पिंडरघाटी प्राचीन मेलों की स्थली के रूप में प्रसिद्ध

Chamoli Updated Fri, 21 Sep 2012 12:00 PM IST
देवाल। राजकीय इंटर कालेज पिलखड़ा-ल्वाणी में दो दिवसीय राज राजेश्वरी मेला रंगारंग कार्यक्रमों के साथ संपन्न हो गया। आगामी वर्षों में मेले के भव्य आयोजन के संकल्प के साथ सांस्कृतिक दलों एवं स्कूली बच्चों को अतिथियों ने पुरस्कृत किया।
मुख्य अतिथि विधायक डा. जीतराम ने कहा कि पिंडरघाटी प्राचीन मेलों की स्थली के रूप में प्रसिद्ध है। कहा कि लोकजात यात्रा के मौके पर आयोजित इस मेले का विशेष महत्व है। विशिष्ठ अतिथि जिला पंचायत सदस्य लक्ष्मण सिंह बिष्ट एवं पार्वती गड़िया ने कहा कि मेले लोक संस्कृति के प्रचार-प्रसार में अहम भूमिका निभाते हैं। हीरा सिंह बिष्ट एवं रमेश देवराड़ी के संचालन में हुए सांस्कृतिक कार्यक्रमों में जीआईसी ल्वाणी, गुरुराम राय, हिमालय चिल्ड्रन पब्लिक स्कूल एवं नवदीप पब्लिक स्कूल देवाल सहित महिला मंगल दल ल्वाणी एवं ताजपुर के कलाकारों ने श्रीनंदा की जागरों एवं स्तुतियों के साथ लोकगीत एवं नृत्यों की प्रस्तुतियां दी। समिति के अध्यक्ष महावीर सिंह एवं संरक्षक हीरा सिंह रूपकुंडी ने सबका आभार जताया। इस मौके पर हीरा राम, एमएस बिष्ट, बलवंत सिंह, राजकुमार, कमल सिंह, नरेद्र सिंह, महिपाल सिंह, मुरली मनोहर आदि मौजूद थे। इससे पूर्व बुधवार को मेले का उद्घाटन करते हुए पर विधायक डा. जीतराम ने महिला मंगल दल ल्वाणी एवं ताजपुर को विधायक निधि से 50-50 हजार रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने क्षेत्र में उच्चीकृत विद्यालयों में नए भवनों के निर्माण एवं वेदनी को रोपवे से जोड़ने के लिए भी प्रयास करने की बात कही।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

बर्फबारी के बीच बद्रीनाथ के कपाट छह महीने के लिए हुए बंद

बद्रीनाथ में बर्फबारी के बीच बद्रीनाथ के कपाट छह महीने के लिए बंद हो गए। यहां हुई बर्फबारी का असर मैदानी इलाके में भी देखने को मिला। इस बर्फबारी से तापमान में गिरावट आ गई है।

19 नवंबर 2017