महामंडलेश्वर संतोष दास सातवें सतुआ बाबा से विभूषित

Varanasi Updated Tue, 11 Dec 2012 05:30 AM IST
वाराणसी। पादुका पूजन, गद्दी पूजन और वेद ऋचाओं के सस्वर पाठ के साथ सोमवार की सुबह विष्णु स्वामी संप्रदाय के सतुआ बाबा की रस्म पदवी में शीर्ष पीठों से जुड़े संतों-महंतों और श्रद्धालुओं का रेला उमड़ पड़ा। काशी के वैष्णव विरक्त संत समाज ने मंगलचार के साथ श्रीमहंताई और सतुआ बाबा की गद्दी पर महामंडलेश्वर संतोष दास महाराज को विराजमान कराया। इसी के साथ, वे यमुनाचार्य महाराज के स्थान पर सातवें सतुआ बाबा घोषित कर दिए गए। देर रात तक नए पीठाधीश्वर से आशीर्वचन लेने का सिलसिला चला।
मणिकर्णिका स्थित आश्रम में सुबह 10.20 मिनट पर सतुआ बाबा का सविधि पूजन हुआ। गद्दी पूजन के बाद संत समाज ने वैष्णव परंपरा के तहत महामंडलेश्वर संतोष दास महाराज को चादर, कंठी प्रदान कर श्रीमहंत और सातवें पीठाधीश्वर श्री सतुआ बाबा की उपाधि से विभूषित किया। बीते 28 नवंबर को गुजरात के राजकोट स्थित धक्कन अस्पताल में दिल का दौरा पड़ने से छठे सतुआ बाबा यमुनाचार्य महाराज का महाप्रयाण हो गया था। सतुआ बाबा की रस्म पदवी के मौके पर जानेमाने संत उपस्थित थे। द्वारका-शारदा, ज्योतिष पीठाधीश्वर शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के प्रतिनिधि स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद महाराज, वृंदावन के रमणरेती पीठाधीश्वर महामंडलेश्वर गुरु शरणानंद महाराज, अन्नपूर्णा मठ-मंदिर के महंत रामेश्वरपुरी महाराज, अयोध्या के मणिराम छावनी पीठाधीश्वर महंत नृत्य गोपालदास, उनके उत्तराधिकारी रामनयन शास्त्री, दिल्ली रामलीला मैदान के महंत राम कृष्णदास महात्यागी, चर्तुसंप्रदाय पीठाधीश्वर रामलखन दास महाराज, ऋषिकेष के डॉ. रामेश्वरदास महाराज, सुमेरूपीठ के स्वामी नरेंद्रानंद सरस्वती, डॉ. रामकमल दास वेदांती, पातालपुरी पीठाधीश्वर महंत बालकदास, पंजाबी भगवान पीठाधीश्वर राजकुमार दास, रामशरण दास, कांची कामकोटि पीठ के शंकराचार्य जयेंद्र सरस्वती के प्रतिनिधि वीएस सुब्रमण्यम मणि, विधायक श्यामदेव रायचौधरी, विधायक अजय राय, विधायक ज्योत्सना श्रीवास्तव, एएसपी ज्ञानवापी श्रीपति मिश्र, एसपी (इंटेलिजेंस) युगल किशोर तिवारी, शिव सेना के मंडल प्रमुख गुलशन कपूर, सोनू कपूर, विजय शंकर पांडेय, राधेश्याम खेमका समेत राजस्थान, गुजरात, झारखंड, मध्यप्रदेश समेत तमाम इलाकों के श्रद्धालु उपस्थित थे।

इनसेट
साईं मां ने दिया संदेश
वाराणसी। सतुआ बाबा की रस्म पदवी के मौके पर प्रेममयी भक्ति मई जगदगुरु साईं मां लक्ष्मी देवी ने सविधि अनुष्ठानों में हिस्सा लिया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि सतुआ बाबा लोक कल्याण और परसेवा के पर्याय थे। उनकी इस अलख को पूरी दुनिया में सतुआ बाबा पीठ और उनसे जुड़ी संस्थाओं के जरिए जगाया जाएगा। साईं मां के साथ उनके अमेरिकी और कनाडाई शिष्य भी थे।

Spotlight

Most Read

Lucknow

1300 भर्तियों के मामले में फंसे आजम खां, एसआईटी ने जारी किया नोटिस

अखिलेश सरकार में जल निगम में हुई 1300 पदों पर हुई भर्ती को लेकर आजम खा के खिलाफ नोटिस जारी किया गया है।

16 जनवरी 2018

Related Videos

बीजेपी विधायक के बिगड़े बोल, कहा देश में बेहद कम मुसलमान देशभक्त

सत्ता सुख मिलने के बाद यूपी बीजेपी का कोई न कोई नेता लगातार विवादित बयान दे रहा है। अब बलिया से बीजेपी के विधायक सुरेंद्र सिंह ने कहा है कि देश के ज्यादातर मुसलमान देशभक्त नहीं है। वो खाते भारत का हैं, और चिंता पाकिस्तान की करते हैं।

15 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper