झिंझौड़ी के ग्रामीण करेंगे पंचायत चुनाव बहिष्कार

Chamoli Updated Mon, 17 Dec 2012 05:30 AM IST
गोपेश्वर। नेताओं और प्रशासन के तमाम दावों के बाद भी अभी तक गांव को सड़क से न जोड़े जाने से गुस्साए झिंझौड़ी गांव के ग्रामीणों ने अगले साल होने वाले पंचायत चुनाव का बहिष्कार करने का ऐलान किया है। झिंझौड़ी गांव के ग्रामीणों ने गांव को सड़क से जोड़ने की मांग को लेकर जनवरी माह में हुए विधानसभा चुनाव का बहिष्कार करने का ऐलान किया था। तब जिला प्रशासन के अधिकारियों ने गांव में जाकर शीघ्र सड़क बनवाने का आश्वासन ग्रामीणों को दिया था। तत्कालीन जिलाधिकारी डा. रंजीत सिन्हा ने लोनिवि कर्णप्रयाग को 10 किमी नारायणबगड़-भगोती-झिंझौड़ी मोटर मार्ग का प्रपोजल शीघ्र तैयार करने के निर्देश दिए थे। लेकिन अभी तक भी सड़क निर्माण कार्य शुरु नहीं हो पाया है। ग्रामीणों को अपने गंतव्य तक जाने के लिए करीब 12 किमी की दूरी पैदल तय करनी पड़ती है।
यदि यह सड़क बनती है तो झिंझोड़ी के साथ ही भगौती, रतनी, केसपुर, छेकुड़ा, कन्वाल गांव और छिंछौड़ी गांव के ग्रामीण लाभान्वित होंगे। लेकिन सड़क निर्माण में देरी की जा रही है।
सोबन लाल, ग्राम प्रधान, झिंझौड़ी।

ग्रामीण प्रशासन के झूठे वायदों का शिकार हुए हैं। विधान सभा चुनाव के दौरान प्रशासन ने शीघ्र मार्ग निर्माण कार्य शुरु करने का आश्वासन दिया। लेकिन अब सड़क निर्माण में लेटलतीफी की जा रही है।
दिनेश और पूरन सिंह, ग्रामीण पंचायत झिंझौड़ी।

झिंझौणी गांव के लिए सड़क निर्माण को 4 करोड़ रुपये का प्रपोजल भारत सरकार को भेजा गया है। सड़क निर्माण के लिए वन भूमि हस्तांतरण प्रक्रिया चल रही है। शीघ्र ही निर्माण कार्य शुरु कर दिया जाएगा।
बीएस रावत, ईई, पीएमजीएसवाई, कर्णप्रयाग।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

बर्फबारी के बीच बद्रीनाथ के कपाट छह महीने के लिए हुए बंद

बद्रीनाथ में बर्फबारी के बीच बद्रीनाथ के कपाट छह महीने के लिए बंद हो गए। यहां हुई बर्फबारी का असर मैदानी इलाके में भी देखने को मिला। इस बर्फबारी से तापमान में गिरावट आ गई है।

19 नवंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls