वीसी आवास घेरने पहुंचे 25 छात्र गिरफ्तार, रिहा

Varanasi Updated Mon, 10 Sep 2012 12:00 PM IST
वाराणसी। बीएचयू में छात्रसंघ चुनाव कराने की मांग को लेकर वीसी आवास घेरने पहुंचे 25 छात्रों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पुलिस से धक्कामुक्की में छह छात्रों को मामूली चोटेेें भी पहुंचीं। शांति भंग की आशंका में गिरफ्तार छात्रों को बाद में निजी मुचलके पर रिहा कर दिया गया। इसके पहले, छात्र जुलूस की शक्ल में वीसी आवास की ओर बढ़ रहे थे, लेकिन सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें आवास से पहले एलडी गेस्ट हाउस के पास रोक लिया। इससे नाराज छात्र वहीं धरने पर बैठ गए। रविवार को अपराह्न एक बजे समाजवादी छात्रसभा से जुुड़े बीएचयू में पढ़ने वाले लगभग 40 की संख्या में छात्र अचानक कुलपति निवास की ओर बढ़ने लगे। उस वक्त प्राक्टोरियल बोर्ड के अधिकारी और सुरक्षाकर्मी छात्र परिषद कार्यालय परिसर में अनशन पर बैठे छात्रों के पास थे। सुजीत कुमार सिंह मेजर के नेतृत्व में छात्र कुलपति निवास की ओर बढ़ रहे थे। रुइया छात्रावास के पास उन्हें रोकने की कोशिश की गई लेकिन एलडी गेस्ट हाउस के पास सुरक्षाकर्मियों ने घेरा बनाकर उन्हें रोक लिया। इससे नाराज छात्र वहीं धरने पर बैठ गए। सूचना पाकर लंका थाने की पुलिस भी पहुंच गई। छात्रों की संख्या अधिक देखते हुए पीएसी बुलाई गई। चीफ प्राक्टर और लंका थानाध्यक्ष द्वारा छात्रों से कई बार हटने का आग्रह किया गया लेकिन वे डटे रहे। लगभग दो घंटे तक छात्र वहां डटे रहे और हाथाें में ‘छात्रसंघ बहाल करो’ लिखीं तख्तियां लिए छात्र विश्वविद्यालय प्रशासन के विरोध में नारेबाजी करते रहे। अंत में पुलिस ने छात्रों को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी देने वालाें में सुजीत कुमार सिंह मेजर, सिद्धार्थ श्रीवास्तव, रत्नेश, जितेंद्र, पवन, अभिषेक, शैलेंद्र, रणजीत,
हर्षित, विपुल, विशाल, अभिनव, दीपक, शशांक, कामेश, मनीष, हिमांशु, अनिल, गौतम शंकर, पार्थ भंडारी, विवेक, अविनाश, शिवानंद, रजत, वीरेंद्र शामिल हैं। उधर, समाजवादी छात्रसभा के कार्यकर्ताओं ने इंग्लिशिया लाइन चौराहे पर बीएचयू कुलपति का पुतला फूंका।

एक और अनशनरत छात्र की हालत बिगड़ी
वाराणसी। अनशन के पांचवें दिन रविवार को दोपहर में छात्र दीपक कुमार की तबीयत बिगड़ने पर उसे बीएचयू अस्पताल में भर्ती कराया गया। शाम को अनशन स्थल पर मेडिकल टीम भेजी गई, जिसमें चिकित्सकाें ने अधिकांश छात्राें को भर्ती करने की सलाह दी लेकिन छात्राें का कहना था कि अनशन स्थल खाली करने की एक साजिश है। इसीलिए जिला अस्पताल के चिकित्सकाें से मेडिकल परीक्षण कराई जाए।

छात्रसंघ के पूर्व पदाधिकारियाें का मंच उखाड़ा
वाराणसी। बीएचयू और काशी विद्यापीठ के छात्रसंघ के पूर्व पदाधिकारियाें द्वारा रविवार को लंका चौराहे पर आयोजित सभा को पुलिस ने रोक दिया। पुलिस बीएचयू में अशांति फैलने का आरोप लगाते हुए सभा स्थल से चौकी, कुर्सी और माइक भी उठाकर ले गई। इस घटना के विरोध में छात्रनेताआें ने चौराहे पर जमकर नारेबाजी की। छात्रनेता शैलेंद्र पांडेय की ओर से रविवार की शाम सभा के लिए जिला प्रशासन को प्रार्थना पत्र दिया गया था। छात्रनेता का कहना था कि एडीएम सिटी ने मौखिक रूप से सभा करने की अनुमति दे दी थी लेकिन शाम को जैसे ही सभा के लिए मंच बनाया गया पुलिस मंच पर रखा समान ले गई। फिर बिना मंच और माइक के बीएचयू में छात्रसंघ बहाली और विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा की जा रही मनमानी पर आक्रोश जताया गया। इसमें डा. उमेश सिंह, भुनेश्वर द्विवेदी, हर्षवर्धन सिंह, कमलाकर त्रिपाठी, अतुल मिश्रा, भूपेंद्र प्रताप सिंह, पवन सिंह, रजनीश सिंह, महेश सिंह, पंकज पांडेय, नीरज सिंह आदि शामिल थे। इधर नागरिक मंच के प्रदेश अध्यक्ष सतनाम सिंह ने भी बयान जारी कर कहा कि बीएचयू में छात्रसंघ बहाल होना चाहिए।

Spotlight

Most Read

Lucknow

ब्राइटलैंड स्कूल में छात्र को चाकू मारने वाली छात्रा को मिली जमानत

ब्राइटलैंड स्कूल में कक्षा एक के छात्र रितिक शर्मा को चाकू से गोदने की आरोपी छात्रा को जेजे बोर्ड ने 31 जनवरी तक के लिए शुक्रवार को अंतरिम जमानत दे दी।

19 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: सोनभद्र में सफाई कर्मचारियों ने इसलिए मुंडवाया अपना सिर

पूर्वी यूपी के सोमभद्र में उत्तर प्रदेश पंचायती राज ग्रामीण सफाई कर्मचारी संघ के लोगों ने कलेक्ट्रेट पर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान अपनी 11 सूत्रीय मांगों को पूरी कराने को लेकर दर्जनों सफाईकर्मियों  ने सिर मुंडन कराया।

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper