सावधान: केले की मिठास में घुला है जहर

Varanasi Updated Thu, 18 Oct 2012 12:00 PM IST
वाराणसी। सावधान! अगर नवरात्र व्रत में आप केले का सेवन कर रहे हैं तो सतर्क हो जाइए। केला खाने से आपका स्वास्थ्य खतरे में पड़ सकता है। कारण, समय से पहले फलों को पकाने के लिए कीटनाशकों का धड़ल्ले से इस्तेमाल किया जा रहा है। ये कीटनाशक स्वास्थ्य के लिए घातक हैं। इनसे पकाए गए फलों को खाने से कई तरह की बीमारियां फैल रही हैं।
शहर के एक व्यापारी ने स्वास्थ्य बनाने के लिए पिछले दिनों नियमित रूप से केले का सेवन शुरू किया। स्वास्थ्य में सुधार तो हुआ नहीं अलबत्ता उन्हें बीमारियों ने घेर लिया। इस समय वे बवासीर से परेशान हैं। परेशानहाल व्यापारी ने केला न खाने की कसम खा ली है। यह तो महज एक उदाहरण है। शहर में ऐसे तमाम लोग मिल जाएंगे। दरअसल केले को पकाने के लिए क्रिपोन नामक कीटनाशक का धड़ल्ले से प्रयोग किया जा रहा है। इससे पके केले को खाने से लोग कई तरह की बीमारियों का शिकार हो रहे हैं। पीडि़त व्यक्ति खासतौर से गैस्ट्रोइंट्रोटाइटिस से परेशान रहता है। सौ एमएल क्रिपोन 60 से 70 रुपये में मिलता है। इसकी शीशी पर लाल रंग से प्वायजन लिखा रहता है। एक ढक्कन क्रिपोन को एक बड़ी बाल्टी पानी में मिलाकर लगभग 300 दर्जन केला पकाया जा सकता है। फल व्यवसाय से जुड़े सूत्रों की मानें तो फलों को पकाने में केमिकल की मात्रा पर ध्यान नहीं दिया जाता। शीशी में रखा केमिकल ड्रम में उडे़ल दिया जाता है। फिर ड्रम में पानी भरकर केलों की घार उसमें डाल दी जाती है। चार-पांच घंटे बाद बाहर निकालकर फल को बाजार में पहुंचा दिया जाता है।

फलों को पकाने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले कीटनाशक शरीर के लिए घातक हैं। इससे पाचन क्रिया प्रभावित होने के साथ-साथ पेट संबंधी बीमारियां घेर लेती हैं। गैस्ट्रोइंट्रोटाइटिस, डायरिया जैसे रोग खासतौर से परेशान कर सकते हैं। इसका असर गुर्दे पर भी पड़ सकता है। - डा. एके शर्मा, स्वामी विवेकानंद अस्पताल भेलूपुर।


सावधानी
केला खरीदते समय विशेष ध्यान रखें। अगर उसका रंग ज्यादा पीला हो तो न खरीदें। हो सकता है कि यह कीटनाशक से पकाया गया हो। कीटनाशक से पका केला कड़ा होता है और अंदर से कच्चा हो सकता है।

Spotlight

Most Read

Madhya Pradesh

MP निकाय चुनाव: कांग्रेस और भाजपा ने जीतीं 9-9 सीटें, एक पर निर्दलीय विजयी

मध्य प्रदेश में 19 नगर पालिका और नगर परिषद अध्यक्ष पद पर हुए चुनाव में कांग्रेस और भाजपा के बीच कड़ा मुकाबला देखने को मिला।

20 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: श्रीलंका का ये सांस्कृतिक नृत्य देख कर झूम उठेंगे आप

बीएचयू के संगीत एवं मंच कला संकाय के पंडित ओंकार नाथ ठाकुर सभागार में गुरुवार की शाम श्रीलंकाई कलाकारों के नाम रही। यहां श्रीलंका से आए 10 कलाकारों के ‘ठुरैया ग्रुप’ ने पारंपरिक नृत्य से समां बांध दिया।

20 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper