विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020
Astrology Services

हनुमान जयंती पर नौकरी प्राप्ति, आर्थिक उन्नत्ति, राजनीतिक सफलता एवं शत्रुनाशक हनुमंत अनुष्ठान - 8 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

From nearby cities

Uttarakhand Lockdown Live: रुड़की में पुलिस और प्रशासन ने मौलवी को साथ लेकर की लॉकडाउन का पालन करने की अपील

तब्लीगी जमात में गए उत्तराखंड निवासी 12 लोगों में कोरोना पॉजिटिव पाया जा चुका है। कोरोना संक्रमितों की संख्या अब 19 हो गई है। 

4 अप्रैल 2020

विज्ञापन
विज्ञापन

अल्मोड़ा

शनिवार, 4 अप्रैल 2020

लॉकडाउन के बीच बाट माप विभाग के निरीक्षण से भड़के रानीखेत के व्यापारी

रानीखेत (अल्मोड़ा)। कोरोना संक्रमण को लेकर चल रहे लॉकडाउन के बीच नगर में पहुंची बाट माप विभाग की टीम कई दुकानों का निरीक्षण कर कई तराजुओं की जांच की। तौल यंत्रों का नवीनीकरण न होने पर तीन व्यापारियों के खिलाफ जुर्माने की कार्रवाई भी की गई। इसका व्यापारियों ने विरोध कर दिया। कहा कि आजकल अधिकतर दुकानें बंद हैं, ऐसे में जांच का औचित्य नहीं है।
वरिष्ठ निरीक्षक एलएम पंत के नेतृत्व में विभाग की तरफ से यह अभियान चलाया गया था। इससे भड़के व्यापारियों ने आक्रोश जताया। वरिष्ठ व्यापारी और भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष दीप भगत और एलएन पांडेय ने भी निरीक्षण करने पहुंचे अधिकारियों से वार्ता कर इस कार्रवाई का विरोध किया। बाद में पुलिस ने भी टीम से पूछताछ कर जरूरी प्रपत्रों को देखा। वरिष्ठ निरीक्षक पंत ने बताया कि विभागीय निर्देश के बाद ही बाजारों में चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है।
व्यापार संघ अध्यक्ष बोले व्यापारियों का उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं
रानीखेत (अल्मोड़ा)। व्यापार मंडल अध्यक्ष भी बाट माप विभाग की इस अचानक कार्रवाई से संतुष्ट नहीं हैं। उनका कहना है कि लॉकडाउन के कारण व्यापारी पहले से ही नुकसान झेल रहे हैं। ऐसे में विभागों के तुगलकी फरमान चल रहे हैं। लॉकडाउन के बीच की जा रही चेकिंग समझ से परे है। व्यापारियों के उत्पीड़न को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
... और पढ़ें

अल्मोड़ा में लॉकडाउन की ढील के दौरान बाजार में लोगों की भीड़ कम दिखाई दी

रानीखेत में सामाजिक दूरी का हो रहा पालन

तब्लीगी जमात से जुड़े चारों जमातियों के नमूने सुशील तिवारी अस्पताल भेजे

शेल्टर होम में रहने वाले 59 लोग 15 से 42 साल के

जैंती तहसील के दूरस्थ गांवों में नहीं पहुंच पा रहे सिलेंडर

अल्मोड़ा। लॉकडाउन के चलते जैंती तहसील के अंतर्गत दर्जनों गांवों में रसोई गैस सिलिंडर की आपूर्ति नहीं हो पा रही है। इससे उपभोक्ताओं को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। लोगों की मांग पर अब प्रशासन ने इन गांवों को जोड़ने वाले लिंक मार्गों में पिकप से रसोई गैस सिलिंडर पहुंचाने का निर्णय लिया है।
जैंती तहसील के मुख्य मार्गों में स्थित गांवों में रसोई गैस की आपूर्ति हो रही है, जबकि लिंक मार्गों में रसोई गैस का वाहन नहीं जाता है। इससे इन क्षेत्रों के लोग अन्य वाहनों से खाली सिलिंडर लेकर मुख्य मार्ग में स्थित वितरण स्थल पर पहुंचते थे और सिलिंडर रीफिल कर वाहनों के जरिए घरों को ले जाते थे, लेकिन लॉकडाउन होने से वाहनों का संचालन भी बंद है। हालांकि गैस एजेंसी मुख्य मार्गों में वितरण स्थल तक सिलिंडर पहुंचा रही है, लेकिन वाहनों के न चलने से ऐसे में लिंक मार्गों से जुड़े गांवों के लोग सिलिंडरों से वंचित हो जा रहे हैं। क्षेत्र के दर्जनों गांव लिंक मार्गों से जुड़े हैं। इन गांवों में करीब एक से डेढ़ हजार रसोई गैस के उपभोक्ता हैं। कांग्रेस के ब्लॉक अध्यक्ष दीवान सिंह सतवाल ने जैंती की एसडीएम मोनिका को ज्ञापन सौंपकर इन गांवों को जोड़ने वाले लिंक मार्गों में पिकप वाहन से रसोई गैस की आपूर्ति करने की मांग उठाई है, ताकि इन क्षेत्रों में रसोई गैस की किल्लत दूर हो सके।
लिंक मार्गों में स्थित इन गांवों में है रसोई गैस की किल्लत
मेरगांव, उन्यूड़ा, गुटोली, बलिया, बैगनियां, अनुली, विशोदकोट, धरखोला, सत्यों, रालाकोट, असोटा, सिलखोड़ा, भैसोड़ा, रतखान, चौमू, हुना, खिरोली, जसकोट, बजेठी, बैजीटाना, मलता, निश्नी, अनरियाकोट, तुलेड़ी, तोली, खरशु, गोना, भटखोला, बघाड़, नौरा, छतोला, बलमा, उन्यूड़ा, ठानामठेना, कपकोट, गैलाकोट, मलाड़ी, जोशीधूरा, छाना ढौरा, सिरसोड़ा आदि।
लिंक मार्गों से जुड़े जिन गांवों में रसोई गैस की किल्लत है, उन क्षेत्रों में छोटे वाहन पिकप से सिलिंडरों की एक दो दिन में आपूर्ति करने की व्यवस्था शुरू की जाएगी।
- मोनिका, एसडीएम, जैंती/भनोली (अल्मोड़ा)
... और पढ़ें

अल्मोड़ा में बाहर से लौटे पांच हजार प्रवासियों की सूची तैयार

अल्मोड़ा। लॉकडाउन के दौरान जिले की सीमाएं सील कर दी गई हैं। इसके बाद से आवाजाही पूरी तरह प्रतिबंधित है। इससे पहले जिले में बाहर से आए लोगों पर प्रशासन की कड़ी नजर हैै। डीडीओ केके पंत ने बताया कि पिछले दिनों पांच हजार से अधिक लोग बाहर से घर लौटे हैं। इन लोगों की सूची बनाई गई है। इन लोगों के स्वास्थ्य पर भी नजर रखी जा रही है। उनके स्वास्थ्य के बारे में लगातार जानकारी ली जा रही है। उन्हें स्वयं को होम क्वारंटीन करने के निर्देश भी दिए गए हैं। एसडीएम सीमा विश्वकर्मा ने बताया कि जिले की सीमाओं पर लोधिया, शहरफाटक, भुजान, मोहान, मोतियापाथर नामक कुल पांच स्थानों पर बैरियर बनाए गए हैं। जहां स्वास्थ्य विभाग की टीम बाहर से आने वाले लोगों की स्क्रीनिंग कर रही है। ... और पढ़ें

होम क्वारंटीन का पालन कराने को प्रशासन और पुलिस सख्त

रानीखेत (अल्मोड़ा)। होम क्वारंटीन का पालन कराने के लिए पुलिस और प्रशासन ने सख्त रवैया अपनाया है। नगर क्षेत्र और आसपास का इलाका पुलिस के पास है। पिछले दिनों सरना गार्डन, खड़ी बाजार क्षेत्र से 11 जमातियों को क्वारंटीन सेंटर भेजा गया है। उनके परिजनों को भी होम क्वारंटीन किया गया है। उन्हें फालतू घूमने से रोकने के लिए इन इलाकों में पुलिस निरंतर निगरानी कर रही है, जबकि गांवों में राजस्व पुलिस की टीम ने गश्त बढ़ा दी है।
रानीखेत क्षेत्र में बीते दिनों देश और विदेश से भी कई लोग अपने गांव पहुंचे थे। यहां विदेश से 17 लोग आए थे, जिनमें से अधिकतर लोगों की क्वारंटीन अवधि खत्म होने की सूचना है। छह से सात लोग अभी भी होम क्वारंटीन पर हैं। डॉक्टरों ने बाहर से आने वाले लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग भी की हुई है। हालांकि होम क्वारंटीन पर सभी लोग स्वस्थ बताए जा रहे हैं, जबकि दिल्ली, मुंबई सहित तमाम महानगरों से गांव लौटे लोग भी होम क्वारंटीन पर हैं। नायब तहसीलदार ने बताया कि गांवों में प्रधानों और पटवारियों को जिम्मेदारी सौंपी गई है। फालतू न घूमने देने के निर्देश दिए गए हैं। होम क्वारंटीन हुआ व्यक्ति लोगों से भी मेलजोल नहीं बढ़ा सकता है। उन्होंने बताया कि फालतू घूमने अथवा किसी अन्य तरह की शिकायतें नहीं आई हैं।
क्वारंटीन से आज छूटेंगे सात जमाती
रानीखेत (अल्मोड़ा)। एसडीएम अभय प्रताप सिंह ने बताया कि रानीखेत में मिले 11 जमातियों में से सात जमातियों को कल क्वारंटीन सेंटर से छोड़ दिया जाएगा। उन्हें एहतियात बरतने के निर्देश दिए जाएंगे। हालांकि सातों 13 फरवरी को पीलीभीत यूपी की जमात से लौटे थे। उन्होंने बताया कि सभी सातों स्वस्थ हैं। उनके परिजन भी होम क्वारंटीन पर हैं।
... और पढ़ें

Uttarakhand Lockdown: सोशल मीडिया में भ्रामक पोस्ट डालने पर दो युवकों के खिलाफ कार्रवाई

साधारण बीमारी के रोगियों के नहीं आने से अस्पतालों में नहीं लग रही अब भीड़

संवाद न्यूज़ एजेंसी अल्मोड़ा। लॉकडाउन के बाद से अस्पतालों में साधारण रोगियों के पहुँचने की संख्या में काफी कमी देखने को मिली है। पिछले एक हफ्ते में अस्पतालों में हर रोज की 450 से 500 की ओपीडी अब 100 से 150 तक सिमट गई है। अस्पतालों में भर्ती मरीज और उनके तीमारदार भी लॉकडाउन का पालन करते दिख रहे हैं जिला मुख्यालय में बेस अस्पताल को जिला प्रशासन की ओर से क्वारन्टीन सेंटर बनाने के बाद लगा था कि जिला और महिला अस्पताल में रोगियों की संख्या में इजाफा होगा। एक दो दिन भीड़ दिखाई भी दी लेकिन अब करीब एक हफ्ते से जिला और महिला अस्पतालों में भीड़ नहीं दिख रही है। डॉक्टरों के चैम्बर भी कुछ ही देर में खाली हो जाते है और अस्पताल में सूनसानी पसर रही है। अस्पताल में भर्ती मरीज और उनके तीमारदार भी लॉक डाउन का पालन करते हुए दिखाई दे रहे हैं। अस्पताल प्रशासन भी गंभीर रोगियों को ही भर्ती कर रहा है। डॉक्टर को दिखाने के बाद लोग अनावश्यक अस्पताल नहीं घूम रहे। जिससे डॉक्टर भी राहत महसूस कर रहे हैं। ... और पढ़ें

छोटा हाथी से स्कूटी सवार को लगी चोट, मुंह और जबड़े में टांके

अल्मोड़ा। चितई-आईटीआई मार्ग पर छोटा हाथी वाहन से टकराकर स्कूटी सवार युवक घायल हो गया। विश्वनाथ निवासी कैलाश सिंह बाड़ेछीना पेट्रोल पंप में काम करता है। बुधवार शाम कैलाश स्कूटी यूके04एम4788 पर सवार होकर पंप से विश्वनाथ स्थित घर जा रहा था। तभी अनियंत्रित स्कूटी चितई-आईटीआई के पास विपरीत दिशा से आ रहे छोटा हाथी की चपेट में आ गई। कैलाश स्कूटी समेत सड़क पर गिर कर घायल हो गया जबकि स्कूटी क्षतिग्रस्त हो गई। तभी वहां पहुंचे एनटीडी पुलिस चौकी प्रभारी संतोष देवरानी, त्रिलोक सिंह, विक्रम सिंह ने घायल कैलाश को जिला अस्पताल पहुंचाया। डॉ. प्रिया ने बताया कि कैलाश के जबड़े और मुंह में टांके लगाए गए हैं। उसके पैर में भी गंभीर चोट लगी। इसके बावजूद प्राथमिक उपचार के बाद उसे घर भेज दिया गया। ... और पढ़ें

लॉक डाउन के उल्लंघन पर नौ युवकों के खिलाफ कार्रवाई

अल्मोड़ा। जिले में लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर पुलिस ने नौ युवकों के विरुद्ध कार्रवाई की है। पुलिस ने बताया कि फुरहात खान निवासी टैक्सी स्टैंड अल्मोड़ा, कोतवाली रानीखेत में चान सिंह निवासी हाफमून लाईन, गजेंद्र सिंह निवासी हाफमून लाईन, मोहन सिंह निवासी रानीखेत, हेमंत मेहरा निवासी स्प्रिंगफील्ड रानीखेत, विक्रम सिंह निवासी रानीखेत, नितिन लाल निवासी रानीखेत, थाना चौखुटिया ने नादिर खान निवासी अफजलगढ़ बिजनौर, थाना लमगड़ा ने मोहन सिंह बगड़वाल निवासी नौरामुगल लमगड़ा के विरुद्ध उत्तराखंड पुलिस अधिनियम की धारा 81 के तहत कार्रवाई कर अर्थदंड वसूला। नियमों को तोड़ने पर 11 वाहन चालकों के चालान काटकर सात हजार पांच सौ रुपये अर्थदंड वसूला जबकि अल्मोड़ा खत्याड़ी निवासी देवाशीष बिष्ट की मोटरसाइकिल जब्त कर दी गई। ... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं

Disclaimer


हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर और व्यक्तिगत अनुभव प्रदान कर सकें और लक्षित विज्ञापन पेश कर सकें। अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।
Agree
Election
  • Downloads

Follow Us