मृत मिले अड़तीस गोवंशीय के पशु

Jyotiba phule nagar Updated Sat, 25 Aug 2012 12:00 PM IST
जोया। पशु तस्करों ने 38 गोवंशीय पशुओं की हत्या करके उन्हें गुरुवार रात डिडौली कोतवाली अंतर्गत सोत नदी के किनारे फेंक दिया। सुबह इतनी बड़ी संख्या में गोवंशीय पशुओं के शव देख कर क्षेत्र में सनसनी मच गई। हालांकि सूचना पर पुलिस पहुंची भी, लेकिन भनक लगने पर इससे पहले ही तस्कर चाकू-छुरे छोड़कर भाग निकले। आसपास के थानों का फोर्स बुला लिया गया। पुलिस ने पशुओं को कब्जे में लेकर इनका पशु चिकित्सकों से इनका पोस्टमार्टम कराया और बाद में जेसीबी मशीनों से इन्हें जमीन में दबवा दिया। पुलिस देर रात तक अज्ञात तस्करों के खिलाफ मुकदमे की तैयारी में जुटी थी।
जनपद में पशुओं की तस्करी और गोवध के मामलों को लेकर पुलिस लगातार घिरती जा रही है। गजरौला प्रकरण खत्म भी नहीं हुआ कि डिडौली के फत्तेहपुर गांव के पास सोत नदी से कुछ फर्लांग दूरी पर गोवंशीय पशुओं का मृत झुंड पड़ा देख ग्रामीणों के होश उड़ गए। ग्रामीणों की सूचना पर पशुओं की खाल उतारते तस्कर व उनके साथी चाकू-छुरे छोड़कर पुलिस से पहले ही भाग निकले। नजारा देख पुलिस के भी होश उड़ गए। इधर, ग्रामीणों के लगातार विरोध और आसपास फैल रहे रोष के दृष्टिगत सीओ सिटी ने डिडौली के अलावा रजबपुर, शहर कोतवाली से भी फोर्स बुला लिया गया।
वहीं, हालात भांप पुलिस ने चिकित्सकों की दो सदस्यीय टीम से पोस्टमार्टम करा जेसीबी से मृत पशुओं को वहीं किनारे दबवा दिया। पुलिस देर रात तक अज्ञात तस्करों के खिलाफ मुकदमे की तैयारी में जुटी थी। हालांकि उसका कहना है कि गोवंशीय पशुओं को कहीं से लाकर फेंका गया होगा।
दर्जनों की तादाद में मृत मिले गोवंशीय पशुओं के मामले में पुलिस और प्रशासन किसी तरह का जोखिम लेने के मूड में नहीं दिख रहा है। हालांकि पूरे मामले की रिपोर्ट शासन को भेज दी गई है। वहीं, अराजक तत्वों को मौका न मिले इसी दृष्टिकोण से गांव में पुलिस तैनात कर दी गई है। उधर, पीपुल्स फार एनीमल्स के जिलध्यक्ष रविन्द्र शुक्ला ने गोवंशीय पशुओं की हत्या की निर्मम हत्या की निंदा करते हुए पूरे मामले की रिपोर्ट राष्ट्रीय अध्यक्ष मेनका गंधी को भेजने का दावा किया है। उन्होंने डीएम व एसपी से उचित कदम उठाए जाने की मांग की है।
उधर, जिलाधिकारी के निर्देश पर गोवंशीय पशुओं का पोस्टमार्टम करने पहुंचे पशु चिकित्सक डा. निखिल वार्ष्णेय व डा. रफत अली की रिपोर्ट के मुताबिक मृत पशुओं में 10 मादा व 27 नर थे। इनमें ज्यादातर की उम्र 3 से 4 वर्ष थी। कई के शरीर पर निशान थे। लेकिन अधिकतर की खाल उधड़ी थीं। डाक्टरों के अनुसार प्रथम दृष्टया गोवंशीय पशुओं की मौत की वजह दम घुटने से प्रतीत हो रही है। चिकित्सकों ने पशुओं की मृत्यु करीब पांच से सात दिन पहले होने की आशंका जताई है।

Spotlight

Most Read

Shimla

कांग्रेस के ये तीन नेता अब नहीं लड़ेंगे चुनाव, चुनावी राजनीति से लिया संन्यास

पूर्व मंत्री एवं सांसद चंद्र कुमार, पूर्व विधायक हरभजन सिंह भज्जी और धर्मवीर धामी ने चुनाव लड़ने की सियासत को बाय-बाय कर दिया है।

17 जनवरी 2018

Related Videos

अब मस्जिदें भी भगवा रंग में रंगी नजर आएंगी: आजम खान

हज हाउस की दीवारों को भगवा रंग से पेंट कराए जाने पर समाजवादी पार्टी ने सूबे की बीजेपी सरकार पर हमला बोला है।

6 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper