बापू की गुजराती चित्रकथा का होगा हिंदी अनुवाद

Varanasi Updated Wed, 03 Oct 2012 12:00 PM IST
वाराणसी। महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के गांधी अध्ययन पीठ का कस्तूरबा भवन बापू की अनेकानेक चित्र स्मृतियां सजोए हुए है। एक दशक से अधिक समय से दीवारों को शोभायमान कर रहे गांधी जी के 33 चित्रों का परिचय गुजराती भाषा में अंकित है। काशीवासी एक युवा गुजराती जोड़े ने इन चित्र परिचयों का हिंदी अनुवाद करने का संकल्प किया है।
ज्ञानवापी क्षेत्र के रहने वाले अमित शंकर त्रिवेदी और उनकी पत्नी अलका त्रिवेदी अपने बेटे अरणव के साथ गत दिनों भारत माता मंदिर गए थे। वहां से उनकी इच्छा गांधी अध्ययन पीठ जाने की हुई। यहां आकर चित्र परिचय गुजराती में देखकर पति-पत्नी खुशी से उछल पड़े। उन्हें उम्मीद नहीं थी कि गुजराती में चित्र परिचय पढ़ने को मिलेंगे। चित्रों का अवलोकन करते समय ही उनके जेहन में चित्र परिचयों का हिंदी अनुवाद करने का ख्याल आया। गांधी अध्ययन पीठ के निदेशक प्रो. रामप्रकाश द्विवेदी के अनुसार कुछ छात्रों द्वारा पहले यह प्रयास किया गया था लेकिन उसकी प्रगति बहुत धीमी है। उन्होंने बताया कि वर्ष 2000 में गांधी जी के नवजीवन ट्रस्ट अहमदाबाद के ट्रस्टी जितेंद्रभाई देसाई सपत्नीक काशी आए थे। तब उन्होंने गांधी जी के जीवन से जुड़ी 80 चित्रों की शृंखला गांधी अध्ययन पीठ को दान की थी।

सचित्र बयान
चित्रों का अवलोकन करते वक्त सहसा मेरे मन में विचार आया कि हिंदी भाषी लोग तो समझ ही नहीं पाते होंगे कि इन चित्रों के साथ क्या कहानी जुड़ी है। यह कहानी कम से कम बनारस का हर शिक्षित व्यक्ति जाने इसके लिए मैंने हिंदी अनुवाद का विचार पति के समक्ष रखा।- अलका त्रिवेदी, गृहिणी

जब पत्नी ने अनुवाद का प्रस्ताव रखा तो मैं भी सहर्ष तैयार हो गया। मैं पहले भी कई बार गांधी अध्ययन पीठ आ चुका हूं। इन चित्रों पर पहले भी नजर गई लेकिन उनके नीचे अंकित विवरण का अनुवाद करने का विचार कभी नहीं आया।-अमित शंकर त्रिवेदी, संगीतकार

Spotlight

Most Read

Dehradun

आरटीओ में गोलमाल, जांच शुरू

आरटीओ में गोलमाल, जांच शुरू

21 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: श्रीलंका का ये सांस्कृतिक नृत्य देख कर झूम उठेंगे आप

बीएचयू के संगीत एवं मंच कला संकाय के पंडित ओंकार नाथ ठाकुर सभागार में गुरुवार की शाम श्रीलंकाई कलाकारों के नाम रही। यहां श्रीलंका से आए 10 कलाकारों के ‘ठुरैया ग्रुप’ ने पारंपरिक नृत्य से समां बांध दिया।

20 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper