ने लड़ीधुरा मंदिर की ओर प्रस्थान किया। दुर्गम खड़ी चढ़ाई पार करते हुए काकड़ गांव से पहला देवी रथ दोपहर 2:35 बजे लड़ीधूरा मंदिर पहुंचा। देवी रथ में मां भगवती के रूप में कल्याण सिंह अधिकारी सवार होकर श्रद्धालुओं को अपना आशीर्वाद दे रहे थे।
तीन बजे बाराकोट से दूसरा देवी रथ लंबी कठिन दूरी पार कर लड़ीधुरा मंदिर पहुंचा जिसमें मां भगवती के रूप में गुड्डी देवी, 52 वीर के रूप में रंजीत सिंह अधिकारी, कैलपाल के रूप में नवीन सिंह अधिकारी सवार थे। दोनों ही रथों के पीछे महिलाएं मां के जयकारे लगाते हुए चल रही थीं। देवी रथों द्वारा मंदिर की परिक्रमा करने के बाद लड़ीधुरा महोत्सव का समापन किया गया।
मेले के चलते विभिन्न स्थानों से बढ़ी संख्या में व्यापारी पहुंचे हुए थे। पुलिस अधीक्षक धीरेंद्र गुंज्याल के नेतृत्व में पुलिस कर्मी शांति-सुरक्षा व्यवस्था में जुटे रहे। महोत्सव समिति के अध्यक्ष नगेंद्र कुमार जोशी, जगदीश अधिकारी, राजू अधिकारी, विनोद सिंह, ऋतेश वर्मा, प्रकाश अधिकारी, रमेश जोशी, नकुल जोशी, रजनीश जोशी, रजत वर्मा, नीरज वर्मा, देवेश जोशी, मनोज वर्मा, नवीन चंद्र जोशी, दुर्गेश जोशी, कौस्तुब अधिकारी, शुभम नाथ, संजय सिंह, जगदीश जोशी आदि ने आयोजन समिति की ओर से सभी का स्वागत किया।
... और पढ़ें

पूर्णागिरि महोत्सव में निकली मां पूर्णागिरि की डोला रथ यात्रा

खूना बोरा गांव में चल रहे श्री मां पूर्णागिरि महोत्सव के अंतिम दिन मां पूर्णागिरि की भव्य डोला रथ यात्रा निकली। डोला रथ यात्राओं के मंदिर की परिक्रमा करने के साथ ही महोत्सव का समापन हो गया। इस मौके पर बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने मां का आशीर्वाद प्राप्त किया।
शनिवार रात को गांव में देवी जागरण हुआ। इस दौरान देव डंगरियों ने अवतरित होकर पीड़ितों के कष्टों का निवारण किया। रविवार दोपहर बाद दुर्गम रास्तों को पार करते हुए खूना बोरा गांव से मां पूर्णागिरि की रथ यात्रा मंदिर की ओर निकली। रथ में सवार पूर्णागिरि के रूप में पार्वती देवी और महाकाली के रूप में हयात सिंह बोहरा श्रद्धालुओं को आशीर्वाद देते हुए चल रहे थे।
देवी रथ के पीछे महिलाएं मां का गुणगान करते हुए चल रही थीं। रथ यात्रा के मंदिर की परिक्रमा कराने के बाद महोत्सव का समापन किया गया। इस अवसर पर बलांई, मझेड़ा, नई बलांई, चौड़ाराजपुरा, खेतीगाड़, कफलेख, लोहाघाट, चंपावत आदि स्थानों से बड़ी संख्या में लोग पहुंचे हुए थे। आयोजन समिति के सचिव जीवन राम, उपाध्यक्ष कैलाश बोहरा, मुख्य संरक्षक नवीन बोहरा, रेखा बोहरा ने सहयोग के लिए सभी का आभार जताया।
... और पढ़ें

ज्ञानखेड़ा की रामलीला ने कैकई ने राम को वनवास और भरत के लिए मांगी राजगद्दी

ज्ञानखेड़ा की कुमाऊंनी रामलीला में मंथरा-कैकई और राजा दशरथ-कैकई संवाद की लीला का कलाकारों ने सुंदर मंचन किया। सीओ विपिन चंद्र पंत ने देर तक रामलीला मंचन का आनंद उठाया। पंचायत घर परिसर स्थित मंच में हो रही रामलीला के पांचवें दिन दासी मंथरा के उकसाने पर कैकई कोप भवन में जाकर राजा दशरथ से प्रभु राम के लिए चौदह साल का वनवास और पुत्र भरत के लिए राजगद्दी का वर मांगती है।
मंथरा का अभिनय रजत पाटनी, कैकई का हिमांशु पाटनी और राजा दशरथ का अभिनय दिनेश चंद्र भट्ट, राम का अभिनय गौरव सिंगवाल, लक्ष्मण का तरुण उप्रेती, सीता का अभिनय शुभम जोशी ने किया। कमेटी अध्यक्ष अंबा दत्त पंत, सचिव तपन गड़कोटी, उप सचिव मुकेश जोशी, मीडिया प्रभारी हरिओम सेठी, कोषाध्यक्ष कै. चंद्रशेखर गहतोड़ी, भुवन गहतोड़ी आदि व्यवस्था बनाने में जुटे हैं।
टनकपुर में ज्ञानखेड़ा की रामलीला में कोप भवन में राजा दशरथ से राम वनवास और भरत को राजगद्दी का वरद?
टनकपुर में ज्ञानखेड़ा की रामलीला में कोप भवन में राजा दशरथ से राम वनवास और भरत को राजगद्दी का वरद?- फोटो : TANAKPUR
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree