जिला शिक्षा प्रशिक्षण संस्थान में कार्यशाला

Bageshwar Updated Sat, 13 Oct 2012 12:00 PM IST
अल्मोड़ा। जिला शिक्षा तथा प्रशिक्षण संस्थान डायट में आयोजित कार्यशाला में नवीन मूल्यांकन पद्धति की जानकारी दी गई। प्रभारी प्राचार्य जीएस नेगी ने कक्षा एक तथा दो से ही अंग्रेजी शिक्षण को व्यवहारिक बनाने पर जोर दिया।
वरिष्ठ प्रवक्ता नीलम नेगी ने खेलों से संबंधित जानकारी दी। प्रवक्ता बीडी अंडोला ने गणित विषय में संबोधों को पढ़ाने के लिए अनुभव भाषा, चित्र तथा संकेतों के बारे में बताया। गंगा घुघत्याल, पुष्पा बोरा ने कार्यानुभव, कला, संगीत तथा सांस्कृतिक कार्यक्रमों आदि गतिविधिया संपन्न कराई। नवीन मूल्यांकन पद्धति के अंतर्गत कक्षा एक तथा दो में इस वर्ष विकासखंड हवालबाग को चयनित किया गया है। इसमें बच्चों की परीक्षाएं नहीं ली जानी है। इसके स्थान पर प्रत्येक बच्चे द्वारा अर्जित दक्षता, उप दक्षता का अंकन मूल्यांकन प्रपत्रों में किया जाना है।
कार्यशाला के दौरान प्रतिभागियों को कक्षा-कक्ष प्रक्रिया को प्रभावी बनाने के लिए संवर्गीय अधिगम, अभ्यास तथा गतिविधिया कराने पर बल दिया गया। राज्य समन्वयक डा. केएन बिल्ज्वाण तथा अजीम प्रेम जी के सदस्य पल्लव ने नवीन मूल्यांकन पद्धति की सराहना की और कहा कि अगले शैक्षिक सत्र से प्रदेश में इसे लागू किया जाएगा। उन्होंने कक्षा-कक्ष में बच्चों को सक्रिय रखकर शिक्षक करने को कहा। वरिष्ठ प्रवक्ता विनय कुमार ने स्कूलों में पूर्ण मनोयोग से काम करने को कहा।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

बेकाबू होकर फैलती जा रही है बागेश्वर के जंगलों में लगी आग

उत्तराखंड के बागेश्वर में पिछले हफ्ते जगलों में लगी आग अबतक काबू में नहीं आई है। बेकाबू होकर फैल रही जंगल की आग की जद में आसपास के कई गांव आ गए हैं।

19 जनवरी 2018