अनुशासनहीनता में छह छात्र नेता सस्पेंड

Amroha Updated Tue, 18 Dec 2012 05:30 AM IST
अमरोहा। चीफ प्राक्टर के खिलाफ हंगामा व तोड़फोड़ की घटना के बाद जेएस हिंदू डिग्री कालेज प्रशासन का रुख कड़ा हो गया है। प्राचार्य की अध्यक्षता में बुलाई आपात बैठक में छात्रों के कृत्य की घोर निंदा करते हुए लगातार बिगड़ते माहौल पर चिंता जताई गई। प्रस्ताव पर छह छात्र नेताओं को तत्काल निलंबित करते हुए उनके एक साथी के कालेज में प्रवेश पर रोक लगाने का निर्णय ले लिया गया। कार्रवाई से छात्रों में हड़कंप रहा।
साथी को डांटने से उत्तेजित छात्र नेताओं ने शनिवार को चीफ प्राक्टर के खिलाफ मोरचा खोलते हुए कालेज में जबरदस्त उत्पात मचाया था। चीफ प्राक्टर को हटाने की मांग करते हुए तोड़फोड़ की और प्रैक्टिकल कर रहीं छात्राओं का सामान तक तहस नहस कर डाला था। प्राचार्य को कक्ष में घेरकर चीफ प्राक्टर पर कई गंभीर आरोप लगाए थे। हालांकि कालेज प्रशासन ने उसी शाम आला पुलिस व प्रशासनिक अफसरों से शिकायत कर छात्रों के खिलाफ शहर कोतवाली में तहरीर दे दी थी।
सोमवार को प्राचार्य डा.सुमंगलम प्रकाश की अध्यक्षता में सुदर्शन सभागार में कालेज स्टाफ की आपात बैठक बुलाई गई। जिसमें घटना की निंदा करते हुए छात्र नेता आकाश चौधरी, उजैर मंसूरी, अर्पित चौधरी, राजेंद्र सिंह, अरुण आर्य व विकिल चौधरी को तत्काल निलंबित कर दस दिन में स्पष्टीकरण देने व पुष्पेन्द्र चौहान के कालेज प्रवेश पर रोक लगाने का निर्णय लिया गया।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

अब मस्जिदें भी भगवा रंग में रंगी नजर आएंगी: आजम खान

हज हाउस की दीवारों को भगवा रंग से पेंट कराए जाने पर समाजवादी पार्टी ने सूबे की बीजेपी सरकार पर हमला बोला है।

6 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls