परमिट 764 को, दौड़ रहे 2000 स्कूली वाहन

Varanasi Updated Thu, 30 Aug 2012 12:00 PM IST
वाराणसी। शहर में दो हजार से अधिक स्कूली वाहन सड़कों पर दौड़ रहे हैं हालांकि परिवहन विभाग की फाइलों में मात्र 764 स्कूली वाहन ही पंजीकृत हैं। इनमें छोटी-बड़ी बसों के अलावा मैजिक और मोटर कैब तक शामिल हैं। हजार से अधिक स्कूली वाहन अस्थायी परमिट पर दौड़ रहे हैं। अस्थायी परमिट से परिवहन विभाग को मोटी आमदनी तो हो रही है मगर अनधिकृत वाहनों की बाढ़ से शहर की यातायात व्यवस्था पूरी तरह से चौपट हो गई है।
निजी स्कूल संचालकों का आरोप है कि अस्थायी परमिट के एवज में परिवहन विभाग के अधिकारी मनमाना पैसा वसूल रहे हैं। मजबूरी में मांगी गई रकम देनी पड़ती है। आरोप है कि जांच अभियान केवल वसूली के लिए चलाया जाता है। जांच के नाम पर रास्ते में बसों को रोके जाने से सबसे ज्यादा परेशानी बच्चों को होती है। उमस में भूखे-प्यासे बच्चे परेशान हो जाते हैं। जांच जरूरी है तो स्कूल में आकर की जा सकती है। इसमें सारे स्कूल सहयोग करेंगे। स्कूल प्रबंधन से जुड़े लोगों का कहना है कि इस बाबत कई दफा परिवहन विभाग के आला अधिकारियों से चर्चा हो चुकी है मगर आज तक इस समस्या को कोई स्थायी समाधान नहीं निकल पाया।
वहीं, संभागीय परिवहन अधिकारी बृजेश सिंह का कहना है कि कई स्कूल वाले मानकों का उल्लंघन कर रहे हैं। अस्थायी परमिट छोडि़ए मेरे संज्ञान में ऐसे सैकड़ों वाहन हैं जो अनाधिकृत रूप से चल रहे हैं। उनकी धरपकड़ जारी है। हरहाल में स्कूली बसों को मानकों को पूरा करना होगा। अस्थायी परमिट के लिए अतिरिक्त पैसा लेने का आरोप बेबुनियाद है।

स्कूली बसों के परमिट के मानक
1. स्कूल मान्यता प्राप्त हो या सोसाइटी एक्ट में पंजीकृत
2. वाहन की यांत्रिक दशा दुरुस्त होनी चाहिए
3. वाहन का रंग पीला होना चाहिए
4. बस की खिड़कियों में जाली, राड लगी हो
5. बस के दरवाजे पर ताला बंद करने की व्यवस्था जरूरी
6. सीट के नीचे स्कूल बैग रखने की पर्याप्त जगह होनी चाहिए
7. बस के आगे और पीछे स्पष्ट रूप से स्कूल बस लिखना जरूरी
8. स्कूल बस पर स्कूल का फोन नंबर अंकित होना चाहिए
9. बैठने के लिए नियमानुसार व्यवस्था हो
10. फर्स्ट एड बाक्स, आग बुझाने का उपकरण जरूरी
11. आपातकालीन खिड़की और दरवाजा होना चाहिए

बाक्स ..
परिवहन विभाग ने शहर में 764 छोटी-बड़ी स्कूली बसों को जारी किया है परमिट
स्कूली वाहनों के परमिट के लिए आवेदन शुल्क 1100 रुपये है
पांच साल के लिए परमिट की फीस 3750 रुपये
साल में एक बार वाहन की फिटनेस जांच का प्रावधान

बाक्स....
विशेष जांच अभियान में 12 स्कूली बसें बंद
उप परिवहन आयुक्त एसके सिंह के निर्देश पर 24 से 27 अगस्त तक शहर में चले विशेष जांच अभियान में 12 स्कूली बसों सहित सौ से अधिक छोटे-बड़े वाहनों का चालान किया गया और तीन लाख रुपये से अधिक जुर्माना वसूला गया। उप संभागीय परिवहन अधिकारी (प्रथम) मयंक ज्योति के नेतृत्व में चले अभियान में एक बस, 11 डिलेवरी वैन, एक मैजिक, 11 मोटर कैब, छह आटो रिक्शा और पांच स्कूली बसों को परमिट न होने, फिटनेस खराब होने और टैक्स बकाया होने के चलते बंद किया गया। अभियान दल ने 49 हजार रुपये का जुर्माना वसूला जबकि 98 हजार रुपये के बकाए टैक्स की वसूली की गई। इसी प्रकार एआरटीओ (द्वितीय) मो. खालिद के नेतृत्व वाले अभियान दल ने 15 ट्रक, 20 डिलेवरी वैन, चार मैजिक, चार मोटर कैब, 18 आटो रिक्शा और दो स्कूली बसों को बंद किया। दल ने 76 हजार रुपये जुर्माना वसूला जबकि सात हजार रुपये के बकाए टैक्स की वसूली की। एआरटीओ (तृतीय) आरएस यादव की अगुवाई में अभियान दल ने चार ट्रक, छह डिलेवरी वैन, 15 मैजिक, नौ मोटर कैब एवं चार स्कूली बसों का चालान किया। दल ने 91 हजार रुपये जुर्माना वसूला जबकि एक लाख 55 हजार रुपये बकाया टैक्स की वसूली की।

कोट्स...
विद्यालय समूह की 90 बसें हैं। सभी का फिटनेस ठीक है। बसों के ड्राइवर प्रशिक्षित हैं। संचालन के लिए जरूरी हर प्रकार के मानकों को पूरा करते हैं -अमृता बर्मन, उप निदेशक, सनबीम ग्रुप आफ स्कूल्स

स्कूल के 70 छोटे-बड़े वाहन हैं। स्कूल प्रबंधन सभी मानकों को पूरा करता है। यदि ड्राइवर के विषय में किसी प्रकार की शिकायत मिलती है तो कार्रवाई भी की जाती है - प्रदीप मधोक ‘बाबा,’ अध्यक्ष, डालिम्स ग्रुप आफ स्कूल्स

विद्यालय की 90 बसें चलती हैं। सभी का फिटनेस प्रमाणपत्र है। ड्राइवर योग्य तथा प्रशिक्षित हैं। सभी मानकों को पूरा करने के बाद ही स्कूल बसें चलती हैं-पवन सिंह, पीआरओ, डीपीएस वाराणसी

Spotlight

Most Read

Kanpur

बाइकवालाें काे भी देना हाेगा टोल टैक्स, सरकार वसूलेगी 285 रुपये

अगर अाप बाइक पर बैठकर आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर फर्राटा भरने की साेच रहे हैं ताे सरकार ने अापकी जेब काे भारी चपत लगाने की तैयारी कर ली है। आगरा - लखनऊ एक्सप्रेस वे पर चलने के लिए सभी वाहनों को टोल टैक्स अदा करना होगा।

16 जनवरी 2018

Related Videos

बीजेपी विधायक के बिगड़े बोल, कहा देश में बेहद कम मुसलमान देशभक्त

सत्ता सुख मिलने के बाद यूपी बीजेपी का कोई न कोई नेता लगातार विवादित बयान दे रहा है। अब बलिया से बीजेपी के विधायक सुरेंद्र सिंह ने कहा है कि देश के ज्यादातर मुसलमान देशभक्त नहीं है। वो खाते भारत का हैं, और चिंता पाकिस्तान की करते हैं।

15 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper