स्कूल में धरना देंगे अभिभावक

Almora Updated Sun, 10 Jun 2012 12:00 PM IST
अल्मोड़ा। स्कूल में शिक्षकों की कमी दूर न होने से नाराज अभिभावकों ने जीआईसी लमगड़ा में सोमवार से धरना देने का ऐलान किया है। अभिभावकों ने कहा कि अब बच्चों के साथ खिलवाड़ बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
जिले के अधिकांश स्कूलों में शिक्षकों के पद वर्षों बाद भी नहीं भरे गए हैं। शिक्षकों की तैनाती नहीं होने से अभिभावकों में रोष बढ़ता जा रहा है। जीआईसी लमगड़ा में भी गणित, विज्ञान समेत अन्य विषयों में शिक्षकों के दस पद लंबे समय से रिक्त पड़े हैं। शिक्षकों के नहीं होने से कालेज में अध्ययनरत सात सौ छात्र-छात्राओं की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। अभिभावकों के कई बार निवेदन के बावजूद शिक्षकों के पद नहीं भरे जा सके हैं।
जीआईसी लमगड़ा में भौतिक विज्ञान, हिंदी, संस्कृत और भूगोल विषय के प्रवक्ता पद भी लंबे समय से खाली चल रहे हैं। शिक्षकों की तैनाती नहीं होने से इंटरमीडिएट में पढ़ने वाले छात्र-छात्राओं की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। एलटी में भी गणित, विज्ञान, अंग्रेजी, कला तथा सामान्य विषय का एक पद खाली पड़ा है। वर्तमान में स्कूल में करीब सात सौ छात्र-छात्राएं पढ़ रही हैं। शिक्षकों के नहीं होने से विद्यालय के शैक्षिक वातावरण पर भी असर पड़ रहा है। शिक्षकों की तैनाती को लेकर अभिभावक पहले भी कई बार आंदोलन भी कर चुके हैं, लेकिन आज तक मसला हल नहीं हुआ है। नाराज अभिभावकों ने विद्यालय प्रबंध समिति तथा शिक्षक अभिभावक संघ के तत्वावधान में रविवार से कालेज प्रांगण में धरना-प्रदर्शन करने का ऐलान किया है। विद्यालय प्रबंध समिति के अध्यक्ष बालम कपकोटी, अभिभावक संघ के अध्यक्ष अमर प्रकाश ने बताया कि शिक्षकों की तैनाती होने तक आंदोलन जारी रहेगा। इधर, लमगड़ा व्यापार मंडल ने भी अभिभावकों के आंदोलन को समर्थन जताया है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

अमित शाह के इस बयान पर उत्तराखंड कांग्रेस हुई हमलावर

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह द्वारा राहुल गांधी पर की गई टिप्पणी के बाद उत्तराखंड कांग्रेस आग-बबूला हो गई है।

21 सितंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls