बजाते थे सितार सिखाते थे सुरबहार और संतूर भी

Varanasi Updated Fri, 14 Dec 2012 05:30 AM IST
वाराणसी। भारतरत्न पं. रविशंकर सितार का पर्याय हैं। दुनिया भर में अधिकतर लोग उन्हें सिर्फ सितारवादक के रूप में ही जानते हैं। लेकिन, वे एसराज, वीणा, सुरबहार, सरोद, संतूर और तबला भी जमकर बजाते थे। इतना ही नहीं सिखाते भी थे। संतूर वादक तरुण भट्टाचार्य ने लंबे समय तक बनारस में उनके सानिध्य में रह कर संतूर की शिक्षा प्राप्त की थी।
बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी पं. रविशंकर ने स्वयं को एक ही विधा में प्रदर्शित किया किंतु उनकी अन्य कला प्रतिभा उनके शिष्यों में फलीभूत होती दिख रही है। मन बहलाने के लिए कई बार पं. बिरजू महाराज के साथ तबले की जुगलबंदी कर चुके पं. रविशंकर से संतूर की शिक्षा प्राप्त करके स्वयं को विश्व पटल पर प्रस्तुत कर रहे कोलकाता के पं. तरुण भट्टाचार्य उनके ऐसे ही शिष्य हैं। बीती सदी के 70 के दशक में तरुण भट्टाचार्य पं. रविशंकर के यहां शिवपुर स्थित हेमांगना में रह कर पहले तबला वादन सीखा फिर संतूर के गुर हासिल किए। मैसूर के उमेश चांदेकर ने उनसे सुरबहार की शिक्षा प्राप्त की है। राज्यसभा का सदस्य मनोनीत होने के उपरांत भारत सरकार ने उन्हें दिल्ली के चाणक्यपुरी इलाके में काफी बड़ा भूखंड उपलब्ध कराया था जिस पर उन्होंने संगीत विद्यालय की स्थापना की है। वहां भी विविध वाद्यों का प्रशिक्षण पं. रविशंकर द्वारा तैयार शिक्षण पद्धति से दी जाती है। अमेरिका प्रवास के दौरान उन्होंने वीणा और सरोद का प्रशिक्षण भी शिष्यों को दिया।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Shimla

शिमला में कार हादसे में भाजपा के पूर्व मंडलाध्यक्ष की मौत

भाजपा के पूर्व मंडलाध्यक्ष की कार हादसे में मौत हो गई। कार मकान की दीवार तोड़ कर अंदर घुस गई।

20 फरवरी 2018

Related Videos

सख्ती के बावजूद भी यूपी के इस जिले में हुआ 10वीं का पेपर लीक

प्रदेश के महाराजगंज में पेपर लीक होने का मामला सामने आया है। सोमवार को देर शाम हाई स्कूल विज्ञान का पेपर लीक होते ही हड़कंप मच गया। आनन-फानन में डीआईओएस ने स्कूल जाकर पैकेट की जांच की तो पैकेट फटा हुआ मिला, देखिए रिपोर्ट।

20 फरवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen