विज्ञापन
विज्ञापन

हाजिरी के लिए घूस मांगने वाले चिकित्साधिकारी को एएनएम ने बनाया बंधक, पुलिस ने छुड़ाया

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, चंदौली Updated Thu, 22 Aug 2019 03:09 PM IST
कुर्सी से बंधे प्रभारी चिकित्साधिकारी।
कुर्सी से बंधे प्रभारी चिकित्साधिकारी। - फोटो : अमर उजाला
ख़बर सुनें
चंदौली जिले के चकिया प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर कई एएनएम ने प्रभारी चिकित्साधिकारी को कुर्सी पर रस्सी से बांध दिया। आरोप है कि कि चिकित्साधिकारी उपस्थित रहने पर भी अनुपस्थित कर देते हैं।
विज्ञापन
एएनएम का कहना है कि हाजिरी के लिए घूस मांगते हैं। इससे आजिज आकर सभी ने गुरुवार को उनके कार्यालय में ही उन्हें कुर्सी पर ही रस्सी से बांध दिया। सूचना मिलते ही मौके पर पुलिस पहुंची और उन्हें मुक्त कराया।

ये भी पढ़ें : एक घर में दो की मौत से हड़कंप, जेठ ने फांसी लगाकर जान दी, छोटे भाई की पत्नी की गला रेतकर हत्या

पुलिस ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। जांच में जिसकी कमी पाई जाएगी उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
विज्ञापन

Recommended

घर बैठे इस पितृ पक्ष गया में पूरे विधि-विधान एवं संकल्प के साथ कराएं श्राद्ध पूजा, मिलेगी पितृ दोषों से मुक्ति
Astrology Services

घर बैठे इस पितृ पक्ष गया में पूरे विधि-विधान एवं संकल्प के साथ कराएं श्राद्ध पूजा, मिलेगी पितृ दोषों से मुक्ति

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वशनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Varanasi

यूपी: योगी ने उभ्भा में किया 45 परियोजनाओं का लोकार्पण-शिलान्यास, कांग्रेस पर बोला हमला

योगी आदित्यनाथ ने सभा को संबोधित करते हुए एक बार फिर कांग्रेस पर हमला बोला है। उन्होंने सवाल उठाया है कि क्या सोनिया गांधी उभ्भा के पीड़ितों से माफी मांगेंगी।

13 सितंबर 2019

विज्ञापन

आखिर क्यों बनाए गए मिस्र के पिरामिड, जिंदा लोग भी हैं दफन

पिरामिड और ममी इससे जुड़ी कई कहानियां कई फिल्में आपने सुनी और देखी होंगी लेकिन क्या आपने कभी जानने की कोशिश की है कि आखिर मिस्र में कुछ लोगों को पिरामिड में ही दफनाया क्यों जाता था ?

16 सितंबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree