विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019
Astrology Services

ढाई साल बाद शनि बदलेंगे अपनी राशि , कुदृष्टि से बचने के लिए शनि शिंगणापुर मंदिर में कराएं तेल अभिषेक : 14-दिसंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

उत्तराखंड: भारी बर्फबारी से औली मार्ग बंद, देहरादून समेत छह जिलों में स्कूल रहेंगे बंद

गुरुवार को तड़के देहरादून सहित अधिकतर जिलों में बादलों का पहरा रहा। वहीं पहाड़ी इलाकों पर बर्फबारी का दौर शुरू हो गया।

12 दिसंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

चमोली

गुरूवार, 12 दिसंबर 2019

श्राइन बोर्ड के विरोध में डिमरी पुजारियों का प्रदर्शन

सोमवार को बदरीनाथ डिमरी धार्मिक केंद्रीय एवं डिम्मर उमट्टा पंचायत के सदस्यों ने श्राइन बोर्ड के गठन का विरोध कर अपर बाजार से तहसील परिसर तक जुलूस निकालकर सरकार के विरोध में प्रदर्शन किया। नाराज लोगों ने कहा कि आदि गुरु शंकराचार्य द्वारा स्थापित परंपराओं के साथ अगर छेड़छाड़ की गई, तो सरकार को इसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे।
श्राइन बोर्ड के विरोध में नारेबाजी करते हुए गुस्साये लोगों ने तहसील परिसर में धरना दिया। धरने पर बैठे डिमरी पुजारियों ने कहा कि सरकार ने चारधाम के पुजारियों, हक हकूकधारियों व तीर्थ पुरोहितों से राय मशविरा एवं सुझाव लिए बिना ही अनादिकाल से चली आ रही परंपराओं को तोड़कर श्राइन बोर्ड का गठन कर रही है, जो गलत है। जब तक श्राइन बोर्ड खत्म नहीं किया जाएगा, उनका आंदोलन जारी रहेगा। उन्होंने चारधाम के पुजारियों, हक हकूकधारियों व तीर्थ पुरोहितों के हितों को ध्यान में रखते हुए चारधाम श्राइन बोर्ड के गठन का प्रस्ताव वापस लेकर चारधाम की व्यवस्थाओं का प्रबंधन व संचालन पूर्व की भांति रखने की मांग की।
प्रदर्शनकारियों में राजेंद्र डिमरी, अनुज डिमरी, मुकेश डिमरी, गोपी डिमरी, विमल डिमरी, प्रकाश डिमरी, तारेंद्र डिमरी, संदीप डिमरी, अशोक डिमरी, जगदंबा डिमरी, संतोष डिमरी, मनोज डिमरी, संदीप डिमरी, समीर मिश्रा, गिरीश नौटियाल, रमेश सती, संजय डिमरी, बद्री डिमरी, अरविंद डिमरी आदि शामिल थे।
... और पढ़ें

संदीप बने विश्वस्तरीय एथलेटिक्स कोच

इंटरनेशनल एसोसिएशन ऑफ एथलेटिक्स फेडरेशन की पहल पर 30 नवंबर से 7 दिसंबर तक राष्ट्रीय खेल संस्थान पटियाला में आयोजित लेवल दो के कोच कोर्स (विश्व स्तरीय एथलेटिक्स कोच) में चमोली के संदीप मोहन चौधरी ने सफलता अर्जित कर उत्तराखंड राज्य का नाम रोशन किया है। भारत में पहली बार आयोजित कोर्स में देशभर के 16 प्रतिभागियों ने प्रतिभाग किया था, जिसमें उत्तराखंड से एकमात्र संदीप मोहन चौधरी ने आवेदन किया था। कोर्स के प्रवक्ता जर्मनी के बोलकर हरनम, गुंटेर लेंज, संदीप गड़नायक और पदमश्री बहादुर सिंह ने संदीप मोहन को विश्वस्तरीय एथलेटिक्स कोच का प्रमाणपत्र सौंपा। संदीप मोहन जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम नई दिल्ली में प्रोजेक्ट ऑफिसर (एथलेटिक्स) के पद पर कार्यरत हैं। संदीप मोहन मूल रूप से रुद्रप्रयाग जिले के कोट बिचला निवासी हैं। उनके पिता बीएस चौधरी जिला खेल विभाग चमोली में मुख्य प्रशासनिक अधिकारी के पद पर कार्यरत हैं। ... और पढ़ें

कोटेश्वर गांव में माता अनसूया का हुआ फूल-मालाओं से स्वागत

संतानदायिनी माता अनसूया की दिवारा यात्रा सोमवार को मंडल घाटी के कोटेश्वर गांव पहुंची। माता की डोली का ग्रामीणों ने स्वागत किया। 11 दिसंबर को माता की डोली अपने मंदिर में निसंतान दंपतियों को दर्शन देगी। सोमवार को मंडल गांव में भ्रमण के दौरान माता की डोली ने अप्रैल में होने वाले महायज्ञ के लिए स्थान का चयन किया। वहीं, मंडल घाटी में 11 व 12 दिसंबर को होने वाले अनसूया मेले को लेकर उत्साह बना हुआ है। मंगलवार को भी अनसूया माता की डोली कोटेश्वर और मंडल गांव में भ्रमण कर भक्तों को दर्शन देगी। इस मौके पर यात्रा के महाप्रबंधक भगत सिंह बिष्ट, कुंवर सिंह, धीरेंद्र सिंह, महावीर राणा, विक्रम सिंह, शिवम बिष्ट, तीर्थ पुरोहित बलराम तिवारी, पुजारी प्रवीण सेमवाल, रविंद्र बर्त्वाल, महेंद्र सिंह, विकास, कुंवर सिंह, शिशुपाल सिंह, नीरज, विजय सती, अनुज, मुकेश, प्रभात, विनोद, सुनील, दर्शन, पंकज, अंकुश, विक्की, आशीष, अजय, विजय, ताजवर आदि मौजूद थे। ... और पढ़ें

सूनी गोद भरने को मां अनसूया के दर पहुंचे दंपति, भरी ठंड में जमीन पर बैठकर रातभर किया जप, तस्वीरें...

आस्ट्रेलियन पत्नी के साथ कुटिया में आए बाबा बर्फानीदास, धारी देवी मंदिर में की दोनों ने शादी

श्रीनगर गढ़वाल स्थित सिद्धपीठ धारी देवी मंदिर में मंगलवार को आस्ट्रेलियन महिला के साथ शादी रचाने वाले बाबा सिद्धनाथ महाराज बर्फानीदास अब घिंघराण स्थित कुटिया में लौट आए हैं। उनकी आस्ट्रेलियन पत्नी जूलिया बून (अब माता रिषवन) भी उनके साथ कुटिया में रह रही हैं।

स्थानीय लोगों ने बताया कि बाबा ने घिंघराण स्थित टैक्सी स्टैंड के पास काफी लंबे समय से कुटिया बना रखी है। कुछ समय से उनकी कुटिया में एक आस्ट्रेलियन महिला रह रही थी। मंगलवार को बाबा ने श्रीनगर में धारी देवी मंदिर में उसके साथ शादी कर ली।

हिंदू रीति रिवाज से आस्ट्रेलियन महिला से शादी करने वाले बाबा के बारे में स्थानीय लोग बताते हैं कि बाबा काफी समय तक माणा गांव के पास भीम पुल के पास एक गुफा में रहते थे। वर्तमान में वह घिंघराण में ही कुटिया बनाकर रह रहे हैं। आस्ट्रेलियन महिला तलाकशुदा है और उसका छह साल का बेटा भी है जो उसी के साथ रहता है। ब्यूरो
... और पढ़ें

जनगीत से दिया प्राकृतिक जलस्रोतों को बचाने का संदेश

वार मेमोरियल राइंका कर्णप्रयाग में लोक जागृति विकास संस्था की ओर से जल साथी पहल कार्यक्रम के अंतर्गत प्राकृतिक जल स्रोतों के संरक्षण विषय पर गोष्ठी आयोजित की गई। इस दौरान छात्र-छात्राओं को पानी की उपयोगिता व जल संकट के बारे में जानकारी दी गई।
कार्यक्रम के शुभारंभ पर लोक जागृति विकास संस्था के सचिव जितेंद्र कुमार ने गों का पंधेरा सूखण लग्यां च यों तें बचावा... जनगीत के माध्यम से लोगों को पानी की महत्ता बताई। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में प्राकृतिक जलस्रोत लोगों की जीवनधारा है, लेकिन वर्तमान में धरती के बढ़ते तापमान व प्राकृतिक हलचल के कारण हमारे पुुरातन पेयजल स्रोतों पर बुरा असर पड़ रहा है और वे धीरे-धीरे सूख रहे हैं। उन्होंने छात्रों से पेड़-पौधे लगाने और जलस्रोतों के रखरखाव की अपील की। प्रधानाचार्य बीरपाल रावत ने कहा कि गांवों से लेकर शहरों तक लोगों को प्राकृतिक जलस्रोतों की उपयोगिता के बारे में जानकारी देने के लिए विशेष अभियान चलाने की जरूरत है। इस मौके पर आरएल आर्य, अशोक कोठियाल, आर चंद्र, भरत रावत, प्रकाश चौहान, आनंद कुंवर, अनीता डिमरी, किरन कैलखुरा, प्रेरणा रतूड़ी और शिशुपाल डिडोयाल आदि मौजूद रहे।
... और पढ़ें

संतान कामना लेकर 350 बरोही पहुंचे अनसूया माता मंदिर

संतानदायिनी शक्ति शिरोमणि माता अनसूया का दो दिवसीय मेला बुधवार से शुरू हुआ। अनसूया गेट पर जिला पंचायत अध्यक्ष रजनी भंडारी ने मेले का शुभारंभ किया। इस दौरान अनसूया गेट पर गांव-गांव से पहुंचीं ध्याणियों ने मांगल गीतों से माता अनसूया का स्वागत किया। संतान कामना लेकर 350 बरोही (निसंतान दंपति) अनसूया माता मंदिर पहुंचे। अलग-अलग गांवों से अनसूया गेट पर पहुंचीं देव डोलियों ने ढोल-दमाऊं की थाप पर नृत्य किया और भक्तों को आशीर्वाद दिया।
बुधवार को दोपहर दो बजे कठूड़, खल्ला, बणद्वारा, देवलधार और सगर गांव से ज्वाला माता (माता अनसूया की बहिनें) की डोली मंडल बाजार में पहुंचीं। यहां देव डोलियों ने भक्तों को दर्शन दिए। यहां आधा घंटे तक सभी देव डोलियों की पूजा की गई। दूर-दराज के गांवों से पहुंचे दंपतियों और भक्तों ने अपनी आराध्य देवियों के दर्शन कर मनौतियां मांगीं। ध्याणियों ने आराध्य देवी को शृंगार सामग्री भेंटकर अपने कुटुंब-परिवार की कुशलता की कामना की। बृहस्पतिवार को पूजा-अर्चना के बाद सभी देव डोलियां भक्तों को आशीर्वाद देने के बाद अपने-अपने मंदिरों के लिए रवाना होंगी। इस दौरान जिला पंचायत अध्यक्ष रजनी भंडारी ने कहा कि अनसूया माता मंदिर तक सड़क निर्माण और आस्था पथ का सुधारीकरण कार्य करवाया जाएगा। इस मौके पर पूर्व कैबिनेट मंत्री राजेंद्र भंडारी, अनसूया मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष बीएस झिंक्वाण, भगत सिंह बिष्ट, पूर्व जिला पंचायत सदस्य देवेंद्र सिंह नेगी, नगर पालिका अध्यक्ष सुरेंद्र लाल, विक्रम बर्तवाल, रघुवीर बिष्ट, पूर्व प्रधान रविंद्र सिंह, अरविंद नेगी, भूपाल सिंह राणा, ब्लॉक प्रमुख विनीता देवी और जोशीमठ प्रमुख हरीश परमार आदि मौजूद थे।
यह है मान्यता
माता अनसूया मंदिर में बरोहियों को मंदिर प्रांगण में बने एक कक्ष में बैठाया जाता है। मान्यता है कि उन्हें यहां सपने में माता अलग-अलग रूपों में दर्शन देती हैं, जिस बरोही को माता दर्शन दे देती हैं, वह चुपके से उठकर मुख्य मंदिर में पूजा के लिए पहुंच जाती है। मान्यता है कि जिस भी बरोही के स्वप्न में कन्या आएगी, तो उसे शुभ माना जाता है।
... और पढ़ें

हेलंग में अटका ऑल वेदर रोड परियोजना का काम

ऑल वेदर रोड परियोजना की रफ्तार जोशीमठ की तलहटी में आकर अटक गई है। यहां प्रस्तावित हेलंग-मारवाड़ी बाईपास मार्ग का मसला सुलझ नहीं रहा है, जिससे अब लोनिवि ने गेंद केंद्र सरकार के पाले में सरका दी है। विभाग जोशीमठ में 300 मकान और दुकानों को तोड़ने और हेलंग से मारवाड़ी की अधिक दूरी के चलते हेलंग-मारवाड़ी बाईपास मार्ग को ज्यादा फायदेमंद मान रहा है।
ऑल वेदर रोड परियोजना के तहत बदरीनाथ हाईवे पर रुद्रप्रयाग से माणा गांव तक 160 किमी सड़क का चौड़ीकरण होना है। पहले चरण की हिल कटिंग अंतिम चरण में है, लेकिन हेलंग में कार्य बंद है। यहां प्रस्तावित हेलंग-मारवाड़ी बाईपास मार्ग के विरोध में जोशीमठवासी तीन माह से धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं।
लोनिवि के मुख्य अभियंता हरिओम शर्मा ने नृसिंह मंदिर रोड और सेना कैंपस से औली के लिए गुजर रही सड़क का निरीक्षण किया। उनका कहना है कि नृसिंह मंदिर से गुजर रही सड़क के आसपास इतनी भूमि नहीं है कि सड़क को आठ मीटर चौड़ा किया जा सके। साथ ही आर्मी कैंपस से गुजर रही सड़क के चौड़ीकरण पर भी कई पेंच हैं। जोशीमठ में यदि चौड़ीकरण किया गया, तो करीब 300 मकान और दुकानों का ध्वस्तीकरण किया जाएगा। साथ ही हेलंग से जोशीमठ होते हुए मारवाड़ी तक सड़क ले जाने में करीब 22 किमी का फेर है, जबकि हेलंग से मारवाड़ी तक मात्र साढ़े पांच किमी सड़क का कटान होना है।
बाईपास मार्ग के विरोध में 100 दिन से चल रहा आंदोलन
जोशीमठ। हेलंग-मारवाड़ी बाईपास मार्ग के विरोध में जोशीमठ बचाओ संघर्ष समिति के धरना-प्रदर्शन को 100 दिन पूरे हो गए हैं। यहां तहसील परिसर में लोगों का आंदोलन चल रहा है। संघर्ष समिति के अध्यक्ष शैलेंद्र पंवार, पूर्व पालिकाध्यक्ष ऋषि प्रसाद सती, व्यापार मंडल अध्यक्ष नैन सिंह भंडारी, रमेश सती, अतुल सती, लक्ष्मण सिंह फरकिया, जय प्रकाश, अमित सती, मुकेश कुमार, हरीश भंडारी, कर्ण सिंह, गौरव नंबूरी, प्रदीप भट्ट ने कहा कि यदि ऑलवेदर रोड के तहत हेलंग से मारवाड़ी तक बाईपास मार्ग का निर्माण हुआ तो, जोशीमठ का अस्तित्व समाप्त हो जाएगा। केंद्र सरकार की ओर से बाईपास मार्ग का प्रस्ताव जब तक निरस्त नहीं किया जाता आंदोलन जारी रहेगा।
... और पढ़ें

2170 ग्राम पंचायत सदस्यों, दो ग्राम प्रधान पद पर नामांकन

ग्राम पंचायत और बीडीसी के उपचुनाव के लिए बुधवार को नामांकन हुए। उप चुनाव के बावजूद अभी भी जिले में ग्राम पंचायत सदस्यों के 371, ग्राम प्रधानों के छह और एक बीडीसी सदस्य का पद फिर रिक्त रह गया। जिले के रिक्त 2541 ग्राम पंचायत सदस्यों के पदों में से 2170 पर नामांकन हुए। वहीं ग्राम प्रधानों के आठ में से दो पदों पर ही नामांकन हुए। गैरसैंण ब्लॉक में रिक्त क्षेत्र पंचायत पद के लिए कोई नामांकन नहीं हुआ।
सदस्य ग्राम पंचायत के लिए कर्णप्रयाग ब्लाक में रिक्त 353 पदों में से 315, नारायणबगड़ में 331 पदों में से 295, जोशीमठ में 306 पदों में से 265, दशोली में 214 में से 192, थराली में 198 में से 197, घाट में 283 पदों में से 250, पोखरी में 336 पदों में से 247, देवाल में 169 पदों में से 115 और गैरसैंण में रिक्त 352 पदों में से 294 पदों पर नामांकन हुए। ग्राम प्रधान के लिए कर्णप्रयाग ब्लाक के दियारकोट और देवाल ब्लाक के सेलखोला ग्राम पंचायत में उप चुनाव के लिए दो-दो प्रत्याशियों ने नामांकन किए। पोखरी ब्लाक के ग्राम खन्नी, भदूडा, डुंगर और जोशीमठ ब्लाक के ग्राम पंचायत भेंटा, नारायणबगड़ ब्लाक के निलाशी और देवाल ब्लाक के चोटिंग में उप निर्वाचन के लिए कोई भी नामांकन नहीं हुए। वही गैरसैंण ब्लाक में रिक्त सदस्य क्षेत्र पंचायत मैखोली के लिए भी किसी भी प्रत्याशी ने नामांकन नहीं किया। यहां 19 दिसंबर को मतदान होगा और 21 दिसंबर को मतगणना होनी है।
... और पढ़ें

खनन अधिकारी को प्रतिकूल प्रविष्टि

राजस्व विभाग की समीक्षा बैठक में न पहुंचने और बिना सूचना के कार्यालय से गायब रहने पर जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने खनन अधिकारी दिनेश कुमार को प्रतिकूल प्रविष्टि जारी की। साथ ही उन्हें आठ घंटे में जिले में उपस्थिति दर्ज कराने के सख्त निर्देश दिए।
कलक्ट्रेट सभागार में डीएम स्वाति एस भदौरिया ने राजस्व विभाग की समीक्षा बैठक ली। इस दौरान खनन अधिकारी के मौजूद न होने पर डीएम ने उनके प्रतिनिधि के रूप में बैठक में पहुंचे कर्मचारी से इस संबंध में जानकारी मांगी, तो कर्मचारी ने कहा कि वह इसके लिए अधिकृत नहीं हैं। इस पर जिलाधिकारी भड़क गईं और सीधे खनन कार्यालय पहुंच गईं। खनन अधिकारी वहां भी नहीं मिले। इस पर डीएम ने उन्हें फोन किया तो वह कभी देहरादून तो कभी हल्द्वानी में होने की बात कहने लगे। डीएम ने खनन अधिकारी को प्रतिकूल प्रविष्टि जारी कर आठ घंटे में जिले में उपस्थित होने के निर्देश दिए। इसके बाद बैठक में डीएम ने शत प्रतिशत राजस्व वसूली और लंबित वादों के निस्तारण के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बकायादारों के खिलाफ बंदी, कुड़की और नीलामी की कार्रवाई की जाए। उन्होंने वाणिज्य कर, स्टांप और निबंधन, आबकारी, परिवहन कर, वन, खनन, भू-राजस्व, रेवेन्यू पुलिस, फौजदारी, शमन आदि मामलों की समीक्षा भी की। इस मौके पर एडीएम एमएस बर्निया, एसडीएम बुशरा अंसारी और एसडीएम वैभव गुप्ता आदि मौजूद थे।
... और पढ़ें

दो दिवसीय अनसूया मेला आज से

संतानदायिनी शक्ति शिरोमणि माता अनसूया का दो दिवसीय मेला आज (बुधवार) से शुरू होगा। माता अनसूया के मंदिर को फूल मालाओं से सजाया गया है। वहीं, संतान कामना के लिए 150 बरोहियों (निसंतान दंपति) ने मंदिर में रात्रि जागरण के लिए पंजीकरण कराया है।
मां अनसूया से आशीर्वाद लेने के लिए क्षेत्र की ध्याणियां अपने-अपने मायके पहुंचने लगी हैं। संतान प्राप्ति के लिए कई निसंतान दंपति मंगलवार को गोपेश्वर और मंडल गांव में पहुंच गए हैं। बुधवार को अपराह्न तीन बजे अनसूया गेट से ग्राम पंचायत खल्ला, बणद्वारा, कठूड़, देवलधार और सगर गांवों की आराध्य ज्वाला देवी की उत्सव डोलियां अपनी बहिन अनसूया से मिलने के लिए अनसूया मंदिर के लिए प्रस्थान करेंगी। बृहस्पतिवार को पूजा-अर्चना के बाद सभी देव डोलियां भक्तों को आशीर्वाद देने के बाद अपने-अपने मंदिरों के लिए रवाना होंगी। अनसूया मंदिर समिति के अध्यक्ष बीएस झिंक्वाण ने बताया कि मेले का शुभारंभ बदरीनाथ विधायक महेंद्र भट्ट करेंगे।
यह है मान्यता
माता अनसूया मंदिर में बरोहियों को मंदिर प्रांगण में बने एक कक्ष में बैठाया जाता है। मान्यता है कि उन्हें यहां सपने में माता अलग-अलग रूपों में दर्शन देती हैं, जिस बरोही को माता दर्शन दे देती हैं, वह चुपके से उठकर मुख्य मंदिर में पूजा के लिए पहुंच जाती है। मान्यता है कि जिस भी बरोही के स्वप्न में कन्या आएगी, तो उसे शुभ माना जाता है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election