स्थापना दिवस पर उपवास रखेंगे राज्य आंदोलनकारी

Champawat Updated Wed, 07 Nov 2012 12:00 PM IST
लोहाघाट। सर्वदलीय उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारी परिषद ने 9 नवंबर को राज्य स्थापना दिवस पर आंदोलनकारियों के चिह्नीकरण का कार्य पूरा न किए जाने के विरोध में प्रदेश के सभी तहसीलों में उपवास रखने का निर्णय लिया गया। यह जानकारी परिषद के प्रदेश मंत्री भवान सिंह परवाल ने यहां राज्य आंदोलनकारियाें की एक बैठक में दी। उनका कहना था कि राज्य स्थापना के 12 वर्ष बाद राज्य आंदोलनकारियों का चिह्नीकरण न किया जाना इस बात का स्पष्ट संकेत है कि सरकार उनका मजाक कर रही है। बैठक में गैरसैंण में विधान भवन बनाने के मुख्यमंत्री की पहल का स्वागत करते हुए कहा गया कि अब वहां स्थायी राजधानी का निर्माण कर राज्य आंदोलन में शहीद लोगों की भावनाओं का सम्मान किया जाना चाहिए। आंदोलनकारियों ने केंद्रीय मंत्रिमंडल में हरीश रावत को कबिना मंत्री का दर्जा दिए जाने पर खुशी व्यक्त की। इस अवसर पर केबी जोशी, संजय शर्मा, विरेंद्र बजेठा, नीमा भट्ट, सरदार स्वर्ण सिंह, मोहन सिंह रावत, सुरेंद्र माजिला, नित्यानंद पांडेय, गिरीश उप्रेती, गोपाल राणा, थान सिंह नगरकोटी, खीमानंद जेाशी आदि आंदोलनकारियों ने भी विचार रखे।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO : गैस सिलेंडर में आग लगने पर न घबराएं, अपनाएं ये उपाय

उत्तराखंड के लोहाघाट में फायर ब्रिगेड कर्मियों ने अग्नि सुरक्षा जागरूकता अभियान चलाया। इस अभियान का शुभारंभ लोहाघाट के भीड़ वाले स्टेशन बाजार से किया गया।

9 जनवरी 2018