सोनभद्र : पीड़ितों से मिलीं प्रियंका गांधी, बोलीं- निर्दोष लोगों पर लगे मुकदमे वापस ले योगी सरकार

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, सोनभद्र Published by: गीतार्जुन गौतम Updated Tue, 13 Aug 2019 09:29 PM IST
पीड़ितों से बातचीत करतीं प्रियंका गांधी।
पीड़ितों से बातचीत करतीं प्रियंका गांधी। - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें
कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा मंगलवार दोपहर डेढ़ बजे करीब सोनभद्र के उभ्भा गांव पहुंचीं। यहां पर उन्होंने 17 जुलाई को हुए भूमि विवाद में मारे गए लोगों के आश्रितों और घायलों के पीड़ितों का हालचाल जाना।
विज्ञापन


उभ्भा गांव जाकर कांग्रेस महासचिव ने उस जगह का मुआयना किया जहां, 17 जुलाई को गोलीबारी हुई थी। जिसमें 10 लोगों की मौत और 28 लोग घायल हुए थे। प्रियंका गांधी ने बताया कि करीब 80-90 निर्दोष लोगों के खिलाफ मुकदमे दर्ज किए गए हैं। वहीं महिलाओं पर भी गुंडा एक्ट लगाया गया है। उन्होंने कहा कि सरकार अगर कोई कार्रवाई करे तो, जिन पर फर्जी मुकदने लगाए गए हैं, उन्हें वापस लिया जाए। क्योंकि ये लोग पहले से ही प्रताड़ित हैं, जिन पर अत्याचार हुआ है।




प्रियंका को प्रोटोकाल के हिसाब से करीब ढाई बजे ही लौटना था लेकिन उन्होंने एक घंटा अधिक समय ग्रामीणों के बीच बिताया और करीब साढ़े तीन बजे वाराणसी के लिए रवाना हुईं। प्राथमिक विद्यालय परिसर में उन्होंने मृतकों के परिजन सीता, फूलमती, अमरावती, घायल भोला, शुभवंती, रामलक्षण, संतोष से मुलाकात की। उनका दुख दर्द सुना।

प्रियंका गांधी ने उनसे पूछा कि सरकार ने जो घोषणा की थी, वे सुविधाएं उन्हें मिली या नहीं, घायलों का उपचार ठीक से हो रहा है या नहीं? फिर आश्वस्त किया कि कांग्रेस उनके साथ है। उनके अधिकार के लिए कांग्रेस हर लड़ाई लड़ने को तैयार है। करीब एक घंटे ग्रामीणों के बीच बैठकर बिताने के बाद प्रियंका घटना स्थल पर पहुंची। उनके साथ वाहन पर गांव की जिरावती व किसमतिया पर भी थीं। वहां उन्होंने मौके का मुआयना किया और दोनों महिलाओं से घटना की जानकारी ली।

करीब 20 मिनट घटनास्थल पर रहने के बाद वे जिरावती के घर गईं। वहां घटना में घायल जिरावती के देवर नागेंद्र, रमाशंकर, चंद्रेश का हालचाल किया। फिर नन्हू और नंदलाल के घर पहुंची। इन दोनों के घर से एक-एक की मौत हुई है। नन्हू और नंदलाल से भी बातचीत कर हाल जाना। जब वे घटनास्थल की ओर बढ़ीं तो दो महिलाएं फर्जी मुकदमे की बात कर आपस में झगड़ने लगीं। हालांकि वहां मौजूद लोगों ने दोनों को अलग शांत कराया।

अनुच्छेद 370 पर प्रियंका गांधी ने बात करते हुए कहा कि कांग्रेस की स्पष्ट राय है। जम्मू और कश्मीर से अनुच्छेद 370 संविधान को नकारते हुए हटाई गई है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने हमेशा संविधान और लोकतंत्र के लिए लड़ाई लड़ी है। हम उस लड़ाई को लड़ते रहेंगे। ये कांग्रेस की स्पष्ट राय है। ज्योतिरादित्य सिंधिया को लेकर कहा कि हमारी उनकी भी यही राय है, जो कांग्रेस पार्टी है। प्रियंका गांधी ने बताया कि कांग्रेस पार्टी में हर बात पर चर्चा होती है, और उन पर विचार विमर्श होता है। भाजपा में लोगों की आवाज दबाई जाती है।


 

कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा मंगलवार को सुबह 10 बजे करीब वाराणसी एयरपोर्ट पहुंचीं। बाबतपुर एयरपोर्ट पर पूर्व सांसद डॉ राजेश मिश्र, कांग्रेस नेता अजय राय, पूर्व विधायक ललितेश पति त्रिपाठी सहित कांग्रेस नेताओं ने प्रियंका गांधी को गुलदस्ता देकर स्वागत किया।

इसके बाद वह सोनभद्र के उभ्भा गांव के लिए रवाना हो गईं। सोनभद्र जाते समय प्रियंका गांधी उस जगह पहुंचीं, जहां उनका पहले काफिला रोका गया था। यहां वह कांग्रेस कार्यकर्ताओं से मिलीं। मिर्जापुर जिले के नरायनपुर में लोगों ने स्वागत किया और फूलमाला पहनाई। करीब दो मिनट रुकने के बाद काफिला आगे बढ़ गया।



सोमवार को प्रियंका गांधी वाड्रा के सुरक्षाकर्मियों ने कार्यक्रम स्थल का भ्रमण कर जायजा लिया। उधर, इस कार्यक्रम को लेकर जिला प्रशासन अलर्ट था। उभ्भा गांव में 17 जुलाई को आदर्श कृषि सहकारी समिति की जमीन को लेकर दो पक्षों में खूनी संघर्ष हुआ था।

इसमें प्रधान पक्ष के लोगों ने दस लोगों की हत्या कर दी थी और 24 लोगों को घायल कर दिया था। घटना के बाद पीड़ित परिवार से मिलने उभ्भा जा रहीं प्रियंका गांधी वाड्रा को मिर्जापुर के नरायनपुर में पुलिस ने रोक दिया था। इससे खफा होकर प्रियंका समर्थकों के साथ धरने पर बैठ गईं थीं।



इसके बाद पुलिस उन्हें चुनार किले में ले गई जहां दूसरे दिन उभ्भा के पीड़ितों से मुलाकात कर प्रियंका लौट गईं थी। दोबारा प्रियंका के उभ्भा पहुंचने का कार्यक्रम प्रस्तावित होने के बाद उनके सुरक्षाकर्मी सोमवार को जिले में पहुंच गए।

अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग और महाप्रबंधक जेपी इंडस्ट्रीज लिमिटेड को 12 और 13 अगस्त को चार-चार सूट आरक्षित करने का निर्देश दिया गया है। सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी को एक मिनी ट्रक, पांच छोटे वाहन मय चालक मंगलवार को पुलिस लाइन में उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया है।

पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी ने प्रियंका गांधी के आगमन के मद्देनजर उभ्भा समेत आसपास के गांवों में सुरक्षाकर्मियों की तैनाती कर दी है। साथ ही उन्हें संदिग्धों पर पैनी नजर रखने का निर्देश दिया है।

तैयारी में जुटे रहे कांग्रेसी :
एसडीएम केएस पांडेय सहित  पुलिस, स्वास्थ्य विभाग, लोक निर्माण विभाग, बिजली विभाग समेत अन्य विभागों के अधिकारियों ने मंगलवार को प्रियंका गांधी के कार्यक्रम के मद्देनजर उभ्भा में विभिन्न व्यवस्थाओं और तैयारियों का जायजा लिया और विचार-विमर्श कर मातहतों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

प्रियंका गांधी के आगमन को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग की टीम उभ्भा गांव में निरंतर मुस्तैद रहेगी। एक एंबुलेंस उभ्भा गांव में तैनात रहेगी, जबकि एक एंबुलेंस प्रियंका गांधी के फ्लीट के लिए जिला मुख्यालय पर मौजूद रहेगी। बिजली विभाग को जहां विद्युत संबंधित कार्यों के लिए दिशा-निर्देश दिया गया, वहीं लोक निर्माण विभाग को भी जरूरी निर्माण कार्यों की बाबत निर्देशित किया गया।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00