अबकी घाटों के सहारे नहीं हो पाएगी पंचक्रोशी

Varanasi Updated Sun, 19 Aug 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
वाराणसी। काशी में प्रवेश करने मात्र से सभी पापों से मुक्ति मिलती है। मगर काशी में रहकर किए गए पापों की मुक्ति पंचक्रोशी यात्रा से मिलती है। विशेष पंचक्रोशी यात्रा हर तीन साल पर पुरुषोत्तम मास में होती है। अबकी पुरुषोत्तम मास 18 अगस्त से शुरू हो रहा है और 16 सितंबर को इसकी समाप्ति होगी। इस अवधि में लगातार श्रद्धालु पांच दिवसीय यात्रा पर निकलेंगे। लगभग 84 किलोमीटर लंबी इस यात्रा में अबकी पहले कदम से ही बाधाएं दिख रही हैं। घाटों का संपर्क मार्ग पानी भरने के कारण अवरुद्ध है। लिहाजा गलियों के सहारे श्रद्धालुओं को यात्रा पूरी करनी होगी। रास्तों की हालत खस्ता है। धर्मशालाओं पर अवैध कब्जे हैं। रास्ते में पेयजल, रोशनी आदि का बंदोबस्त भी नहीं है।
पंचक्रोशी यात्री मणिकर्णिका पर स्नान करके काशी विश्वनाथ मंदिर परिसर स्थित व्यास पीठ पर संकल्प लेते हैं। लौटकर मणिकर्णिका से घाटों के सहारे अस्सी तक पहुंचते हैं। गंगा में बाढ़ होने के कारण घाटों का रास्ता अवरुद्ध है। उनसे लगी पेचीदा गलियों के सहारे परिक्रमा करनी पड़ेगी। श्रद्धालु अपने साथ पांच दिन रहने लायक सामग्री की गठरी लेकर आते हैं। नीलकंठ द्वार पर उसे रखने की व्यवस्था नहीं है। बिना संकल्प के यात्रा बेमानी है। यात्रा की समाप्ति पर लौट कर संकल्प छोड़ना भी होता है। अस्सी के बाद कंर्दमदेश्वर महादेव (कंदवा) स्थित प्रथम पड़ाव पर कचरे और गंदगी का अंबार है। धर्मशालाओं की हालत खस्ता है। नरिया से कंदवा तक का रास्ता भी बेहद खराब है।
आराजीलाइन संवाददाता के मुताबिक राजातालाब से भीमचंडी के बीच पत्थर की सड़क उखड़ गई है। भीमचंडी में कई धर्मशालाओं पर अवैध कब्जा है। लोग उनमें पशु बांध रहे हैं। रामेश्वर संवाददाता ने बताया कि जंसा, भावपुर, रामेश्वर में लगे पत्थर के चौके उखड़ गए हैं। इंदरखापुर गांव में पुलिया के आगे की सड़क बह गई है। हरहुआ में एक किलोमीटर तक जल जमाव है। धर्मशालाओं में लोगों ने भूसा रख दिया है। आठ में महज तीन धर्मशालाएं ही रहने लायक हैं। साफ-सफाई की हालत भी चिंतनीय है। केंद्रीय देव दीपावली समिति के वागीश दत्त मिश्र के मुताबिक रानी भवानी, अहिल्याबाई, काशी नरेश ने श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए मंदिर और धर्मशालाओं का निर्माण कराया था। लेकिन, अब ये बदहाल हैं। अपर जिला मजिस्ट्रेट नगर एमपी सिंह ने बताया कि अधिकारियों से जरूरी बंदोबस्त करने को कहा गया है। शुक्रवार को इसकी समीक्षा की जाएगी।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Udham Singh Nagar

चौथे दिन खुला रुद्रपुर बाजार, रौनक लौटी

अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई के विरोध में रविवार से बंद रुद्रपुर बाजार बुधवार सुबह खुल गया।

24 मई 2018

Related Videos

एसपी नेता के बिगड़े बोल, "शरीर की बनावट के हिसाब से महिलाएं कपड़े पहने"

बलिया में समाजवादी पार्टी के नेता रामशंकर विद्यार्थी ने महिलाओं के कपड़ों को लेकर एक चौंकाने वाली बात कही है। एसपी नेता के मुताबिक महिलाएं ऐसे कपड़े पहने जिससे अश्लीलता न फैले।

22 मई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen