वैज्ञानिकों को मिलेगा रुका वेतन, वो भी बढ़ा हुआ

Chamoli Updated Mon, 20 Jan 2014 05:48 AM IST
गोपेश्वर। एक वर्ष से वेतन के लिए तरस रहे जड़ी-बूटी शोध संस्थान के संविदा वैज्ञानिकों को शीघ्र रुकी हुई वेतन उच्च वेतनमान के साथ मिलेगी। । हालांकि उन्हें अक्तूबर, नवंबर और दिसंबर माह का वेतन भुगतान तो हो गया है। लेकिन फरवरी से सितंबर माह तक का वेतन नहीं मिल पाया था। संस्थान के निदेशक का कहना है कि शीघ्र ही वैज्ञानिकों को वेतन भुगतान कर दिया जाएगा। वैज्ञानिक डा. विजय भट्ट का कहना है कि वे संस्थान में जड़ी-बूटियों का कृषिकरण, शोध और काश्तकारों को जड़ी-बूटी की खेती के लिए तकनीकी सहायता करते आ रहे हैं, लेकिन सरकार ने उनके साथ अन्याय किया है।

यह था मामला
वर्ष 2012 के जुलाई माह में संस्थान की गवर्निंग बॉडी ने संस्थान के तीन संविदा वैज्ञानिकों का वेतन 18 हजार से बढ़ाकर 28,220 कर दिया था। लेकिन शासन ने गवर्निंग बॉडी के फैसले को गलत करार देकर पिछले वर्ष अक्तूबर माह में वैज्ञानिकों की वेतन रोककर बढ़े वेतन की वसूली के निर्देश दे दिए। शासन के इस फैसले को वैज्ञानिकों ने उच्च न्यायालय नैनीताल में चुनौती दी। कोर्ट ने बीते वर्ष दिसंबर माह में वैज्ञानिकों के पक्ष में फैसला सुनाकर उन्हें शीघ्र बढ़ा हुआ मानदेय देने के आदेश दिए।

कोट-
हाईकोर्ट ने संविदा वैज्ञानिकों से तीन लाख रुपये की वसूली के आदेश स्थगित कर दिए हैं। वैज्ञानिकों को फरवरी से अक्तूबर माह तक की वेतन जल्द दी जाएगी। इसके लिए हमें शासन से 15 लाख रुपये भी मिल गए हैं। - हयात राम आर्य, निदेशक, एचआरडीए, चमोली।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

बर्फबारी के बीच बद्रीनाथ के कपाट छह महीने के लिए हुए बंद

बद्रीनाथ में बर्फबारी के बीच बद्रीनाथ के कपाट छह महीने के लिए बंद हो गए। यहां हुई बर्फबारी का असर मैदानी इलाके में भी देखने को मिला। इस बर्फबारी से तापमान में गिरावट आ गई है।

19 नवंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls