काशी के न्यायाधीश की अदालत में अविरलता का मुकदमा

Varanasi Updated Sat, 09 Jun 2012 12:00 PM IST
वाराणसी। भोले की नगरी काशी के न्यायाधीश दंडपाणि भैरव के दरबार में शुक्रवार को भक्तों ने गंगा की अविरलता-निर्मलता का मुकदमा दर्ज कराया। इस मामले में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी समेत पांच लोगों को प्रतिवादी बनाया गया है। यह मुकदमा गंगा सेवा अभियानम् के प्रदेश समन्वयक राकेश चंद्र पांडेय की ओर से दर्ज कराया गया।
काशी के न्यायाधीश के दरबार में गंगा की अविरलता-निर्मलता संबंधी वाद दोपहर बाद दाखिल किया गया। मान्यता है कि दंडपाणि भैरव के दरबार में किसी भी मुकदमे की जल्द सुनवाई तो होती ही है, जल्द ही न्याय भी मिल जाता है। इससे प्रेरित होकर अभियानम् के समन्वयक ने प्रधानमंत्री, यूपीए अध्यक्ष के अलावा कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी, पर्यावरण मंत्री जयंती नटराजन, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। दंडपाणि भैरव के महंत षटशास्त्री पांडेय, त्रिभुवन पांडेय के समक्ष प्रस्तुत किए गए वाद में कहा गया है कि केंद्र सरकार इस मसले पर लगातार टाल-मटोल कर रही है। साधु-संत तपस्या कर रहे हैं। देशभर से आवाज उठने और कई दौर की वार्ता होने के बाद भी बांध परियोजनाओं को रद्द करने के मसले पर केंद्र सरकार कोई निर्णय नहीं ले सकी है। मुकदमा दर्ज करने के बाद महंत ने अभियानम् की टीम को न्याय मिलने का भरोसा भी दिलाया। दंडपाणि भैरव मंदिर में वाद दर्ज कराने वालों में डॉ. जीसी तिवारी, गणेश जायसवाल, अजय कुमार, राधेश्याम समेत तमाम लोग थे।

इनसेट
दंडपाणि की आरती का विस्तार
वाराणसी। गंगा की दशा से मर्माहत महंत षटशास्त्री ने अभियानम् के सार्वभौम संयोजक स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती से दंडपाणि भैरव की पूजा-आरती की वृहद स्वरूप संक्षिप्त करने का प्रस्ताव रखकर चिंता बढ़ा दी। महंत के प्रस्ताव को अस्वीकार करते हुए स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने काशी के न्यायाधिपति को प्रसन्न करने के लिए पूजा की अवधि बढ़ाने का आग्रह किया। इस पर दंडपाणि की पूजा-आरती की अवधि शुक्रवार की शाम से बढ़ा दी गई है।

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

बवाना कांड पर सियासत शुरू, भाजपा मेयर बोलीं- सीएम केजरीवाल को मांगनी चाहिए माफी

दिल्ली के औद्योगिक इलाके बवाना में शनिवार देर शाम अवैध पटाखा गोदाम में आग लगने से 17 लोगों की मौत के बाद अब इस पर सियासत शुरू हो गई है।

21 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: श्रीलंका का ये सांस्कृतिक नृत्य देख कर झूम उठेंगे आप

बीएचयू के संगीत एवं मंच कला संकाय के पंडित ओंकार नाथ ठाकुर सभागार में गुरुवार की शाम श्रीलंकाई कलाकारों के नाम रही। यहां श्रीलंका से आए 10 कलाकारों के ‘ठुरैया ग्रुप’ ने पारंपरिक नृत्य से समां बांध दिया।

20 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper