विज्ञापन
विज्ञापन
संतान की शिक्षा को लेकर हैं परेशान ? तो आज ही बुक करें पौष पूर्णिमा पर हरिद्वार में पूजन
Astrology

संतान की शिक्षा को लेकर हैं परेशान ? तो आज ही बुक करें पौष पूर्णिमा पर हरिद्वार में पूजन

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

यूपी को पीएम की सौगात, बोले- प्रधानमंत्री आवास योजना ने गांवों की तस्वीर बदल दी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए उत्तर प्रदेश के 6.10 लाख लाभार्थियों को प्रधानमंत्री आवास योजना-ग्रामीण के अंतर्गत लगभग 2,691 करोड़ रुपये की सहायता राशि जारी कर दी है।

'एक तरफ अपराधियों और दंगाइयों पर सख्ती और दूसरी तरफ कानून व्यवस्था पर नियंत्रण'
पीएम मोदी ने कहा कि एक तरफ अपराधियों और दंगाइयों पर सख्ती और दूसरी तरफ कानून व्यवस्था पर नियंत्रण। एक तरफ अनेक एक्सप्रेस वे का तेजी से चल रहा काम, तो दूसरी तरफ एम्स जैसे बड़े संस्थान। मेरठ एक्सप्रेस वे से लेकर बुंदेलखंड गंगा एक्सप्रेस वे तक उत्तर प्रदेश में विकास की रफ्तार तेज करेंगे।

यूपी सरकार ने केंद्र सरकार की योजनाओं को तेजी से आगे बढ़ाया: मोदी
पीएम मोदी ने कहा कि बीते चार वर्षों में उत्तर प्रदेश की सरकार ने केंद्र सरकार की योजनाओं को जिस तेजी से आगे बढ़ाया है, उससे UP को एक नई पहचान भी मिली है और नई उड़ान भी मिली है।

'कोशिश है मूलभूत सुविधाओं में गांव और शहर के बीच का अंतर कम किया जा सके' 
पीएम मोदी ने कहा कि आज देश की कोशिश है कि मूलभूत सुविधाओं में गांव और शहर के बीच का अंतर कम किया जा सके। गांव में सामान्य मानवी के लिए भी जीवन उतना ही आसान हो जितना बड़े शहरों में है। प्रधानमंत्री आवास योजना को शौचालय, बिजली और पानी जैसी मूलभूत सुविधाओं से भी जोड़ा जा रहा है।

यूपी में करीब 22 लाख ग्रामीण आवास बनाए जाने: मोदी
पीएम ने कहा कि आज योगी सरकार की सक्रियता का परिणाम है कि यहां आवास योजना के काम की गति भी बदल गई और तरीका भी बदल गया है। यूपी में करीब 22 लाख ग्रामीण आवास बनाए जाने हैं। इनमें से 21.5 लाख घरों को बनाए जाने की स्वीकृति भी दी जा चुकी है।

योजना में जितने भी घर बन रहे हैं, सबके लिए पैसा सीधे गरीबों के बैंक खातों में दिया जा रहा: पीएम
पीएम मोदी ने कहा कि इस पूरे अभियान की सबसे खास बात यह है कि जितने भी घर बन रहे हैं, सबके लिए पैसा सीधे गरीबों के बैंक खातों में दिया जा रहा है। किसी भी लाभार्थी को तकलीफ न हो, भ्रष्टाचार का शिकार न होना पड़े। केंद्र और UP सरकार मिलकर इसके लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं।

अकेले इस योजना के तहत करीब सवा करोड़ घरों की चाबी लोगों को दी: पीएम
पीएम मोदी ने कहा कि देश ने आजादी के 75 वर्ष पूरे होने तक हर गरीब परिवार को पक्का घर देने का लक्ष्य तय किया था। बीते वर्षों में लगभग दो करोड़ घर सिर्फ ग्रामीण इलाकों में बनाए गए हैं। अकेले प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत भी करीब सवा करोड़ घरों की चाबी लोगों को दी जा चुकी है।

आत्मनिर्भर भारत का सीधा संबंध देश के नागरिकों के आत्मविश्वास से है: मोदी
पीएम मोदी ने कहा कि आत्मनिर्भर भारत का सीधा संबंध देश के नागरिकों के आत्मविश्वास से है और घर एक ऐसी व्यवस्था और ऐसा सम्मानजनक तोहफा है जो इंसान का आत्मविश्वास कई गुना बढ़ा देता है।

पहले जो सरकारें रही उस दौरान उत्तर प्रदेश में क्या स्थिति थी ये आप सभी ने देखा: पीएम
पीएम ने कहा कि पहले जो सरकारें रही उस दौरान उत्तर प्रदेश में क्या स्थिति थी ये आप सभी ने देखा है। गरीब को ये विश्वास ही नहीं था कि सरकार भी घर बनाने में उसकी मदद कर सकती है। जो पहले की आवास योजनाएं थीं, जिस तरह से घर उनके तहत बनाएं जाते थें, वो भी किसी से छिपा नहीं है।

अब आपके परिवार के लिए अगली सर्दी इतनी कठिन नहीं होगी: मोदी
पीएम ने कहा कि आज 80 हजार परिवार ऐसे भी हैं जिन्हें उनके मकान की दूसरी किस्त मिल रही है। अब आपके परिवार के लिए अगली सर्दी इतनी कठिन नहीं होगी। अगली सर्दी में आपका अपना घर भी होगा और घर में सुविधाएं भी होंगी।

5 लाख से ज्यादा परिवारों को पहली मिली है: मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज एक साथ यूपी के 6 लाख से ज्यादा परिवारों को सीधे उनके बैंक खाते में करीब-करीब 2,700 करोड़ रुपये ट्रांसफर की गई है। इनमें से 5 लाख से ज्यादा परिवार ऐसे हैं जिन्हें घर बनाने के लिए उनकी पहली किस्त मिली है।

इस योजना के साथ करोडों लोगों की उम्मीदें और सपनें जुड़ें हैं: मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस योजना के साथ करोडों लोगों की उम्मीदें और सपनें जुड़ें हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना ने गरीब से गरीब को भी ये विश्वास दिलाया है कि हां आज नहीं तो कल मेरा भी अपना घर हो सकता है।

इतने कम समय में इस योजना ने देश के गांवों की तस्वीर बदलनी शुरू कर दी: मोदी
पीएम ने कहा कि पांच वर्ष पहले मुझे उत्तर प्रदेश के आगरा से प्रधानमंत्री आवास योजना का शुभारंभ करने का सौभाग्य मिला था। इतने कम समय में इस योजना ने देश के गांवों की तस्वीर बदलनी शुरू कर दी है।

पीएम मोदी ने दी बधाई
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आप सभी को, खास तौर से माताओं बहनों को बहुत बहुत बधाई। आपका अपना घर, सपनों का घर बहुत जल्द आपको मिलने वाला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज दशम गुरु श्री गुरु गोविंद सिंह जी का प्रकाश पर्व भी है। इस पवित्र अवसर पर मैं गुरु गोविंद सिंह जी के चरणों में प्रणाम करता हूं। मैं सभी देशवासियों को प्रकाश पर्व की हार्दिक बधाई भी देता हूं। गुरु साहब मुझ सेवक से निरंतर सेवाएं लेते रहे हैं। सेवा और सत्य के पथ पर चलते हुए बड़ी से बड़ी चुनौती से भी लड़ने की प्रेरणा हमें गुरु गोविंद सिंह जी के जीवन से मिलती है। पीएम मोदी ने कहा कि गुरु गोविंद सिंह जी के दिखाए इस मार्ग पर देश आगे बढ़ रहा है। गरीब, पीड़ित, वंचित, शोषित की सेवा के लिए उनका जीवन बदलने के लिए आज देश में अभूतपूर्व काम हो रहा है।

पीएम मोदी ने लाभार्थियों से की बात
इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूपी के लाभार्थी से बात की। लखीमपुर खीरी के रहने वाले नागरिक ने पीएम मोदी को बताया कि उनका घर लगभग पूरा बन गया है। आगे कहा कि एक लाख से ऊपर की राशि आसानी से मिल गई। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बच्चों की पढ़ाई की जानकारी भी ली। 

पीएम मोदी ने चित्रकूट की राजकुमारी से की बात
इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चित्रकूट की राजकुमारी से वार्ता की। पीएम ने राजकुमारी से पूछा कि कच्ची छत के घर में बारिश का पानी आता था, लेकिन अब पक्का घर बन रहा है जो सरकार ने फायदा दिया है।

पीएम मोदी ने सहारनपुर की लाभार्थी से चर्चा की
अयोध्या की कुमकुम से भी पीएम मोदी ने बात की। कार्यक्रम में आगे प्रधानमंत्री ने वाराणसी की कमला देवी से बात की। उनसे उनके घर के बारे में जानकारी ली। इसके बाद पीएम मोदी ने सहारनपुर की लाभार्थी से चर्चा की। पीएम ने उनसे पूछा कि क्या आपको कोई रिश्वत देनी पड़ी, जिसपर लाभार्थी ने कहा कि उनके घर पर ही अधिकारी आए थे और फोटो लेकर गए, सारा काम हो गया था। 

कार्यक्रम में सीएम योगी ने भी मौजूद हैं। इस दौरान सीएम योगी ने कहा कि आज प्रदेश के हर शहर में इस योजना के तहत काम चल रहा है, नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में लोगों को अधिक मदद दी जा रही है। 





... और पढ़ें
पीएम मोदी ने जारी की मदद पीएम मोदी ने जारी की मदद

सहारनपुर: सीबीआई ने निलंबित डीएसपी राजीव ऋषि के घर पर मारा छापा, कार्रवाई जारी

उत्तर प्रदेश में सहारनपुर जनपद के देवबंद स्थित पंजाबी कॉलोनी में आज सुबह 10 बजे सीबीआई की टीम ने छापा मारा है। सीबीआई में गाजियाबाद में डीएसपी के पद पर तैनात राजीव ऋषि के घर पर टीम पहुंची। बताया गया कि कुछ दिन पहले गाजियाबाद में हुए रिश्वत कांड में राजीव ऋषि को सस्पेंड किया गया था। इसी के चलते सीबीआई की टीम ने राजीव के घर छापा मारा है। टीम कार्रवाई में जुटी है।

ये हुई थी कार्रवाई
बता दें कि जांच एजेंसी ने बीते गुरुवार को गाजियाबाद स्थित प्रशिक्षण अकादमी और 13 अन्य स्थानों पर छापेमारी की थी। इस दौरान रिश्वत लेने के मामले में डीएसपी राजीव ऋषि समेत चार कर्मियों के खिलाफ केस दर्ज किया गया था। बैंक धोखाधड़ी की आरोपित कंपनियों के खिलाफ जांच प्रभावित करने के लिए कथित रूप से रिश्वत लेने पर सीबीआई ने डीएसपी राजीव ऋषि को निलंबित किया था।

यह भी पढ़ें: 
सनसनीखेज वारदात: बलकटी से काटकर हत्या, खेत में पड़ी मिली लाश, जांच में जुटे अफसर

इन पर हुई थी कार्रवाई
डीएसपी राजीव ऋषि और आरके सांगवान, इंस्पेक्टर कपिल धनकड़ और स्टेनो समीर कुमार सिंह पर कार्रवाई हुई थी। सीबीआइ प्रवक्ता आरसी जोशी ने बताया था कि गुरुवार को 14 स्थानों पर आरोपियों के परिसरों की तलाशी ली गई। इनमें दिल्ली, गाजियाबाद, नोएडा, गुरुग्राम, मेरठ और कानपुर शामिल हैं।

नोट- इन खबरों के बारे आपकी क्या राय हैं। हमें फेसबुक पर कमेंट बॉक्स में लिखकर बताएं।

शहर से लेकर देश तक की ताजा खबरें व वीडियो देखने लिए हमारे इस फेसबुक पेज को लाइक करें


https://www.facebook.com/AuNewsMeerut/
... और पढ़ें

यूपी: महिला की हत्या कर शव जंगल में फेंका, पति बोला-किसी ने फोन करके बुलाई थी, आखिरी कॉल खोलेगी राज

उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले के वजीरगंज इलाके में सोमवार रात एक महिला की गला घोंटकर हत्या कर दी गई। उसका शव गांव के बाहर जंगल में पड़ा मिला। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। मां की ओर से मृतका के पति, सास-ससुर समेत पांच लोगों के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। फिलहाल पुलिस आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी गई है। 

वजीरगंज थाना क्षेत्र के ग्राम रूपपुरा निवासी उमेश की पत्नी मिथलेश (30) सोमवार रात शौच जाने की बात कहकर घर से निकली थीं। जब वह देर रात घर नहीं लौटी तो परिवार वालों को चिंता हुई। पति उमेश और देवर संजीव देर रात तक महिला को तलाशते रहे, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला। उमेश मुताबिक जब उसकी पत्नी नहीं मिली तो वह रात में अपनी ससुराल कुंवरगांव थाना क्षेत्र के ग्राम इमलिया गए। वहां भी मिथलेश नहीं पहुंची थी। 

इधर, मंगलवार सुबह करीब दस बजे उसी गांव का एक व्यक्ति अपने मवेशी चराने गया। वहां एक खेत में महिला की लाश देखकर उसके होश उड़ गए। उसकी सूचना पर ग्राम प्रधान का पति लालता प्रसाद मौके पर गए। उनकी सूचना पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। 

चर्चा फैलने पर पहुंचे परिजन ने शव की शिनाख्त की। इसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इस दौरान चर्चा रही कि महिला की दुष्कर्म के बाद हत्या की गई है। उसके गले में दुपट्टा कसा हुआ मिला है। इससे माना जा रहा है कि उसकी हत्या गला घोंटकर की गई होगी। 
... और पढ़ें

यूपी: चंदौसी में नौ दिन से गायब महिला का कंकाल मिला, पुलिस ने पति व ससुर को किया गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश के संभल जिले के चंदौसी में नौ दिन से गायब महिला का कंकाल मिलने से हड़कंप मच गया है। पुलिस ने पति व उसके ससुर को गिरफ्तार किया है। फिलहाल पुलिस मामले की जांच में जुटी है। 

मोहल्ला शिव धाम कालोनी निवासी 22 वर्षीय लक्ष्मी 11 जनवरी से गायब थी। लक्ष्मी की मां कमलेश ने पुलिस को तहरीर देकर पति व ससुर पर बेटी का अपहरण कर हत्या करने का आरोप लगाया था। 

बुधवार को कोतवाली क्षेत्र में गांव बर्रई के पास सोत नदी के पुल ने नीचे महिला के कपड़े, बाल व शव के कुछ अवशेष पड़े मिले। पुलिस की सूचना पर पहुंची ने मां कमलेश ने कपड़ों के आधार पर उसकी शिनाख्त बेटी लक्ष्मी के रूप में की है। पुलिस ने आरोपी पति वैभव व ससुर संजीव को हिरासत में ले लिया है।
... और पढ़ें

गुलदार को देख अटकी चार युवकों की सांसें, फिर पेड़ पर चढ़कर बचाई जान, पढ़िए कैसा था खौफनाक सीन

मौके पर जांच करने पहुंची पुलिस
उत्तर प्रदेश के बिजनौर में गुलदार की दहशत से ग्रामीण परेशान हैं। मंगलवार को हरवेली क्षेत्र में खेतों पर काम करने गए चार युवकों ने मादा गुलदार को अपनी तरफ आता देख पेड़ पर चढ़कर जान बचाई। युवकों ने मोबाइल फोन से परिजनों को सूचित किया। सूचना पर ग्रामीण इकट्ठा होकर लाठी-डंडे लेकर घटनास्थल की तरफ दौड़े। ग्रामीणों ने किसी तरह गुलदार को जंगल की ओर खदेड़ा और चारों युवकों को पेड़ से उतार कर सकुशल घर ले आए।

साहूवाला वन क्षेत्र से सटे गांव में भगौता, इनायतपुर, रामनगरगोसाई, शाहनगर कुराली आदि गांवों में गुलदार व हाथियों का आतंक है। गुलदार व हाथी गेहूं की फसलों को रौंदकर भारी नुकसान पहुंचा रहे हैं। किसानों को इकट्ठा होकर खेतों पर रखवाली के लिए जाना पड़ रहा है। मंगलवार देर शाम शाहनगर कुराली निवासी अजय कुमार, नवनीत, कलवा सिंह, हीरा सिंह आदि युवक खेत में गन्ने की छिलाई कर रहे थे। इसी दौरान एक मादा गुलदार शवक के साथ दहाड़ते हुए युवकों की तरफ दौड़ा, जिसे देख चारों युवक एक पेड़ पर चढ़ गए। बताया गया कि करीब एक घंटे तक वह पेड़ पर चढ़े रहे। मादा गुलदार शावकों को लेकर पेड़ के नीचे उछल कूद करने लगी।

यह भी पढ़ें: 
सनसनीखेज वारदात: बलकटी से काटकर हत्या, खेत में पड़ी मिली लाश, जांच में जुटे अफसर

इसके बाद युवकों ने अपने आप को घिरा देख मोबाइल फोन से परिजनों को सूचित किया। सूचना पर गांव के लोग इकट्ठा होकर खेतों की ओर दौड़े। ग्रामीणों ने बमुश्किल मादा गुलदार को जंगल की ओर खदेड़ा और चारों युवकों की जान बचाई। ग्रामीणों का कहना है कि सूचना वन विभाग को दी गई, लेकिन वन विभाग के कर्मचारियों ने आना जरूरी नहीं समझा। उधर, वन क्षेत्राधिकारी विरेंद्र सिंह रावत का कहना है कि ऐसा कोई मामला उनके संज्ञान में नहीं है।

यह भी पढ़ें: मेरठ: लापता युवती को तीन दिन से ढ़ूंढ रही थी पुलिस, खुद एसएसपी ऑफिस पहुंचकर बोली-प्रेमी से कर ली शादी
... और पढ़ें

यूपी में बड़े प्रशासनिक सुधार की तैयारीः कम होंगे विभाग, तेजी से होगा काम

प्रदेश की भाजपा सरकार प्रशासनिक सुधार की ओर बड़ा कदम उठाने की तैयारी कर रही है। सरकार ने मौजूदा 95 विभागों का पुनर्गठन कर 54 विभागों में एकीकृत करने की संस्तुतियों पर विचार शुरू कर दिया है। इसके लिए संबंधित विभागों से शीर्ष प्राथमिकता पर 20 जनवरी तक अपनी राय देने को कहा गया है।

मौजूदा सरकार ने तीन जनवरी-2018 को तत्कालीन अपर मुख्य सचिव संजय अग्रवाल की अध्यक्षता में विभागों के पुनर्गठन के लिए एक समिति का गठन किया था। इस समिति ने अपनी संस्तुतियों में शासन स्तर पर मौजूदा 95 विभागों का पुनर्गठन कर 57 तक सीमित करने का सुझाव दिया था। समिति की संस्तुतियों पर विचार-विमर्श के बाद विभागों की संख्या 57 की जगह 54 तक सीमित करने पर सहमति बनी। 

इस व्यवस्था पर अमल हो इसके पहले पिछले वर्ष रेरा के चेयरमैन व पूर्व मुख्य सचिव राजीव कुमार की अध्यक्षता में एक नई समिति का गठन किया गया। इस समिति को कर्मचारियों की संख्या के युक्तिकरण, प्रभावशीलता व दक्षता में सुधार तथा उनके उद्देश्यों के आकलन की व्यवस्था पर सुझाव देने को कहा गया। इस समिति ने भी अपनी संस्तुतियों में विभागों के पुनग्रर्ठन संबंधी संजय अग्रवाल समिति की संस्तुतियों पर अतिशीघ्र निर्णय लेकर कार्यवाही किए जाने की सिफारिश की है। राजीव कुमार समिति ने प्रशासनिक व्यवस्था में सुधार के लिए कई अन्य महत्वपूर्ण सुझाव भी दिए हैं।

शासन स्तर से समिति के सुझावों व संस्तुतियों पर अपर मुख्य सचिवों, प्रमुख सचिवों व सचिवों की राय मांगी गई है। अफसरों से कहा गया है कि वे प्रस्तावित कार्यवाही के संबंध में अपनी सुविचारित व सुस्पष्ट आख्या शीर्ष प्राथमिकता पर 20 जनवरी तक उपलब्ध कराएं। कौन विभाग किन विभागों, प्रभागों व संस्थाओं के एकीकरण, समायोजन या विलय संबंधी कार्यवाही करेगा, इसकी जानकारी विभागों को दे दी गई है।

सचिवालय प्रशासन विभाग करेगा विभागों का पुनर्गठन
सचिवालय प्रशासन विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि सचिवालय स्तर पर विभागों के पुनर्गठन तथा राजस्व व अन्य विभागों के संविलयन की कार्यवाही सचिवालय प्रशासन विभाग करेगा। समाज कल्याण, पिछड़ा वर्ग कल्याण, अल्पसंख्यक कल्याण, दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग का एकीकरण, अल्पसंख्यक वित्त विकास निगम, पिछड़ा वर्ग वित्त विकास निगम को एससी-एसटी वित्त एवं विकास निगम में एकीकृत करने की कार्यवाही समाज कल्याण विभाग करेगा।

वित्त विभाग के विभागाध्यक्ष कार्यालयों व निदेशालयों, प्रायोजना रचना एवं मूल्यांकन प्रभाग के पुनर्गठन व सुदृढ़ीकरण की जिम्मेदारी वित्त विभाग को दी गई है। सिंचाई व जल संसाधन तथा जल शक्ति विभागों का नए सिरे से निर्धारण सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग करेगा। नियोजन विभाग के अंतर्गत प्रभागों का पुनर्गठन नियोजन विभाग करेगा।

इसलिए पड़ी पुनर्गठन की जरूरत
  • कई विभागों में काम कम, कर्मचारी ज्यादा हैं। कहीं-कहीं कर्मचारियों का अभाव है। यह विसंगति दूर हो सकेगी।
  • एक ही तरह का काम अलग-अलग विभागों के माध्यम से हो रहा है। इससे कई तरह की विसंगति सामने आती है।
  • पुनर्गठन से प्रशासनिक व आर्थिक प्रबंधन भी बेहतर बनाने में मदद मिलेगी। कई स्तर पर खर्चों में कमी आने की उम्मीद है।
  • समय के साथ अप्रासंगिक हुए कार्यों से जुड़े पदों को समाप्त करने और नई आवश्यकताओं के लिए नए पद सृजित किए जा सकेंगे।
  • आम लोगों को एक ही तरह के काम के लिए कई जगह की दौड़धूप से राहत मिलेगी। तेजी से काम हो सकेगा।
 
... और पढ़ें

यूपीः सरकार के फरमान पर अखंड प्रताप को आजमगढ़ से बरेली जेल भेजा जाएगा, तीन और शातिर अपराधी जाएंगे बाहर

प्रतापगढ़ में मुठभेड़, तीन बदमाशों को लगी गोली, सिपाही भी घायल

उत्तर प्रदेश के प्रतापगढ़ में पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ की खबर है। मुठभेड़ के दौरान तीन बदमाशों को गोली लगी है। बदमाशों से मुठभेड़ में एक सिपाही भी गोली लगने से घायल हुआ है। घायल सिपाही और बदमाशों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

जानकारी के अनुसार बदमाशों के पास से तीन बाइक बरामद की गई हैं। पुलिस ने बताया कि तीनों बदमाश 90 लाख की डकैती में शामिल थे। बताया गया कि सात जनवरी को सर्राफा दुकान में घुसकर आधा दर्जन बदमाशो ने डकैती डाली थी और बदमाश 90 लाख के आभूषण लूटकर फरार हुए थे। 

इस मुठभेड़ में सीओ सिटी अभय पाण्डेय और प्रभारी नगर कोतवाल कमलेश कुमार शामिल थे। मुठभेड़ एसओजी टीम के साथ हुई। घटना  नगर कोतवाली के रामलीला मैदान की बताई जा रही है।
... और पढ़ें
Election
  • Downloads

Follow Us

विज्ञापन
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X