अब सीजनल मजदूरों को भी पीएफ सुविधा

Varanasi Updated Tue, 30 Oct 2012 12:00 PM IST
वाराणसी। अब सीजनल मजदूरों को भी पीएफ की सुविधा मिलेगी। कर्मचारी भविष्य निधि विभाग ने ऐसे श्रमिकों को पीएफ से आच्छादित करने की योजना बनाई है। उन्हें विभाग स्थायी एकाउंट नंबर देगा। इस एकाउंट में संबंधित नियोक्ता अपना और कर्मचारी का अंशदान जमा करेगा। यह व्यवस्था पांच छह महीने में शुरू हो जाने की उम्मीद है। इसके लिए साफ्टवेयर विकसित किया जा रहा है। अब पीएफ एकाउंट को आनलाइन कर दिया गया है। कोई भी कर्मचारी अपने एकाउंट के बारे में इंटरनेट से सारी जानकारियां हासिल कर सकता है। यह जानकारी केंद्रीय भविष्य निधि आयुक्त आरसी मिश्र ने दी। वे सोमवार को होटल रमाडा में पीएचडी चैंबर्स आफ कामर्स एंड इंडस्ट्री की ओर से कर्मचारी भविष्य निधि क्रियान्वयन एवं समस्याएं विषय पर आयोजित संगोष्ठी में बोल रहे थे।
उन्होंने कहा कि श्रम कानूनों में व्यापक बदलाव जरूरी है। इनमें ईपीएफ एंड एमपी एक्ट भी शामिल है। केंद्रीय भविष्य निधि संगठन में वरिष्ठ अधिकारियों की एक समिति बनाई गई है जो योजना से जुड़े विभिन्न हिस्सेदारों की समस्याओं पर गौर करते हुए आवश्यकतानुसार कानून में संशोधन के बारे में सुझाव देगी। पीएचडी चैंबर के औद्योगिक संबंध समिति के अध्यक्ष रवि विग ने अस्थायी कर्मचारियों की समस्याओं पर प्रकाश डाला। कहा कि चार करोड़ सदस्य पीएफ से आच्छादित हैं। खाते में सालाना तीन लाख करोड़ रुपये आता है। बनारस बीड्स के सीएमडी अशोक कुमार गुप्ता ने उद्यमियों की समस्याओं को विस्तार से बताया। कहा कि कर्मचारी पेंशन फंड में इस समय लगभग 162980 करोड़ रुपये हैं। जबकि, पीएफ एकाउंट में लगभग 22600 करोड़ रुपये अनक्लेम्ड पड़े हैं। इसका उपयोग सही जगह किया जाना चाहिए। उन्होंने उद्यमियों की समस्याएं दूर करने की मांग की। सुनील त्रिपाठी ने श्रम कानूनों में संशोधन का सुझाव दिया। संगोष्ठी में अतिरिक्त केंद्रीय भविष्यनिधि आयुक्त (पेंशन) केसी पांडेय ने सेवाओं को बेहतर बनाने के लिए किए जा रहे प्रयासों के बारे में जानकारी दी। क्षेत्रीय भविष्य निधि आयुक्त उदित चौधरी, आयुक्त एसके झा और दिनेश धरनी ने उद्यमियों के प्रश्नों के उत्तर दिए। इस मौके पर आरके चौधरी, रतन सिंह, राजेश भाटिया, सुरेंद्र सिंह समेत काफी संख्या में उद्यमी मौजूद थे।

Spotlight

Most Read

Chandigarh

Report: पंजाब में टूटने लगी है ड्रग माफिया की कमर, जानिए कैसे और क्यों?

पंजाब में अब ड्रग माफिया की कमर टूटने लगी है, मतलब सरकार ने प्रदेश में नशा खत्म करने के लिए जो वादा किया था, वह पूरा होता दिख रहा है।

20 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: श्रीलंका का ये सांस्कृतिक नृत्य देख कर झूम उठेंगे आप

बीएचयू के संगीत एवं मंच कला संकाय के पंडित ओंकार नाथ ठाकुर सभागार में गुरुवार की शाम श्रीलंकाई कलाकारों के नाम रही। यहां श्रीलंका से आए 10 कलाकारों के ‘ठुरैया ग्रुप’ ने पारंपरिक नृत्य से समां बांध दिया।

20 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper