अदब से करीब आएंगे भारत और पाकिस्तानः राहत इंदौरी

Varanasi Updated Sun, 14 Oct 2012 12:00 PM IST
वाराणसी। मशहूर शायर राहत इंदौरी ने कहा कि भारत-पाक के रिश्ते सुधारने में अदब की बड़ी भूमिका हो सकती है। वैसे भी दिलों को करीब लाने की जो ताकत भारतीय ललित कलाओं में है, वह कहीं और नहीं। खेल, संगीत और मुशायरों को जरिया बनाया जाए तो सियासी जंग भले न टले लेकिन दोनों देशों के इंसानों को करीब लाने में देर नहीं लगेगी। इससे हम नफरत की खाई को काफी हद तक आसानी से पाट सकते हैं।
पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की याद में बेनियाबाग में आयोजित इंडो-पाक मुशायरे में शिरकत करने आए इंदौरी ने अमर उजाला से विशेष बातचीत में दोनों देशों में मौजूद हालात से लेकर जम्हूरियत पर बेबाक टिप्पणी की। कहा कि तीन महीने पहले पाकिस्तान के कराची शहर में हुए मुशायरे के उनके अनुभव चौंकाने वाले हैं। इससे पहले जब भी पाकिस्तान गए तो कहीं न कहीं किसी न किसी बहाने उन्हें बनारस, लखनऊ, बरेली जैसा अपनापन मिल जाता था। इस मर्तबा अफसोस मिला। गोलियों की तड़तड़ाहट, लूट, गुंडागर्दी मिली। कराची के नेशनल स्टेडियम में जहां मुशायरे में पहले 25 से 30 हजार की तादाद में लोग होते थे, वहां इस बार महज दो हजार लोग ही आ सके थे। अपने कुछ रिश्तेदारों ने मुशायरे में आने का वादा किया था। नहीं आने पर सुबह उनसे पूछा तो कहने लगे कि रात को ज्यादा ही गोलाबारी हो गई थी। इस वजह से घर से नहीं निकले। कहा कि भारत और पाक दोनों देशों में जम्हूरियत का सही इस्तेमाल नहीं हो रहा है। घोटालों से आर्थिक ढांचे चरमरा गए हैं। दबाव के चलते आम आदमी की रीढ़ की हड्डी टूटती जा रही है।
इनसेट-
अरबी शायर जुबैर को सम्मानित करेंगे जरदारी
वाराणसी। लटका दिया गया मुझे नफरत की दार पर/ सचाई मेरे लब से निकलने की देर थी...। अरब के नामचीन शायर डा. जुबैर फारुख अलअर्सी ने दुनिया के मौजूदा हालात पर यह मकता लहुराबीर स्थित होटल में फरमाया। मार्च, 13 में पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी उन्हें उर्दू अदब की खिदमत तमगा-ए-इम्तियाज एवार्ड से नवाजेंगे।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी

चारा घोटाला मामले में रांची की स्पेशल सीबीआई कोर्ट थोड़ी में फैसला सुनाएगी। स्पेशल कोर्ट जज एस एस प्रसाद इस मामले में फैसला देंगे।

24 जनवरी 2018

Related Videos

अलग अंदाज में मनाया गया BHU स्थापना दिवस, आप भी कर उठेंगे वाह-वाह

सोमवार को बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में 102वां स्थापना दिवस मनाया गया। इस मौके पर पारंपरिक परिधान में सजे छात्र-छात्रों ने झांकियां निकाली। झांकियों के साथ चल रहे स्टूडेंट्स ढोल-नगाड़ों की थाप पर थिरकते नजर आए।

23 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper