Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Varanasi ›   brother in law killed his sister in law for called him impotent taunt him child not born in varanasi 

बच्चा पैदा न होने पर भाभी नामर्द कहकर मारती थी ताना, इसलिए उठाया ऐसा कदम

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, वाराणसी Published by: गीतार्जुन गौतम Updated Wed, 31 Mar 2021 05:08 PM IST
सार

भाभी से झगड़ा होता था तो वह निसंतान होने का ताना मारते हुए नामर्द कहती थी जिस बात से वह रहता था नाराज।

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी।
पुलिस की गिरफ्त में आरोपी। - फोटो : अमर उजाला
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

बच्चा न पैदा होने पर भाभी द्वारा बार-बार नामर्द कहकर ताना मारना इतना नागवार गुजरा कि देवर ने तलवार से वार कर उसकी हत्या कर दी। घटना वाराणसी के लोहता थाने के रहीमपुर गांव की सोमवार शाम की है। पुलिस ने आरोपी रहीमपुर निवासी तौफीक खान को वारदात में प्रयुक्त तलवार के साथ मंगलवार को हरपालपुर से गिरफ्तार कर लिया।



लोहता थाना क्षेत्र के रहीमपुर गांव में सगे भाई मुर्शीद खान और तौफीक खान का परिवार रहता है। मुर्शीद की सात बेटियां व दो बेटे हैं और तौफीक निसंतान है। सोमवार की शाम मुर्शीद खान के लड़के घर के बाहर पटाखे फोड़ रहे थे। इस पर तौफीक ने तेज आवाज में पटाखे फोड़ने से मना किया। इसे लेकर मुर्शीद की पत्नी रोशन जहां(50) और तौफीक की पत्नी शहनाज के बीच कहासुनी शुरू हुई।


कहासुनी के बीच ही तौफीक अपने घर से तलवार निकाल कर लाया और भाभी के सिर पर ताबड़तोड़ वार कर दिए। इसके बाद तौफीक घर से भाग निकला। आननफानन में रोशन जहां को एक निजी चिकित्सालय से बीएचयू ट्रॉमा सेंटर ले जाया गया, जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। मुर्शीद की तहरीर के आधार पर तौफीक के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने उसकी तलाश शुरू की।

हरपालपुर से गिरफ्तार तौफीक ने बताया कि उसकी पत्नी शहनाज से जब भी उसकी भाभी का झगड़ा होता था तो वह निसंतान होने का ताना मारते हुए हमें नामर्द कहती थी। उसे यह बुरा लगता था। सोमवार की शाम झगड़ा हुआ और भाभी ने वही नामर्द वाली बात दुहराई तो उसे बर्दाश्त नहीं हुआ। इसके बाद वह अपने कमरे में जाकर तलवार निकाल कर बाहर लाया और भाभी के सिर पर वार कर दिया।

इसके बाद तलवार अपने जनरल स्टोर में छुपा कर भाग निकला। हरपालपुर से वह कहीं अन्यत्र भागने की फिराक में था लेकिन मुखबिरों की मदद से पुलिस ने उसे पकड़ लिया। तौफीक को गिरफ्तार करने वाली टीम में लोहता थाने के दरोगा राजेश सिंह व अक्षय सिंह और सिपाही दिवाकर गुप्ता, शंकर राम व अरुण पाल की टीम शामिल रही।
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00