बदरीनाथ की धरती चूम कर लौटा धर्मेश का परिवार

Chamoli Updated Thu, 23 Aug 2012 12:00 PM IST
पीपलकोटी। मुंबई से अपने परिवार के साथ भगवान बदरीविशाल के दर्शनों को पहुंचे धर्मेश मेहता ने पीपलकोटी में जब पैनी मोड़ पर हाईवे के अवरुद्ध पडे़ होने के बारे में सुना तो उनकी आंखों से आंसू छलक पडे़। धर्मेश का पूरा परिवार पीपलकोटी में बदरीधाम की धरती को चूमकर लौट गया। पीपलकोटी में खड़ा हर शख्स इस तीर्थयात्री के परिवार को देख भावुक हो उठा। हुया यूं कि 20 अगस्त को धर्मेश अपनी 75 वर्षीय मां, पत्नी और दो बच्चों के साथ मुंबई से बदरीनाथ धाम की तीर्थयात्रा पर निकले। उन्होंने हवाई जहाज से 24 अगस्त को पुन: मुंबई जाने का टिकट भी लिया था लेकिन 21 अगस्त को सिरोबगड़ और 22 अगस्त को जोशीमठ के समीप हाईवे अवरुद्ध होने से धर्मेश का परिवार समय पर बदरीनाथ धाम नहीं पहुंच पाया। मंगलवार को जैसे-तैसे वे रुद्रप्रयाग तक रात्रि विश्राम के लिए पहुंचे लेकिन बुधवार को पुन: हाईवे जाम होने पर धर्मेश का परिवार टूट गया। भगवान बदरीविशाल के दर्शन की आस इस बार पूरी नहीं होती देख धर्मेश के संपूर्ण परिवार ने बदरीविशाल की पवित्र भूमि पीपलकोटी में ही मत्था टेका और अपने परिवार की कुशलता की कामना कर लौट गए।
श्रद्धालुओं ने की विलेश्वर मंदिर में पूजा-अर्चना
पीपलकोटी। हाट गांव में स्थित प्राचीन विलेश्वर महादेव मंदिर में स्वामी तिरुग्यानानंद महाराज द्वारा विधिवत पूजा अर्चना की गई। इस मौके पर देश-विदेश से पहुंचे करीब 85 श्रद्धालुओं ने मंदिर में घी के दिए जलाए। गौरतलब है कि हाट गांव में बेलपत्री का जंगल है। इसी जंगल के मध्य में प्राचीन विलेश्वर महादेव मंदिर है। आदिकाल में यहां तरुग्यानंद जी महाराज को सिद्धि प्राप्त हुई थी। तभी से यहां प्रतिवर्ष देश-विदेश के श्रद्धालु पूजा-अर्चना करने पहुंचते हैं।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

बर्फबारी के बीच बद्रीनाथ के कपाट छह महीने के लिए हुए बंद

बद्रीनाथ में बर्फबारी के बीच बद्रीनाथ के कपाट छह महीने के लिए बंद हो गए। यहां हुई बर्फबारी का असर मैदानी इलाके में भी देखने को मिला। इस बर्फबारी से तापमान में गिरावट आ गई है।

19 नवंबर 2017