प्रचार हुआ बंद, अब मतदान की फिक्र

Varanasi Updated Sat, 23 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
वाराणसी। निकाय चुनाव के लिए रविवार को होने वाले मतदान की खातिर शुक्रवार की शाम छह बजे चुनाव प्रचार का शोर थम गया। अब प्रत्याशी और प्रशासन शांतिपूर्ण मतदान की तैयारी को अंतिम रूप देने में जुट गए। जिले की सीमाएं सील कर दी गईं। देर शाम होटलों और लाजों की तलाशी ली गई और बाहरी नेताओं को बाहर का रास्ता दिखाया गया। राज्य निर्वाचन आयुक्त एसके अग्रवाल ने जिलाधिकारी समीर वर्मा और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बीडी पाल्सन से विडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए चुनाव की तैयारियों का हाल जाना।
विज्ञापन

नगर निगम के मेयर और सभी 90 वार्डों के पार्षद, रामनगर नगर पालिका परिषद अध्यक्ष और 25 वार्ड के सदस्यों तथा नगर पंचायत गंगापुर के अध्यक्ष और 10 वार्डों के सदस्यों के चुनाव के लिए अब उलटी गिनती शुरू हो गई। रविवार की सुबह सात से शाम छह बजे तक मतदान होगा। मतगणना सात जुलाई को होगी। तब तक ईवीएम पहडि़या मंडी में कड़ी सुरक्षा में रखे जाएंगे। जिला निर्वाचन कार्यालय में आज दिन भर चुनावी बंदोबस्त चलते रहे। मतदान अभिकर्ता बनाने के लिए प्रत्याशियों के प्रतिनिधि दौड़ लगाते रहे। पोलिंग पार्टियिंों को रवाना करने के लिए बसों का अधिग्रहण किया गया। कुछ बसें पुलिस लाइन में खड़ी की गईं जबकि सांस्कृतिक संकुल में भी बसें खड़ी की गई हैं। शनिवार को पोलिंग पार्टियां रवाना की जाएंगी। शाम तक मतदान केंद्रों पर बिजली, सफाई और पानी के बंदोबस्त किए जाते रहे।
शाम छह बजे चुनाव प्रचार थम जाने के बाद जिले की सीमाओं पर कुल 48 बैरियर लगा दिए गए। अब असलहा और शराब लेकर लोग जिले में प्रवेश नहीं कर सकेंगे। चुनाव को किसी भी तरह से प्रभावित करने वालों का प्रवेश प्रतिबंधित होगा। चुनाव के दिन तक यह प्रतिबंध लागू रहेगा। शराब की दुकानें शुक्रवार की शाम से बंद करा दी गईं। चुनावी ड्यटी के मद्देनजर एसएसपी बीडी पाल्सन से पुलिस फोर्स की ब्रीफ्रिंग भी की। लोगों के साथ सलीके से पेश आने और अराजकतत्वों से कड़ाई से निबटने को कहा गया है। पूरे शहर में पुलिस की मोबाइल पार्टी भी सक्रिय रहेगी। इसके पूर्व, आईजी बृजभूषण ने डीआईजी और एसएसपी संग चुनाव के संबंध में मीटिंग की। संवेदनशील वार्डों में आरएएफ समेत अन्य पुलिस फोर्स शनिवार को फ्लैग मार्च भी निकालेगी।
इससे पूर्व महापौर और पार्षद पद के प्रत्याशियों ने अंतिम दिन जुलूस निकाल कर अपनी लोकप्रियता का एहसास कराया। आखिरी वक्त में जगह-जगह नुक्कड़ सभाएं भी की गईं। गलियों में बच्चों ने भी झुंड बनाकर नेताओं के समर्थन में जुलूस निकाले और जमकर नारेबाजी की। पूरे शहर में झंडे लहराते रहे और नारे गूंजते रहे। प्रचार वाहनों से भी प्रत्याशियों कोजिताने की अपील की जाती रही।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us