स्पंज आयरन यूनिट शुरू होने से पांच सौ लोगों को मिला रोजगार

Varanasi Updated Sun, 06 May 2012 12:00 PM IST
वाराणसी। विकास की दौड़ में पिछड़ा कहा जाने वाला पूर्वांचल क्रमश: विकासोन्मुख है। हालांकि अब भी कई इकाइयां बंद पड़ी हैं। उद्यमियों का कहना है कि यदि पड़ोसी राज्यों जैसी सुविधाएं उत्तर प्रदेश में मिलें तो विकास की गति और तेज होगी और लोगों को बड़ी संख्या में रोजगार भी मिलेगा। अब भी यहां आधा दर्जन से ज्यादा औद्योगिक इकाइयों की स्थापना के प्रस्ताव लंबित हैं। हालांकि प्रदेश की नई सरकार से उद्यमियों को काफी अपेक्षाएं हैं।
मिर्जापुर जनपद के चुनार में स्पंज आयरन यूनिट शुरू होने से लगभग पांच सौ लोगों को रोजगार मिला है। रामनगर इंडस्ट्रियल इस्टेट एसोसिएशन के अध्यक्ष आरके चौधरी ने स्पंज आयरन कंपनी शांति गोपाल कानकास लि. को टेकओवर कर पुन: शुरू किया है। इससे आसपास के पांच सौ से ज्यादा लोगों को रोजगार मिला है। उन्होंने कहा कि इस यूनिट की क्षमता प्रतिदिन 400 टन स्पंज आयरन उत्पादन की है। मौजूदा समय में प्रतिदिन 300 टन ज्यादा उत्पादन हो रहा है। जल्द ही प्रतिदिन 200 टन फर्नेश आयरन का उत्पादन होने लगेगा। उन्होंने कहा कि पूर्वांचल में स्पंज आयरन की तीन इकाइयां हैं। इनमें चुनार की यूनिट सबसे बड़ी है।
श्री चौधरी का कहना है कि पाइप लाइन में पड़ी सरिया की यूनिटें भी शुरू हो जाएं तो उपभोक्ताओं को सस्ता और गुणवत्तायुक्त उत्पाद मिलेगा। उन्होंने कहा कि बिहार समेत अन्य पड़ोसी राज्यों जैसी सुविधाएं-संसाधन मिलें तो पूर्वांचल में ज्यादा लोग पूंजी निवेश करेंगे। क्योंकि यहां श्रम की पर्याप्त उपलब्धता है। उन्होंने कहा कि पिछले दस सालों में देखा जाए तो किसी बड़ी औद्योगिक इकाई की स्थापना नहीं हुई बल्कि ढेरों उपक्रमों पर ताला जरूर लग गया। नई सरकार बनने के बाद लोगों में एक बार फिर उत्साह जगा है। इस उत्साह को यदि प्रदेश सरकार बरकरार रखे तो उत्तम प्रदेश का सपना पूरा हो जाएगा। उद्योग लगाने के लिए उद्यमियों को बुनियादी सुविधाएं देनी पड़ेंगी। साथ ही जो दिक्कतें आ रही है उन्हें प्राथमिकता के आधार पर दूर करना होगा।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

अलग अंदाज में मनाया गया BHU स्थापना दिवस, आप भी कर उठेंगे वाह-वाह

सोमवार को बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में 102वां स्थापना दिवस मनाया गया। इस मौके पर पारंपरिक परिधान में सजे छात्र-छात्रों ने झांकियां निकाली। झांकियों के साथ चल रहे स्टूडेंट्स ढोल-नगाड़ों की थाप पर थिरकते नजर आए।

23 जनवरी 2018