बेरोजगारों के लिए मजाक बना बेरोजगारी भत्ता

Champawat Updated Tue, 04 Dec 2012 05:30 AM IST
लोहाघाट। शिक्षित बेरोजगारों को दिया जा रहा बेरोजगारी भत्ता चंपावत जिले के बेरोजगारों के लिए उपहास का कारण बना हुआ है। राज्य स्थापना दिवस के मौके पर मात्र 10 बेरोजगारों को बेरोजगारी भत्ते के चेक दिए गए। उसके बाद इस कार्य में कोई प्रगति नहीं हो रही है। शासन द्वारा इस सुविधा को पाने के लिए निर्धारित की गई जटिल प्रक्रिया के चलते बेरोजगार इसका लाभ नहीं उठा पा रहे हैं। राज्य स्थापना दिवस के बाद 33 युवक एवं युवतियाें ने आवेदन पत्र जिला सेवायोजन कार्यालय से लिए थे। जिसमें से मात्र पांच लोगों ने ही उन्हें भरकर जमा किया है। जिला सेवायोजन अधिकारी वाईएस रावत के अनुसार जिले में विगत 31 अक्तूबर तक 5833 बालिकाओं समेत 18526 युवकों ने पंजीकरण कराया है।
रावत का कहना है कि शासन की ओर से बेरोजगारी भत्ता देने की घोषणा के बाद विभागीय स्तर पर जिले में प्रथम दृष्टया युवक एवं युवतियों की आयु तथा चार वर्ष पूर्व सेवायोजन कार्यालय में किए गए पंजीकरण को देखते हुए लगभग 22 सौ युवक पात्रता की श्रेणी में पाए गए हैं। लेकिन इस सुविधा का लाभ उठाने युवाओं में बहुत कम उत्साह देखा जा रहा है। इस सुविधा को वही युवक प्राप्त कर सकते हैं, जिनकी समस्त स्रोताें से वार्षिक आय डेढ़ लाख रुपये होेने तथा वह किसी विद्यालय या संस्थान में अध्ययनरत या स्वरोजगार से जुडा नहीं होना चाहिए। परिवार के वरिष्ठ सदस्य को ही यह सुविधा देय है। उधर बेरोजगार संगठन के नवल जोशी ने सरकार की इस योजना को महज युवाओं को भ्रमित करने का एक माध्यम बताया है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO : गैस सिलेंडर में आग लगने पर न घबराएं, अपनाएं ये उपाय

उत्तराखंड के लोहाघाट में फायर ब्रिगेड कर्मियों ने अग्नि सुरक्षा जागरूकता अभियान चलाया। इस अभियान का शुभारंभ लोहाघाट के भीड़ वाले स्टेशन बाजार से किया गया।

9 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls