राष्ट्रीय खेल स्पर्द्धा के लिए औली तैयार : गर्ब्याल

Chamoli Updated Tue, 21 Jan 2014 05:48 AM IST
जोशीमठ (चमोली)। प्रसिद्ध हिम क्रीड़ा स्थली औली में 12 फरवरी से होने वाले राष्ट्रीय स्कीइंग खेलों की तैयारियों को लेकर गढ़वाल कमिश्नर डीएस गर्ब्याल ने संबंधित अधिकारियों की बैठक ली। उन्हाेंने कहा कि औली राष्ट्रीय खेल स्पर्द्धाओं के लिए फिट है। इसके संरक्षण पर पूरा जोर दिया जा रहा है। उन्होंने अधिकारियों को पांच फरवरी तक औली में सभी सुविधाएं जुटाने के निर्देश दिए। खेलों के आयोजन के लिए गठित समिति में मंडल आयुक्त को अध्यक्ष बनाया गया।
जिला पंचायत सभागार में हुई बैठक में आयुक्त ने लोनिवि के अधिकारियों को जोशीमठ-औली मार्ग से बर्फ हटाने और सड़क को चाक-चौबंध करने के निर्देश दिए। कहा गया कि खिलाड़ियों के ठहरने की व्यवस्था जीएमवीएन, आईटीबीपी और आर्मी के जिम्मे रहेगी। जल संस्थान को गेम्स के दौरान टैंकर से जलापूर्ति के निर्देश दिए गए।
उत्तराखंड विंटर गेम्स एसोसिएशन के अध्यक्ष एसएस पांगती ने कहा कि विश्व पटल पर औली अपनी पहचान बना रहा है। यहां खेलों को बढ़ावा देने का पूरा प्रयास किया जा रहा है। तय किया गया कि खेलों के दौरान संास्कृतिक कार्यक्रम भी आयोजित होंगे। इस मौके पर नगर पालिका अध्यक्ष रोहिणी रावत, जीएमवीएन के एमडी डा. आर राजेश कुमार, पुलिस अधीक्षक अजय जोशी, नंदा देवी राष्ट्रीय पार्क के डीएफओ राजीव धीमान, एसडीएम एपी बाजपेयी, पीएस डंगवाल आदि भी मौजूद थे।

स्थानीय खिलाड़ियों को भी करें शामिल
पालिका अध्यक्ष रोहिणी रावत, सभासद प्रकाश नेगी ओर नरेश नौटियाल ने उत्तराखंड विंटर गेम फैडरेशन में स्थानीय खिलाड़ियों को भी शामिल करने की मांग उठाई है। कहा कि राष्ट्रीय खेलों में स्थानीय जनप्रतिनिधियों व खिलाड़ियों की उपेक्षा की जाती है।

बैठक में लिए गए निर्णय
- खेल के दौरान दो दिनों तक होंगे सांस्कृतिक कार्यक्रम।
- औली जाने के लिए आईटीबीपी और आर्मी करेगी वाहनों की व्यवस्था।
- रोपवे और चियर लिफ्ट से औली जाने वालों को मिलेगी शुल्क में छूट।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

बर्फबारी के बीच बद्रीनाथ के कपाट छह महीने के लिए हुए बंद

बद्रीनाथ में बर्फबारी के बीच बद्रीनाथ के कपाट छह महीने के लिए बंद हो गए। यहां हुई बर्फबारी का असर मैदानी इलाके में भी देखने को मिला। इस बर्फबारी से तापमान में गिरावट आ गई है।

19 नवंबर 2017