सितार पर जोड़-झाला से झंकृत हुई गंगा महोत्सव की शाम

Varanasi Updated Mon, 26 Nov 2012 12:00 PM IST
वाराणसी। कथक पर बनारस घराने की बेजोड़ प्रस्तुति के बाद रविवार को रागों-बंदिशों की कशिश से गंगा महोत्सव की दूसरी शाम परवान चढ़ी। संजीव अभयंकर ने जहां राग बागेश्वरी की अवतारणा से महोत्सव को ऊंचाई दी, वहीं शाहिद परवेज ने सितार के तारों को झंकृत कर श्रोताओं को झूमने का पूरा मौका दिया।
मुक्ताकाशीय मंच पर शुरुआत शैलबाला के गायन से हुई। इनके बाद पारुल दीक्षित ने दादरा की प्रस्तुति की। कथक नृत्यांगना पद्मभूषण सितारा देवी के पौत्र विशाल कृष्ण ने कथक पर अपनी बेजोड़ प्रस्तुति से हर किसी को मुग्ध कर दिया। दादी गुरु ने जिस मयूर नृत्य की शुरुआत की थी, उसकी प्रस्तुति जब विशाल ने की तो दर्शक दीर्घा में तालियों की बौछार गूंजने लगी। मयूर के दाने चुगने के अलावा चितवन पर इतराने, मदमस्त चाल के अलावा बनारस घराने की मशहूर परन, टुकड़ों पर उन्होंने एक से बढ़कर एक तिहाइयां लगाईं। तबले पर कुशाल कृष्ण, बोल पढ़ंत मोहन कृष्ण ने किया। इनके बाद उप शास्त्रीय गायक डॉ.विजय कपूर ने दादरा से वातावरण को खुशनुमा बनाया। बोल थे-ना जा ना जा रे बांके संवरिया...। तबले पर बलराम मिश्र, सारंगी पर संतोष मिश्र थे। साइड रिदम संजय श्रीवास्तव का था। इनके बाद बारी आई शास्त्रीय गायक संजीव अभयंकर की। उन्होंने राग बागेश्री में मध्य लयतीन ताल, 16 मात्रा में निबद्ध बंदिश की प्रस्तुति की। बोल थे- पायल बाजै मोरि झांझर प्यारे...। इसके बाद होरी के पद को स्वर दिया। बोल थे- आज मालिनी मोहन खेलत होरी...। भजन-भजमन रामनाम सुखदायी से उन्होंने विराम लिया। तबले पर पं. राम कुमार मिश्र, हारमोनियम पर पं. धर्मनाथ मिश्र ने संगत की। इनके बाद पद्मश्री शाहिद परवेज ने सितार के तार झंकृत किए। राग चारुकेशी में उन्होंने अलाप के बाद जोड़, झाला की जोरदार प्रस्तुति की। फिर रूपक एक ताल, सात मात्रा की प्रस्तुति के बाद तीन ताल बजाने के बाद अंत में धुन बजाकर उन्होंने विदा ली। तबले पर रामकुमार और तानपूरे पर श्रावणी विश्वास ने संगत की। अंत में मणिपुरी लोक नृत्य पुंग चोलम की कलाकारों ने यादगार प्रस्तुति की। मृदंग, ढोलक के साथ प्रवाहमान संगीत पर आधारित नृत्य पर लोग झूम उठे। साना माचा, जयंता, रतन, उमाकांता, रकेश, हीरोजीत ने इसे रोमांचक अंदाज में पेश किया। मणिपुरी समाज में इस नृत्य को खुशी के मौके पर प्रस्तुत किया जाता है। इस मौके पर मंडलायुक्त चंचल कुमार तिवारी, उनकी पत्नी सीमा तिवारी, जिलाधिकारी सौरभ बाबू की पत्नी स्मिता माहेश्वरी के अलावा चंदौली के जिलाधिकारी भी मौजूद थे।

Spotlight

Most Read

Shimla

वीरभद्र मनी लॉन्ड्रिंग मामले में सुप्रीम कोर्ट ने ईडी से पूछा ये सवाल

वीरभद्र सिंह से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में सुप्रीम कोर्ट ने पूछा कि ईडी अन्य आरोपियों के खिलाफ पूरक आरोप पत्र कब दाखिल करेगा।

19 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: सोनभद्र में सफाई कर्मचारियों ने इसलिए मुंडवाया अपना सिर

पूर्वी यूपी के सोमभद्र में उत्तर प्रदेश पंचायती राज ग्रामीण सफाई कर्मचारी संघ के लोगों ने कलेक्ट्रेट पर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान अपनी 11 सूत्रीय मांगों को पूरी कराने को लेकर दर्जनों सफाईकर्मियों  ने सिर मुंडन कराया।

19 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper