पुजारियों की तैनाती पर मचा घमासान

Varanasi Updated Wed, 26 Sep 2012 12:00 PM IST
वाराणसी। श्रीकाशी विश्वनाथ मंदिर में अवैतनिक शास्त्रियों को वरिष्ठताक्रम ताक पर रखकर विग्रहों पर पुजारी के रूप में तैनाती देने का मामला अब लखनऊ में गूंजेगा। न्यास अध्यक्ष /मंडलायुक्त चंचल तिवारी से शिकायत के बाद इस मामले से धर्मार्थ मंत्री को भी अवगत करा दिया गया है। प्रकरण को लेकर नाराज पुराने शास्त्रियों ने जहां मामले की निष्पक्ष जांच कराने की गुहार लगाई है। वहीं मंगलवार को नई तैनाती पाने के बाद आरोपों से घिरे एक पुजारी ने भी मंडलायुक्त के समक्ष अपना पक्ष रखा। इस प्रकरण को लेकर अब शास्त्री-पुजारी आमने-सामने आ गए हैं।
वर्ष1988 से विश्वनाथ मंदिर में तैनात शास्त्रियों ने चार पुजारियों की तैनाती के मामले में कई गंभीर आरोप लगाए हैं। उनका आरोप है कि मंदिर के कुछ पुजारियों के पुत्र, भतीजे और रिश्तेदार को ही वरिष्ठता क्रम की अनदेखी कर पुजारी बनाकर विग्रहों पर तैनात किया गया है। जबकि वर्ष 2009 में गठित समिति की अनुशंसा पर तीन साल पहले उनका चयन किया गया था। तब 11 शास्त्रियों के पैनल को इस आधार पर रखा गया था कि जब जरूरत पड़ेगी तब उन्हीं से रुद्राभिषेक या अन्य अनुष्ठान कराए जाएंगे । कहा गया है कि कुछ प्रभावशाली पुजारियों ने अपने संगे-संबधियों को हाल में ही स्थानांतरित हुए अपर मुख्य कार्यपालक ओम प्रकाश गोस्वामी की मिलीभगत से विग्रहों पर तैनात करवा दिया। इतना ही नहीं मुख्य कार्यपालक अधिकारी और न्यास परिषद के समक्ष गलत तथ्यों को रखकर उनका मानदेय भी स्वीकृत करवा दिया गया। देवेंद्र झा, गोपाल पांडेय, संजय शास्त्री, मंगल त्रिपाठी ने इस प्रकरण को लेकर हाल में ही मंडलायुक्त से मुलाकात भी की थी। अब धर्मार्थ राज्यमंत्री राजीव कुमार सिंह तक इस प्रकरण को पहुंचा दिया गया है। इस मामले में दोषी अफसर की भूमिका की जांच कराने के साथ ही वरिष्ठ शास्त्रियों ने न्याय दिलाने की मांग की है।नियम को ताक पर रखकर जिन्हें पुजारी बनाने का आरोप लग रहा है उनमें से एक अमर नाथ उपाध्याय ने रात को मंडलायुक्त से मिलकर उन्हें स्थिति की जानकारी दी।


कोट
तैनाती संबंधी पत्रावली कमिश्नर और मुख्य कार्यपालक के यहां है। दरअसल जो शास्त्री आरोप लगा रहे हैं उनके पास कोई आधार नहीं है। पुजारी के पद पर तैनाती के लिए विज्ञापन जारी होने के बाद आवेदन मांगे गए थे। नियमानुसार प्रक्रिया अपनाई गई है।-अमर नाथ उपाध्याय-पुजारी, काशी विश्वनाथ मंदिर

Spotlight

Most Read

Gorakhpur

मानबेला : अफसरों के जाते ही किसानों ने उखाड़ फेंका कब्जे का खूंटा

जीडीए ने पैमाइश के बाद खूंटा गाड़कर राप्ती नगर विस्तार आवासीय योजना के आवंटियों को दिया था कब्जा

19 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: सोनभद्र में सफाई कर्मचारियों ने इसलिए मुंडवाया अपना सिर

पूर्वी यूपी के सोमभद्र में उत्तर प्रदेश पंचायती राज ग्रामीण सफाई कर्मचारी संघ के लोगों ने कलेक्ट्रेट पर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान अपनी 11 सूत्रीय मांगों को पूरी कराने को लेकर दर्जनों सफाईकर्मियों  ने सिर मुंडन कराया।

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper