नारायणबगड़ में न बिजली न पानी

Chamoli Updated Thu, 09 Aug 2012 12:00 PM IST
नारायणबगड़। प्रखंड के 70 ग्राम पंचायतों का प्रमुख केंद्र ब्लाक मुख्यालय मौजूदा समय में मूलभूत समस्याओं से जूझ रहा है। आबादी जहां दस सालों में कई गुना बढ़ गयी है वहीं सुविधाएं सिमटती जा रही हैं। स्थिति यह है कि मुख्यालय में शाम ढलते ही बिजली गुल हो जाती है तो लोग पेयजल के लिए प्राकृतिक स्रोतों और पिंडर नदी पर निर्भर हैं।
मुख्यालय में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र तो है लेकिन लंबे समय से विभाग यहां चिकित्सक की तैनाती नहीं कर पाया है। जिला पंचायत की उदासीनता देखिए कि न शौचालयों का निर्माण हुआ तो न सफाई के लिए कर्मियों की नियुक्ति। अब जबकि 2013 में श्री नंदादेवी राजजात यात्रा होनी है और यात्रा पड़ाव भगोती से लगे इस क्षेत्र में यात्रियों का डेरा रहेगा तो यहां कैसे व्यवस्थाएं बनेंगी यह सवाल खड़ा हो रहा है। महिला कांग्रेस की सतेश्वरी टम्टा ने ब्लाक मुख्यालय की पेयजल, सफाई, बिजली और स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के जल्द निस्तारण की मांग की है। विधायक जीतराम टम्टा ने कहा कि नारायणबगड़ समेत पूरी विधानसभा क्षेत्र की समस्याओं का संज्ञान लेकर विस्तृत रिपोर्ट बनायी जा रही है। आवश्यक समस्याओं का निस्तारण जल्द किया जाएगा।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

बर्फबारी के बीच बद्रीनाथ के कपाट छह महीने के लिए हुए बंद

बद्रीनाथ में बर्फबारी के बीच बद्रीनाथ के कपाट छह महीने के लिए बंद हो गए। यहां हुई बर्फबारी का असर मैदानी इलाके में भी देखने को मिला। इस बर्फबारी से तापमान में गिरावट आ गई है।

19 नवंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls