इस बार कई कष्ट सहकर पहुंचे तीर्थयात्री

Chamoli Updated Thu, 25 Oct 2012 12:00 PM IST
गोपेश्वर। इस वर्ष आपदा के चलते चार धाम यात्रा पर निकले तीर्थयात्रियों ने बडे़ कष्ट झेले। यात्राकाल शुरू होते ही बदरीनाथ हाईवे की सूरत बदलने के लिए सीमा सड़क संगठन अभी से कार्ययोजना तैयार करे, तो तीर्थयात्रियों को हिचकोले खाकर तीर्थयात्रा नहीं करनी पडे़गी। इस वर्ष 10 लाख 19,794 तीर्थयात्री कई डेंजर जोन पार कर श्री बदरीविशाल के धाम में मत्था टेकने पहुंचे।
सीमा सड़क संगठन द्वारा बदरीनाथ हाईवे के चौड़ीकरण कार्य और आपदा के चलते इस वर्ष चार धाम यात्रा पर पहुंचे तीर्थयात्रियों को भारी दिक्कतें झेलनी पड़ी। पाताल गंगा में भूस्खलन होने से 3 अगस्त को 3 दिन, 4 अगस्त को 2 दिन और 6 अगस्त को 4 दिनों तक तीर्थयात्रा थमी रही। इस दौरान यात्रियों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। 14 अगस्त को हाईवे के पैनी बैंड में दो दिनों तक अवरुद्ध होने के चलते मुंबई के अभिषेक दंपत्ति को समय न होने के कारण पीपलकोटी से वापस लौटना पड़ा था।

एक साल से डामरीकरण के इंतजार में 12 किमी सड़क
गोपेश्वर। बदरीनाथ हाईवे पर चमोली से पीपलकोटी तक करीब 12 किमी तक चौड़ीकरण के तहत एक वर्ष पूर्व कार्य संपन्न हो गया था। लेकिन अभी तक भी मार्ग को डामरीकृत नहीं किया गया है। इसी पैच के मध्य आपदाग्रस्त क्षेत्र भीमतला, बिरही और कोड़िया जोन पड़ते हैं।

तीन माह के भीतर 16 किमी तक हाईवे डबललेन कर दिया जाएगा। अन्य जगहों पर डामरीकरण के लिए भारत सरकार के सड़क परिवहन मंत्रालय को प्रपोजल बनाकर भेजा गया है। हमें इसके एप्र्रूवल का इंतजार है। आगामी यात्रा तक नंदप्रयाग और चमोली ब्रिज बनकर तैयार हो जाएंगे। हमें छह नए पुल मिल रहे हैं। यदि भारत सरकार में लंबित हमारे 40 करोड़ के प्रपोजल को स्वीकृति मिलती है तो हाईवे को चाकचौबंद बना दिया जाएगा।
-राहुल श्रीवास्तव, कमान अधिकारी, ग्रेफ, पीपलकोटी।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

बर्फबारी के बीच बद्रीनाथ के कपाट छह महीने के लिए हुए बंद

बद्रीनाथ में बर्फबारी के बीच बद्रीनाथ के कपाट छह महीने के लिए बंद हो गए। यहां हुई बर्फबारी का असर मैदानी इलाके में भी देखने को मिला। इस बर्फबारी से तापमान में गिरावट आ गई है।

19 नवंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls