दुग नाकुरी को नहीं मिला तहसील का दर्जा

Bageshwar Updated Sun, 19 Aug 2012 12:00 PM IST
बागेश्वर। दुग नाकुरी को तहसील बनाने की मांग बागेश्वर जिले की मांग के साथ ही उठी थी। जिला तो बन गया, लेकिन तहसील की मांग आज तक पूरी नहीं हो सकी है। अलग तहसील नहीं बनने से जहां क्षेत्र का विकास चौपट हो गया है वहीं लोगों को छोटी प्रशासनिक इकाई का लाभ नहीं मिल पा रहा है। ग्रामीणों को तहसील स्तरीय काम के लिए यहां से 24 से 60 किमी दूर जिला मुख्यालय जाना पड़ रहा है।
2011 की जनगणना के अनुसार दुग नाकुरी के करीब 50 गांवों की जनसंख्या 45 हजार से भी ऊपर पहुंच गई है। नाकुरी पट्टी के गांवों में जारती, पपोली, उडियार, रंगदेव, बिनाड़ी, पचार, होराली, जलमानी, पातल, लमजिंगड़ा, रीमा, सुरकालीगांव, दियाली कुरौली, वड्यूड़ा, बैकोड़ी, किड़ई दारसिंग, महोली, सक्नयुड़ा, चौनाला, सिमगड़ी, सनगाड़, बास्ती, जाखनी, मजगांव, भंतोला, शेरी, झांकरा तथा महरूड़ी तथा दुग पट्टी के गडेरा, सलीगांव, खोलीगांव, मउडियार, तिलाड़ी, जुनायल, सुंदिल, लेसानी, चिपोली, कमद, पलायण, तुसेरा, दोफाड़ को मिलाकर पृथक तहसील बनाने की मांग को लेकर क्षेत्र के लोग 1997 से संघर्षरत हैं। अलग उत्तराखंड राज्य की स्थापना के बाद आई सरकारों के नुमाइंदों ने इस मांग को पूरी करने के लिए अनेक आश्वासन दिए, लेकिन वह आज तक पूरे नहीं हो सके हैं।
पिछले साल फरवरी में मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल ने केदारेश्वर मैदान कपकोट में बहुउद्ेश्यीय शिविर लगाया था। तब तहसील की घोषणा होने की बात प्रचारित तो खूब कराई गई, लेकिन भाजपा नेता स्थापना नहीं करा सके। तहसील नहीं बनने से जहां लोगों को छोटी प्रशासनिक इकाई का लाभ नहीं मिल पा रहा है वहीं क्षेत्र में विकास कार्य भी भगवान भरोसे हैं। विधानसभा चुनाव में क्षेत्र के मतदाताओं ने इस लंबित मांग को मुद्दा बना लिया था। प्रदेश में अब कांग्रेस की सरकार आ गई है और क्षेत्रीय विधायक ललित फर्स्वाण भी कांग्रेस से ही हैं। पृथक तहसील संघर्ष समिति के महामंत्री धनसिंह भौर्याल ने कहा कि यदि इस बार भी तहसील नहीं बनी तो फिर से आंदोलन किया जाएगा। इधर विधायक फर्स्वाण ने कहा कि तहसील की स्थापना उनकी प्राथमिकताओं में है, जिसे जल्द पूरा किया जाएगा।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी कैबिनेट बैठक: प्रदेश के तीन शहरों को मेट्रो ट्रेन का तोहफा, स्लाटर हाउस पर भी प्रस्ताव पास

यूपी कैबिनेट की बैठक में प्रदेश के तीन शहरों में मेट्रो बनाने का प्रस्ताव पास हो गया है। साथ ही स्‍लाटर हाउस को नगर निगम सीमा से हटाने का भी फैसला लिया गया।

17 जनवरी 2018

Related Videos

बागपत में लूट का विरोध करने पर गोलियों से भूना

बागपत में उस वक्त सन्नाटा पसर गया जब तीन बदमाशों ने एक पशु व्यापारी की गोली मारकर हत्या कर दी। आनन-फानन ने पशु व्यापारी जय प्रकाश को अस्पताल ले जाया गया लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी।

18 अक्टूबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper