मिड वाइफवरी असिस्टेंट की फर्जी डिग्री दे लाखों डकारे

Varanasi Updated Mon, 13 Aug 2012 12:00 PM IST
वाराणसी। मिर्जापुर के कैलहट में जन शिक्षण संस्थान केंद्र के माध्यम से ‘मिड वाइफरी असिस्टेंट’ नाम से फर्जी डिग्री बांटकर 16 लाख रुपये डकारने का मामला सामने आया है। घपलेबाजों ने ग्रामीण परिवेश की 40 महिलाओं को बाकायदा एक साल तक पढ़ाया, परीक्षा ली और अंत में ऐसी डिग्री पकड़ा दी जो कागज का टुकड़ा साबित हुई। छात्राओं ने इसकी शिकायत की तो केंद्र संचालक और जन शिक्षण संस्थान वाराणसी के डायरेक्टर इसके लिए एक दूसरे को जिम्मेदार ठहराने लगे।
जन शिक्षण संस्थान, वाराणसी ने सीमा का अतिक्रमण करते हुए मिर्जापुर के कैलहट में शाखा खोली। वहां उसने मिड वाइफरी असिस्टेंट का प्रशिक्षण पाठ्यक्रम चलाना शुरू किया। इसके लिए 40 छात्राओं का चयन किया गया। प्रत्येक छात्रा से 40 हजार रुपये शुल्क लिए गए। छात्राओं ने बताया कि सरिता देवी नामक एक महिला को केंद्र का संरक्षक नियुक्त किया गया था। विजय पांडेय नामक कोई चिकित्सक कक्षाएं लेते थे। एक साल का पाठ्यक्रम पूरा करने के बाद परीक्षा हुई और सबको प्रमाणपत्र दिए गए। प्रमाणपत्र पर जन शिक्षण संस्थान के लोगो के बजाय राष्ट्रीय चिह्न छापा गया है। पाठ्यक्रम को डिपार्टमेंट आफ स्कूल एजुकेशन एंड लिटरेसी, मिनिस्ट्री आफ ह्यूमन रिसोर्स डेवलपमेंट से प्रायोजित बताया गया है। छात्राओं ने जब पंजीकरण कराना चाहा तो उन्हें पता चला कि डिग्री फर्जी है। मिर्जापुर के रामपुर कोलाना की रहने वाली सुषमा सिंह कहती हैं कि उनके 40 हजार रुपये डूब गए और एक साल भी बरबाद हुआ। उधर, जयंत कुमार शुक्ल के जन शिक्षण संस्थान, बनारस के निदेशक होने पर भी विवाद चल रहा है। केंद्र की निगरानी का जिम्मा संभाल रहे सह जिला विद्यालय निरीक्षक ओपी राय का कहना है कि निदेशक के बारे में दो तरह के आदेश होने के कारण यथास्थिति कायम रखी गई है। बनारस में उनकी ऐसी कोई गतिविधि नहीं है, मिर्जापुर के बारे में कुछ नहीं कह सकता।

कोट्स
जन शिक्षण संस्थान के जयंत कुमार शुक्ला ने केंद्र खोलने के लिए आवास मांगा था। उनके कहने पर कुछ छात्राओं का दाखिला भी कराया। जिनका दाखिला कराया था उनके अभिभावक अब रुपये लौटाने के लिए दबाव डाल रहे हैं-दीपक कुमार, केंद्र संचालक

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

अलग अंदाज में मनाया गया BHU स्थापना दिवस, आप भी कर उठेंगे वाह-वाह

सोमवार को बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में 102वां स्थापना दिवस मनाया गया। इस मौके पर पारंपरिक परिधान में सजे छात्र-छात्रों ने झांकियां निकाली। झांकियों के साथ चल रहे स्टूडेंट्स ढोल-नगाड़ों की थाप पर थिरकते नजर आए।

23 जनवरी 2018