कुंभ में शिविर नहीं छोड़ेंगे शंकराचार्य

Varanasi Updated Tue, 25 Dec 2012 05:30 AM IST
वाराणसी। द्वारका-शारदा, ज्योतिष पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने सोमवार को प्रयाग महाकुंभ में चतुष्पथ के विरोध पर कड़ी नाराजगी जाहिर की। विद्यामठ की ओर से जारी शंकराचार्य के बयान में कहा गया है कि यह विवाद सिर्फ कुंभ में जमीन के आवंटन का ही नहीं बल्कि शंकराचार्य की अस्मिता का बन गया है। शंकराचार्य कुंभ में किसी व्यक्ति के शिविर लगाने का विरोध नहीं चाहते लेकिन यह बताना चाहते हैं कि मठाम्नाय अनुशासन सर्वोपरि है। किसी भी तथाकथित और स्वयंभू को शंकराचार्य के रूप में शिविर लगाने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए। ऐसा पहले हरिद्वार के कुंभ में हो चुका है। शंकराचार्य ने कहा है कि कुछ लोग इस बार शिविर का झगड़ा बताकर गंगा आंदोलन की दिशा को भटकाव के रास्ते पर ले जाना चाहते हैं। शंकराचार्य ने कहा है कि प्रयाग में वह शिविर किसी दशा में नहीं छोड़ेंगे। उनके शिविर में लोक कल्याणकारी कार्य होते रहेंगे लेकिन उनका वहां जाना न जाना हालात पर निर्भर करेगा।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

अलग अंदाज में मनाया गया BHU स्थापना दिवस, आप भी कर उठेंगे वाह-वाह

सोमवार को बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में 102वां स्थापना दिवस मनाया गया। इस मौके पर पारंपरिक परिधान में सजे छात्र-छात्रों ने झांकियां निकाली। झांकियों के साथ चल रहे स्टूडेंट्स ढोल-नगाड़ों की थाप पर थिरकते नजर आए।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls