संगठित हुए बगैर उत्पीड़ित रहेंगे किसान : वीके सिंह

Jyotiba phule nagar Updated Mon, 23 Jul 2012 12:00 PM IST
गजरौला (ज्योतिबाफुले नगर)। पूर्व थल सेनाध्यक्ष वीके सिंह ने कहा कि जब तक किसान संगठित नहीं होंगे, तब तक उनका उत्पीड़न ऐसे ही होता रहेगा। इसलिए समय आ गया है कि जागृत हो जाएं, अन्यथा दमन रुकने वाला नहीं है। वहीं सरदार वीएम सिंह ने कहा कि किसानों के मुद्दे पर ही टीम अन्ना से टकराव है। वरना टीम अन्ना और टीम गन्ना एक साथ हो सकती है।
रविवार को राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के बैनर तले शिव इंटर कालेज में आयोजित किसान विजय दिवस कार्यक्रम में बोलते हुए मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद पूर्व थल सेनाध्यक्ष वीके सिंह ने कहा कि धरती का सीना चीर कर अपने खून-पसीने से सोना रूपी फसलें तैयार करने वाले अन्नदाता (किसान) की हालत किसी से छिपी नहीं है, लेकिन इसके लिए वह खुद भी दोषी हैं। जब तक वे अपने ऊपर हुए अन्याय का बदला खुद नहीं लेंगे, तब तक ईश्वर भी उनकी मदद नहीं कर सकता। राकिमसं के राष्ट्रीय अध्यक्ष सरदार वीएम सिंह ने कहा कि वह किसानों को एकजुट करने के लिए ही उनकी लड़ाई को लड़ते चले आ रहे हैं। इस लड़ाई का ही परिणाम है कि सुप्रीम कोर्ट मिलों को किसानों का बकाया भुगतान चार किश्तों में करने का आदेश दे चुकी है। हालांकि अब मिल प्रबंधित आनाकानी करने में लगीं हैं और बचाव का रास्ता ढूंढ रही हैं। उन्होंने किसानों में चेतना भरते हुए कहा कि वह हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में किसानों की लड़ाई लड़ते रहेंगे और आदेश कराते रहेंगे। लेकिन उन्हें भी चाहिए कि वे संगठित हों और एकजुट होकर भारी संख्या में अपनी-अपनी मिलों के आगे धरना देकर बैठ जाएं। वहां से तभी हटें जब भुगतान उनकी जेब में आ जाए। उन्होंने कहा कि टीम अन्ना के सदस्य अरविंद केजरीवाल से उनकी शनिवार को काफी बहस हुई थी। उन्होंने सवाल दागे कि क्या लोकपाल से किसानों का भला हो जाएगा? हां यदि टीम अन्ना इसमें किसीनों के मुद्दों को भी शामिल करे तो फिर साथ देने की सोची जाएगी। वीएम सिंह ने बताया कि केजरीवाल ने उन्हें 25 जुलाई को आमंत्रित किया है। साथ ही किसानोें की समस्या को एजेंडे में शामिल करने का भरोसा भी दिलाया है। कार्यक्रम में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सभी जनपदों के अलावा गांव और शहरों से आए हजारों लोगों ने शिरकत की। इस मौके पर जलपुरुष राजेंद्र सिंह, स्वामी ओम स्वतंत्र, पूर्व सांसद हरेंद्र मलिक, इल्याज आजमी, पूर्व कमिश्नर वीरेंद्र सिंह, मेजर हिमांशु, रूपचंद नागर, सुप्रीम कोर्ट की अधिवक्ता रेखारानी, अनीता सिंह, जितेंद्र सिंह, राजवीर सिंह आदि मौजूद रहे। संचालन संगठन के पउप्र अध्यक्ष चौधरी उपेंद्र सिंह एवं मंडलाध्यक्ष (युवा प्रकोष्ठ) राजीव चौधरी ने किया।

Spotlight

Most Read

Meerut

दो सगी बहनों से साढ़े चार साल तक गैंगरेप, घर लौट आई एक बेटी ने सुनाई आपबीती

दो बहनों का अपहरण कर तीन लोगों ने साढ़े चार वर्ष तक उनके साथ गैंगरेप किया। एक पीड़िता आरोपियों की चंगुल से निकल कर घर लौट आई। उसने परिवार को आपबीती सुनाई।

21 जनवरी 2018

Related Videos

अब मस्जिदें भी भगवा रंग में रंगी नजर आएंगी: आजम खान

हज हाउस की दीवारों को भगवा रंग से पेंट कराए जाने पर समाजवादी पार्टी ने सूबे की बीजेपी सरकार पर हमला बोला है।

6 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper