हाजियों के इस्तकबाल की हो रही तैयारी

Varanasi Updated Wed, 31 Oct 2012 12:00 PM IST
वाराणसी। मुकद्दस हज यात्रा पर गए जायरीन हाजी बनकर पांच नवंबर को अपने वतन की जमीन पर कदम रखेंगे। इनके आने की खबर से जहां परिजन खुश हैं वहीं उनके स्वागत की भी तैयारी शुरू कर दी गई है।
बीस सितंबर को बनारस के अधिकांश जायरीन काशी से काबा के लिए रवाना हुए थे। पहली फ्लाइट से गए ये जायरीन अब हाजी बनकर जेद्दा से वाराणसी के लिए पांच नवंबर को उड़ान भरेंगे और शाम साढ़े छह बजे के करीब वे बाबतपुर एयरपोर्ट पर लैंड करेंगे। हाजियों के आने की खबर से बेहद खुश परिजन उनके स्वागत की तैयारी में जुटे हैं। मदनपुरा निवासी अब्दुल बासित के भाई अब्दुल कादिर बोले की भाईजान पांच को आ रहे हैं। लिहाजा तैयारियां शुरू कर दी है। यहीं के जाहिर के भाई ताहिर, राशिद के भाई अब्दुल बासित भी खुश हैं। लल्लापुरा निवासी बुजुर्ग हाजी नईमुद्दीन अपने बेटे मोहम्मद नसीम के आने की खबर से आते ही बेटे को गले लगाने को बेताब हैं। वह उत्साहित हो बोले, मैं तो हज कर ही आया बेटे ने भी कर लिया। इससे बड़ी खुशी और क्या हो सकती है। उधर, घर में मां, बेटा, पत्नी, बेटी समेत परिवार के सभी सदस्य पांच नवंबर का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। हाजी नईमुद्दीन का कहना है कि वह इस खुशी में होने वाली दावत के इंतजाम में जुटे हैं और जरूरी सामानों की व्यवस्था कर रहे हैं। उधर, ऐसा ही नजारा उन स्थानों पर भी है जहां हाजी लौट रहे हैं।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

अलग अंदाज में मनाया गया BHU स्थापना दिवस, आप भी कर उठेंगे वाह-वाह

सोमवार को बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में 102वां स्थापना दिवस मनाया गया। इस मौके पर पारंपरिक परिधान में सजे छात्र-छात्रों ने झांकियां निकाली। झांकियों के साथ चल रहे स्टूडेंट्स ढोल-नगाड़ों की थाप पर थिरकते नजर आए।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls