सेहत बिगाड़ देगी मिलावटी मिठाई

Varanasi Updated Tue, 06 Nov 2012 12:00 PM IST
वाराणसी। दीपावली नजदीक है और बाजार में मिलावटी मिठाइयों की धड़ल्ले से बिक्री शुरू हो चुकी है। ये रंग-बिरंगी मिठाइयां सस्ती तो हैं, लेकिन सेहत के लिए बेहद हानिकारक। विशेषज्ञों की मानें तो विक्रेता मिठाइयों में खाने वाला नहीं बल्कि कपड़े वाला रंग मिला रहे हैं। उनका उद्देश्य महज ज्यादा से ज्यादा कमाई करना है। खास तौर पर इमरती, लड्डू, कराची हलुवा, गरी और खोवे की रंग-बिरंगी मिठाइयां खरीदते समय सावधानी बरतने की जरूरत है।
ऐसा नहीं है कि मिलावटी मिठाइयां सिर्फ ग्रामीण क्षेत्रों में बिक रही हैं, शहर में भी कई स्थानों पर धड़ल्ले से इनकी बिक्री जारी है। ग्राहकों को लुभाने के लिए विक्रेता अलग-अलग प्रकार के रंगों का इस्तेमाल कर रहे हैं। जानकारों के अनुसार सूजी को भूनकर उसमें कलर डालकर मिल्ककेक बनाया जा रहा है। थोक में मिलावटी मिठाई आधी कीमत पर बिक रही है, जबकि फुटकर में इनका दाम आम मिठाइयों की तरह ही लिया जा रहा है। ऐसी मिठाइयां खासकर वो लोग ज्यादा खरीद रहे हैं जिन्हें उपहार देना है।

कैसे बचें मिलावटी मिठाइयों से
----------------------
- रंग-बिरंगी मिठाइयां खरीदने से बचें
- विश्वसनीय दुकानों से ही मिठाई खरीदें
- मिठाई खरीदते समय चखकर देख लें
- संभव हो तो घर में मिठाई तैयार करें
- सस्ते के चक्कर में न पड़ें, क्वालिटी देखें
कोट :-
मिलावटी मिठाइयां सेहत के लिए बेहद हानिकारक हैं। इससे फूड प्वाइजनिंग, उल्टी दस्त और लीवर प्रभावित होता है।-प्रो. रामहर्ष सिंह, आयुर्वेदाचार्य एवं पूर्व कुलपति राजस्थान आयुर्वेदिक विश्वविद्यालय, जयपुर

Spotlight

Most Read

Shimla

वन भूमि से 416 पेड़ काटने के मामले में आरोपी गिरफ्तार

वन भूमि से 416 पेड़ काटने के मामले में आरोपी गिरफ्तार

20 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: श्रीलंका का ये सांस्कृतिक नृत्य देख कर झूम उठेंगे आप

बीएचयू के संगीत एवं मंच कला संकाय के पंडित ओंकार नाथ ठाकुर सभागार में गुरुवार की शाम श्रीलंकाई कलाकारों के नाम रही। यहां श्रीलंका से आए 10 कलाकारों के ‘ठुरैया ग्रुप’ ने पारंपरिक नृत्य से समां बांध दिया।

20 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper