राजन-साजन ने किया प्रथम संध्या का सुरों से शृंगार

Varanasi Updated Thu, 20 Dec 2012 05:30 AM IST
वाराणसी। महामना पं. मदन मोहन मालवीय की 150वीं जयंती पर स्मरणोतसव का शुभारंभ काशी हिंदू विश्वविद्यालय के स्वतंत्रता भवन में बुधवार की शाम शास्त्रीय संगीत के कार्यक्रमों से हुआ। विश्वविख्यात शास्त्रीय गायक पं. राजन-साजन मिश्र, पं.चितरंजन ज्योतिषी एवं विश्वविद्यालय के संगीत एवं मंच कला संकाय के उदीयमान कलाकारों ने महामना की याद में यादगार शाम सजाई।
समारोह की प्रथम संध्या का सुर शृंगार करने वाले पं. राजन-साजन मिश्र ने अपने सुरसिद्ध गायन से श्रोताओं का अभिषेक किया। देवी सरस्वती की आराधना स्वरूप गायन करते हुए मिश्र बंधु ने सर्वप्रथम राग जोगकौंस के स्वर साधे। विलंबित एक ताल में हे काहे का गुमान तू बावरे, अपने को पहचान से सांगीतिक अल्पना का आकार तय किया। द्रुत रचना जगत है समझ सपना, को नहीं अपना से उस अल्पना की रंगीरेखाकारी की। इसके उपरांत राग हंसध्वनि के रंग श्री गणपति गजानन विध्न विनायक...के माध्यम से भरे। गायन के दौरान कई ऐसे क्षण आए जब श्रोताओं को महसूस हुआ वे गंधर्वों की सभा में हैं। उनके साथ तबले पर किशोर कुमार मिश्र ने संगत की। इससे पूर्व स्मरणोत्सव में सांगीतिक प्रस्तुतियों का क्रम महामना के रचित गीत सब देखन के देव प्रभो... से डा. संगीता पंडित, डा. अंबरीष चंचल एवं डा. रामशंकर ने की। इसी क्रम में कला संगीत विश्वविद्यालय ग्वालियर के पूर्व कुलपति प्रो. चितरंजन ज्योतिषी ने घट घट व्यापक राम का गायन किया। इस प्रस्तुति में डा. ज्ञानेश पांडेय ने भी उनका सहयोग किया। इससे पूर्व आमंत्रित कलाकारों सहित प्रो. कमल शील, डा. राजेश्वर आचार्य, प्रो. जीएस. यादव, विश्वनाथ पांडेय, प्रो. शारदा वेलंकर ने महामना की मूर्ति पर माल्यापर्ण किया। कार्यक्रम का संचालन डा. संगीता पंडित ने किया।

सृष्टिचक्र की सुर सरिता में सबने लगाए गोते
वाराणसी। महामना मदन मोहन मालवीय की 150वीं जयंती पर बुधवार से काशी हिंदू विश्वविद्यालय में आयोजित स्मरणोत्सव की प्रथम संध्या में मंच एवं संगीत कला संकाय के प्रशिक्षु कलाकारों द्वारा वाद्यवृंद सृष्टि चक्र की प्रस्तुति बेमिसाल प्रस्तुति की गई। सितार, मोहनवीणा, बांसुरी, वायलिन, तबला, पखावज और स्वरमंडल पर राग झिंझोटी और हंसध्वनि की सुर सरिता में गोते लगाने से कोई खुद को रोक नहीं सका। इस प्रस्तुति में श्याम रस्तोगी, अंजलि शर्मा, मनोज, हरिप्रसाद, दामिन्द, शरद, महेंद्र, अजीत, हरिओम, अंकित, अंकिता, विदिशा, वीरेंद्र शामिल थे।

Spotlight

Most Read

Lucknow

भयंकर हादसे के शिकार युवक ने योगी से लगाई मदद की गुहार, सीएम ने ट्विटर पर ये दिया जवाब

दुर्घटना में रीढ़ की हड्डी टूटने से लकवा के शिकार युवक आशीष तिवारी की गुहार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सुनी ली। योगी ने खुद ट्वीट कर उसे मदद का भरोसा दिलाया और जिला प्रशासन को निर्देश दिया।

20 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: श्रीलंका का ये सांस्कृतिक नृत्य देख कर झूम उठेंगे आप

बीएचयू के संगीत एवं मंच कला संकाय के पंडित ओंकार नाथ ठाकुर सभागार में गुरुवार की शाम श्रीलंकाई कलाकारों के नाम रही। यहां श्रीलंका से आए 10 कलाकारों के ‘ठुरैया ग्रुप’ ने पारंपरिक नृत्य से समां बांध दिया।

20 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper