फर्जी बैनामा पर सदर तहसील बनी अखाड़ा

Amroha Updated Fri, 12 Oct 2012 12:00 PM IST
अमरोहा। आबादी के बीचोबीच बेशकीमती जमीन के फर्जी बैनामा को लेकर बृहस्पतिवार को सदर तहसील अखाड़ा बनी। रजिस्ट्री दफ्तर में दो पक्ष अपनी-अपनी दावेदारी जताते हुए भिड़ पड़े। तहसील परिसर में मारपीट और लात घूसे चलने से भगदड़ मच गई। पुुलिस ने समय पर पहुंचकर तीन लोगों को कस्टडी में लिया गया। देर रात तक पुलिस के कागजातों में उलझने से मामले में कार्रवाई नहीं हो सकी।
मोहल्ला दरबारे कलां में स्थित पुलिस क्वार्टर के पास एक प्लाट खाली पड़ा है। जिसके मालिकाना हक को लेकर अदालत में मुकदमा विचाराधीन है, लेकिन कुछ दिन पूर्व मछरट्टा के एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी के नाम फर्जी तरीके से प्लाट का इकरार नामा करा लिया। इसकी भनक पर मुरादाबादी गेट निवासी दो लोगों ने गुरुवार को तहसील में अपनी पहरेदारी शुरू कर दी।
दोपहर बाद वह व्यक्ति भी अपनी पत्नी और समर्थकों के साथ तहसील पहुंचा, तो वहां मौजूद लोगों ने उसे घेर लिया। कहासुनी और नोकझोंक के बीच दोनों पक्षों में जमकर मारपीट हुई। हंगामे पर वकीलों ने भी दौड़ाया। तहसील में टकराव की खबर पर पहुंची पुलिस महिला समेत चार लोगों को हिरासत में लेकर कोतवाली ले आई। हंगामे से तहसील परिसर में अफरातफरी और भगदड़ का माहौल रहा।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

अब मस्जिदें भी भगवा रंग में रंगी नजर आएंगी: आजम खान

हज हाउस की दीवारों को भगवा रंग से पेंट कराए जाने पर समाजवादी पार्टी ने सूबे की बीजेपी सरकार पर हमला बोला है।

6 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls