मां की अभिव्यक्ति ने कर दिया भावविह्वल

Varanasi Updated Mon, 14 May 2012 12:00 PM IST
वाराणसी। किसी ने अपनी मां को दुनिया की सबसे अच्छी मां कहा तो किसी ने कहा, मदर आई लव यू। कुछ ने कहा, मां दुनिया का वह बेशकीमती हीरा है, जो जिंदगी में एक बार मिलता है। जबकि कई ने उसे ममता की प्रतिमूर्ति और अपनी जिंदगी को संवारे जाने की देवी कहा। इतना ही नहीं। इन लफ्जों को कहते-कहते कई की आंखें भर आईं तो कई सिसक पड़े। रही मौजूद लोगों की बात तो मां की अभिव्यक्ति पर वह भी भावविह्वल हुए बिना नहीं रह सके।
यह नजारा था मदर्स डे पर अमर उजाला की ओर से रविवार को महमूरगंज स्थित समारा रेस्टोरेंट में आयोजित कार्यक्रम एक पैगाम मां के नाम में। अमर उजाला की ओर से मां पर कहानी और कविता लिखे जाने की प्रतियोगिता आयोजित की गई थी, जिसमें छह सौ लोगों ने अपनी रचनाएं भेजी थी। जजों ने सेलेक्ट कर 20 रचनाओं को प्रतियोगिता में शामिल किया और प्रथम, द्वितीय तथा तृतीय पुुरस्कार के साथ सभी 20 विजेताओं को पुरस्कृत किया। पूर्वाह्न 11:30 बजे शुरू हुए कार्यक्रम में पहला पुरस्कार सदर बाजार निवासी इम्तियाज अहमद, दूसरा सोनारपुरा निवासी शौर्या कुमारी और तीसरा काजीपुरा सोनिया निवासी मोना वर्मा ने हासिल किया। इन्होंने रचनाओं में मां की अहमियत से जुड़ी कई बातों को बड़े मार्मिक ढंग से प्रस्तुत किया गया था। इम्तियाज ने कहा कि मां तो मां है, इसके जैसा खजाना दुनिया में कोई नहीं। जबकि शैर्या ने कहा कि मेरी मां दुनिया की सबसे अच्छी माताओं में एक है। आई लव यू माम। वहीं, मोना वर्मा ने भी मां की तारीफ की। कहा, कौन मां नहीं चाहेगी कि उसकी औलाद में अच्छे संस्कार न हो। मेरी मां ने मुझे हर संस्कार दिए हैं। मां हो तो मेरी मां जैसी। यह कहते-कहते उसकी आंखें छलछला उठीं। मौजूद लोग भी मां की यह अभिव्यक्ति सुन भावविह्वल हुए बिना नहीं रह सके। बाद में सभी 20 विजेताओं को अमर उजाला के यूनिट फाइनेंस कंट्रोलर तपेश शर्मा और आईटी हेड अमरीश त्यागी ने पुरस्कृत करते हुए उन्हें बधाई दी। कार्यक्रम का संचालन और संयोजन धर्मेंद्र श्रीवास्तव ने किया। धन्यवाद तपेश शर्मा ने किया।


प्रथम रचना
जाड़े की कुनकुन धूप है मां, सार गहे वह सूप है मां। एक शब्द है अगर कहूं तो ईश्वर का पुनिरूप है मां।
-इम्तियाज अहमद सदर बाजार वाराणसी

द्वितीय रचना
कब्र की आगोश में थककर सो जाती है मां, तब कहीं जाकर थोड़ा सुकून पाती है मां। फिक्र में बच्चों की कुछ ऐसे घुल जाती है मां, नौजवां होते हुए भी बूढ़ी नजर आती है मां। -शौर्या कुमारी, सोनारपुरा वाराणसी

तृतीय रचना
मां संवेदना है भावना है एहसास है, मां जीवन के फूलों में खुशबू का वास है। मां रोते हुए बच्चों का खुशनुमा पालना है, मां मरुस्थल में नदी या मीठा सा झरना है। -मोना वर्मा, काजीपुरा सोनिया वाराणसी

ये भी हुए सम्मानित
अलका यादव, सिद्धार्थ सोनाली, बिन्नी वर्मा, सुनील सेठ, रश्मि श्रीवास्तव, राहित दीक्षित, सैयद अहमद, सरिता चौरसिया, पूजा सिंह, समीर जायसवाल, भारती कुमारी, शिवानी राय, मीनू ग्रोवर, आशीष गुप्ता और प्रियंका राय।

अपनी अभिव्यक्ति से मर्माहत हो उठी मदर्स
वाराणसी। इम्तियाज अहमद की मां शमीम बानो ने बच्चे के मुख से जब अपने बारे में मां की अभिव्यक्ति सुनी तो यकायक उनके हाथ अपनी बच्चे की दुआ के लिए सिर पर चले गए। कहा, खुश रहो, सलामत रहो खुदा तुम्हें नेक बनाए और तुम हमेशा मां बाप का नाम रोशन करो। शौर्या कुमारी की माता आशा गुप्ता ने भी भरी आंखों से अपनी बेटी को आशीर्वाद देने में पीछे नहीं रहीं। कहा, दिन दूनी रात चौगुनी तरक्की करे, मेरी बेटी। वहीं, मोना वर्मा की पुष्पा देवी भी ऐसी भोली और होनहार बिटिया को आशीर्वाद देते हुए बोली कि तुम्हारी कामयाबी हमें सदैव गौरवान्वित करती रहेगी। जियो मेरी बेटी हजारों साल जियो।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी में नौकरियों का रास्ता खुला, अधीनस्‍थ सेवा चयन आयोग का हुआ गठन

सीएम योगी की मंजूरी के बाद सोमवार को मुख्यसचिव राजीव कुमार ने अधीनस्‍थ सेवा चयन बोर्ड का गठन कर दिया।

22 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: IIT BHU में स्टूडेंट्स ने किया धमाकेदार डांस, हर कोई कर रहा है तारीफ

आईआईटी बीएचयू के सालाना सांस्कृतिक महोत्सव ‘काशी यात्रा’ में शनिवार को स्टूडेंट्स झूमते नजर आए। बड़ी तादाद में स्टूडेंट्स ने बॉलीवुड गीतों पर प्रस्तुति देकर दर्शक दीर्घा में मौजूद लोगों को भी झूमने पर मजबूर कर दिया।

22 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper