बदइंतजामी की भेंट चढ़ी विद्युत आपूर्ति व्यवस्था

Varanasi Updated Wed, 20 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
वाराणसी। भले ही कोई इसे आंधी-पानी का असर बताए लेकिन हकीकत में यह विभागीय बदइंतजामी रही कि शहरियों को 18-20 घंटे तक तक बिजल-पानी संकट झेलना पड़ा। जिस तरह से गर्मी से पहले उसका इंतजाम नहीं किया गया उसी तरह से वर्षा से पहले भी उपकेंद्रों, 132 और 33 केवी लाइन्स तथा ट्रांसफार्मर्स पर कोई ध्यान नहीं दिया गया। नतीजा हल्की सी बारिश क्या हुई 220ुु केवी साहूपुरी विद्युत उपकेंद्र से 132 केवी भिखारीपुर आने वाली लाइन में ही फाल्ट आ गया। पहले तो साहूपुरी से भिखारीपुर की लाइन चालू करते ही लाइन ट्रिप कर जा रही थी, जब वहां से गड़बड़ी दुरुस्त हुई तो भिखारीपुर से 33 केवी उपकेंद्रों की आपूर्ति बहाल करते ही भिखारीपुर उपकेंद्र परिसर से सटे ही जंफर उड़ गया। नतीजा सोमवार की रात 10.30 बजे गई शहर दक्षिणी की बिजली मंगलवार की दोपहर में कहीं ढाई बजे तो कहीं शाम पांच बजे तक आई। बिजली न रहने से सुबह की पाली में जलापूर्ति भी नहीं हो सकी। उधर डुबकिया से लेढ़ूपुर होते कैंट उपकेंद्र को आने वाली लाइन में फाल्ट के चलते वरुणापार और शहर उत्तरी में भी संकट रहा। यानी विद्य्ुत विभाग की अदूरदर्शिता का खामियाजा पूरे शहर ने भुगता।
विज्ञापन

बीती रात 10.30 बजे शहर की आपूर्ति बाधित र्हुई तो मंगलवार को कहीं ढाई बजे तो कहीं पांच बजे के बाद बहाल हो सकी। विभाग का हाल यह रहा कि उसे फाल्ट ढूंढने में ही करने में करीब 8-10 घंटे लग गए, फिर शुरू हुआ गड़बड़ी दूर करने काम। साहूपुरी से भिखारीपुर को आने वाली लाइन में तकनीकी फाल्ट से 33 केवी शंकुलधारा के अलावा भेलूपुर, बेनिया, सिगरा, विद्यापीठ, चेतमणि, भदैनी, डाफी रामनगर तथा 11 केवी गोदौलिया फीडर, लोहता यानी आधा शहर बिजली-पानी से महरूम हो गया। लोगों ने सोमवार और मंगलवार की रात तो जैसे-तैसे गुजार दी पर सुबह उठे तो दैनिक क्रिया के लिए पानी नसीब नहीं हुआ। नलों की टोटियां सूं-सूं करती रहीं। इसका इंतजार दोपहर तक करना पड़ा। सरायनंदन की गुडि़या, दशमी के रामसुंदर, खोजवां से रामबिलास ने कहा कि हम लोग तो दूर दराज के हैंडपंप और कुंओं से पानी लाए तो स्नान-ध्यान हुआ और रसोई बनी। ऊमस भरी गर्मी में पसीने-पसीने तर बतर हुए सो अलग।
उधर उधर डुबकिया से लेढ़ूप़ुर होते कैंट को आने वाली लाइन में गड़बड़ी के चलते मछोदरी, काशी, मैदागिन, टाउनहाल, चौक, तरना, बड़ालालपुर, पन्नालाल पार्क, एमईएस, अर्दली बाजार, दौलतपुर, पांडेयपुर, चौकाघाट, डीपीएच सब स्टेशन प्रभावित रहा। लेढ़ूपुर से जुड़े सारनाथ क्षेत्र में सुबह सात बजे, पांडेयपुर में पौने दस बजे और दौलतपुर में सुबह 6:10 बजे बिजली आई है। इधर काशी विद्यापीठ सब स्टेशन से जुड़े बादशाह बाग फीडर का फातमान रोड स्थित चार सौ केवीए का ट्रांसफार्मर सुबह 10 बजे जल गया। ट्रांसफार्मर में लगी आग तो फायर ब्रिगेड की टीम ने जैसे-तैसे बुझा दी पर इससे जुड़े इलाकों में अब बुधवार को ही आपूर्ति सामान्य हो पाएगी।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us