सवाड़ के शहीदों का सम्मान, याद में बनेगा स्मारक

Chamoli Updated Sat, 08 Dec 2012 05:30 AM IST
देवाल। सैनिक बाहुल्य गांव सवाड़ के 22 शहीद सैनिकों के सम्मान में सरकार स्मारक का निर्माण करेगी। संस्कृति विभाग इस स्मारक का निर्माण कराएगा। सवाड़ में शहीद सैनिक मेले के उद्घाटन के मौके पर पर्यटन संस्कृति मंत्री अमृता रावत ने यह घोषणा की। गढ़वाल सांसद सतपाल महाराज के साथ पर्यटन मंत्री ने शुक्रवार को इस मेले का उद्घाटन किया और क्षेत्रीय विकास के लिए लोगों को भरोसा दिलाया।
महाराज ने अपने संबोधन में दावा किया कि वे अपने कार्यकाल में 45 हजार नौजवानों को सेना में रोजगार दिला चुके हैं। उन्होंने बेदनी और औली बुग्याल को विश्व मानचित्र में लाने की बात कही। वहीं प्राचीन मंदिरों को रोपवे से जोड़ा जाएगा। उन्होंने बताया कि गैरसैंण में मिनी सचिवालय के निर्माण के लिए केंद्र से 50 करोड़ रुपये की मांग की गई है। कहा कि कुमाऊं में शीघ्र केंद्रीय विश्वविद्यालय स्थापना की जाएगी। गैरसैंण में विधानसभा सत्र का लाभ पहाड़ को मिलेगा। उन्होंने कहा कि थराली जिले की मांग को भी पुर्नगठन आयोग में भेजा जाएगा। उन्होंने ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल लाइन पर शीघ्र निर्माण कार्य शुरू होने की बात कही। साथ ही वन-रैंक-वन पेंशन की पैरवी की।
इस मौके पर पर्यटन मंत्री ने रावत ने कहा कि सवाड़ वीरों की भूमि है। उन्होंने शहीद मेले के लिए एक लाख रुपये देने की घोषणा भी की। कहा कि सरकार ग्राम पर्यटन के लिए कई योजनाएं बना रही है। वीर चंद्र सिंह गढ़वाली योजना में 35 प्रतिशत सब्सिडी दी जा रही है। वहीं केद्र से भी टूरिज्म के लिए 15 सौ करोड़ स्वीकृत किए गए हैं। कार्यक्रम का संचालन महावीर बिष्ट ने किया। उद्घाटन कार्यक्रम में बदरीनाथ विधायक राजेंद्र भंडारी, देवाल के प्रमुख डीडी कुनियाल, कांग्रेस ब्लाक अध्यक्ष लखन रावत, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष रामचंद्र उनियाल, मेलाध्यक्ष एवं ग्राम प्रधान बसंती देवी, सरंक्षक आशा धपोला, जिला पंचायत सदस्य पार्वती गड़िया सहित कई क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि एवं गणमान्य लोग मौजूद थे।


शहीद सैनिकों का स्मरण, श्रद्घांजलि
शुक्रवार को सवाड़ गांव में आयोजित शहीद सैनिक मेला के उद्घाटन से पूर्व कैबिनेट मंत्री अमृता रावत, गढ़वाल सांसद सपताल महाराज एवं बदरीनाथ के विधायक राजेंद्र भंडारी ने प्रथम विश्व युद्ध के शहीद हुए सैनिकों को श्रद्धासुमन अर्पित किए। इस मौके पर शहीद स्मारक क्षेत्र के पूर्व सैनिक अपनी फौजी वर्दी में मौजूद थे। सेना से मिले मैडल, पदकों से सुशोभित वेशभूषा में जब इन सैनिकों ने शहीदों को सलामी दी तो यह क्षण यादगार बन गया। इस मौके पर समस्त ग्रामीणों के साथ ही काफी संख्या में क्षेत्रवासी भी मौजूद थे।

सांसद को दी पहाड़ पुत्र की संज्ञा
मेले के उद्घाटन के मौके पर अपने संबोधन में बदरीनाथ विधायक राजेंद्र भंडारी और पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष रामचंद्र उनियाल ने गढ़वाल सांसद सतपाल महाराज को पहाड़ पुत्र की संज्ञा दी। इस मौके पर उनियाल ने महाराज से थराली को जिला बनवाने की मांग भी की।


मंत्री को पहनाया पाखूला और पांगड़ा
शहीद सैनिक मेला में सवाड़ पहुंची पर्यटन मंत्री ग्रामीण महिलाओं के लिए आकर्षण का केंद्र बनी रही। इस मौके पर सवाड़ गांव की महिलाओं ने उन्हें अपने हाथों से बनाया ऊन से बना पाखूला (कंबल) और पांगड़ा पहनाया। पर्यटन मंत्री पूरे समारोह में इस वेशभूषा में रही। रावत ने अगले वर्ष आयोजित होने वाली श्रीनंदा राजजात में सभी से हरसंभव सहयोग की अपील की।


पूर्व सैनिकों ने की यादें ताजा
शहीद सैनिक मेले में पहुंचे पूर्व सैनिकों ने अपने सेवाकाल के किस्से भी सुनाएं। पूर्व सैनिकों ने गढ़वाल सांसद एवं पर्यटन मंत्री से देवाल में केंद्रीय विद्यालय एवं आर्मी कैंटीन खोलने की मांग भी की। इस मौके पर जिला सैनिक कल्याण बोर्ड चमोली की ओर से इन सैनिकों को सम्मानित किया गया।


ज्ञापनों के पुलिंदे थमाए
देवाल। कैबिनेट मंत्री अमृता रावत एवं गढ़वाल सांसद सतपाल महाराज को सवाड़ की जनता एवं कांग्रेस कमेटी ने क्षेत्रीय मांगों के ज्ञापन प्रेषित किए। ग्रामीणों एवं जनप्रतिनिधियों ने देवाल को उप तहसील बनाए जाने, थराली को जिला बनाए जाने, क्षेत्र की लंबित सड़कों का निर्माण शुरू करने, पर्यटक स्थलों को पर्यटन से जोड़ने, राजजात के समस्त पड़ावों को सुविधाओं से जोड़ने सहित कई क्षेत्रीय समस्याओं से संबंधित मांगों के ज्ञापन प्रेषित किया।


सैनिक भूमि के वीर लड़ाके

प्रथम विश्व के शहीद सैनिक
बादर सिंह, जवाहर सिंह, खीम सिंह, बलवंत सिंह, नेत्रराम, खुशाल सिंह, पदम सिंह, राय सिंह। हालांकि इनकी कुल संख्या 22 बताई जाती है, मगर सिर्फ कुछ सैनिकों के ही नाम रिकार्ड में दर्ज मिले हैं।

द्वितीय विश्व युद्ध के सैनिक
ज्ञान सिंह, रतन राम, जवाहर सिंह, गौर सिंह, आनंद धपोला, लक्ष्मण खत्री, हयात मेहरा, प्रताप भंडारी, जवाहर सिंह, चिमण राणा, मदन राणा, दौलत सिंह, दान सिंह बागरी, प्रताप मेहरा, दरवान सिंह, काम सिंह, श्याम सिंह, पदम सिंह, काम सिंह दानू, हुकम सिंह, खीम सिंह, दुर्लभ सिंह।

पेशावर कांड के सैनिक--
शेर सिंह मेहरा तथा जवाहर सिंह बिष्ट

स्वतंत्रता संग्राम सेनानी--
दरवान सिंह खत्री, प्रताप सिंह, दरवान सिंह धपोला, काम सिंह भंडारी, खीम सिंह, गबर सिंह, हरक सिंह, गौर सिंह, बादर सिंह, मदन सिंह

Spotlight

Most Read

National

पाकिस्तान की तबाही के दो वीडियो जारी, तेल डिपो समेत हथियार भंडार नेस्तनाबूद

सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने पाकिस्तानी गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया है। भारत के जवाबी हमले में पाकिस्तान की कई फायरिंग पोजिशन, आयुध भंडार और फ्यूल डिपो को बीएसएफ ने उड़ा दिया है।

23 जनवरी 2018

Related Videos

बर्फबारी के बीच बद्रीनाथ के कपाट छह महीने के लिए हुए बंद

बद्रीनाथ में बर्फबारी के बीच बद्रीनाथ के कपाट छह महीने के लिए बंद हो गए। यहां हुई बर्फबारी का असर मैदानी इलाके में भी देखने को मिला। इस बर्फबारी से तापमान में गिरावट आ गई है।

19 नवंबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper