नए पुल निर्माण में रोड़ा बनी पेयजल लाइन

Chamoli Updated Tue, 04 Dec 2012 05:30 AM IST
कर्णप्रयाग। पिंडर नदी पर नया पुल बनाया जाना है, लेकिन पुल से जल संस्थान की पेयजल लाइन जुड़ी हुई है। लोनिवि ने जल संस्थान को आठ माह पूर्व लाइन दूसरी जगह शिफ्ट करने को नोटिस भेजा था, लेकिन जल संस्थान के अधिकारियाें की लापरवाही से लाइन आजतक शिफ्ट नहीं हो पाई है। जिससे पुल का निर्माण कार्य समय पर शुरू नहीं हो पा रहा है।
बदरीनाथ हाइवे को ज्यूलीकोट हाइवे से जोड़ने के लिए पिंडर नदी पर पुराने के स्थान पर नया पुल बनाया जाना है, लेकिन इस पर जलसंस्थान की लाइन होने से इसका निर्माण कार्य शुरू नहीं हो पाया है। लोनिवि के अधिशासी अभियंता प्रत्यूश कुमार ने बताया कि अप्रैल में पुल नीलामी के साथ ही पेयजल लाइन को हटाने के लिए जलसंस्थान को नोटिस दिया गया था, लेकिन लाइन आजतक नहीं हट पाई। वहीं जल संस्थान के अधिकारियों की लापरवाही की वजह से स्थिति जस की तस बनी हुई है।

पेयजल लाइन हटाने और बिछाने के लिए करीब छह लाख 82 हजार का इस्टीमेट तैयार किया गया है, जिसे पहले लोनिवि को भेजा गया था। लोनिवि द्वारा इंकार किए जाने पर अब इसे बुधवार को अधीक्षण अभियंता को मेल से भेज दिया जाएगा।
-जेपी जोशी, अधिशासी अभियंता जलसंस्थान चमोली

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

बर्फबारी के बीच बद्रीनाथ के कपाट छह महीने के लिए हुए बंद

बद्रीनाथ में बर्फबारी के बीच बद्रीनाथ के कपाट छह महीने के लिए बंद हो गए। यहां हुई बर्फबारी का असर मैदानी इलाके में भी देखने को मिला। इस बर्फबारी से तापमान में गिरावट आ गई है।

19 नवंबर 2017