प्रदेश सरकार के खिलाफ शिक्षामित्रों ने भरी हुंकार

Amroha Updated Thu, 23 Jan 2014 05:54 AM IST
अमरोहा। प्रदेश सरकार की वादाखिलाफी से खफा शिक्षामित्रों ने बुधवार को शिक्षण कार्य नहीं किया। स्कूल न पहुंचकर बीआरसी केंद्रों पर धरना देकर विरोध प्रदर्शन किया। उन्होंने पांच फरवरी तक मांगें पूरी नहीं होने पर विधानसभा के सामने धरना देने का ऐलान किया।
बुधवार को याहियापुर के बीआरसी भवन में हुई बैठक में जिलाध्यक्ष फारूख अहमद मंसूरी ने कहा कि सरकार शिक्षामित्र विरोधी है। वादे पूरे नहीं किए जा रहे है। जबकि, पचास फीसदी स्कूल शिक्षामित्रों के सहारे चल रहे हैं।
अदालत के आदेश की सरकार अवहेलना कर रही है। बोले कि जब तक शिक्षामित्रों का बिना टीईटी के समायोजन सहित अन्य मांगों को पूरा नहीं किया जाएगा आंदोलन जारी रहेगा। वक्ताआें ने बताया कि यदि पांच फरवरी तक सरकार शिक्षामित्रों के हक में आदेश जारी नहीं करती तो विधानसभा के सामने धरना शुरू कर दिया जाएगा। बैठक में सचिन यादव, ओमकारी गुर्जर, सचिन यादव, उसमान खां, बबीता यादव, मोना चौधरी, नरेश, अलका शर्मा, चुनीता देवी, कविता रानी, पुष्पा देवी, हरिओम सिंह, चारू यादव, अतुल कुमार आदि रहे।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

अब मस्जिदें भी भगवा रंग में रंगी नजर आएंगी: आजम खान

हज हाउस की दीवारों को भगवा रंग से पेंट कराए जाने पर समाजवादी पार्टी ने सूबे की बीजेपी सरकार पर हमला बोला है।

6 जनवरी 2018