बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

और 2.58 लाख घरों की होगी जरूरत

Varanasi Updated Sat, 05 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
वाराणसी। सुनियोजित विकास के लिए 2031 तक शहर में 2,58,358 आवासों की और जरूरत होगी। इस आवश्यकता को पूरा करने के लिए 10846 हेक्टेयर भूमि की जरूरत पड़ेगी। यह स्थिति तब है, जब प्रस्तावित होने वाली महायोजना-2031 में पांच लोगों के एक परिवार को एक इकाई माना गया है। इसी जरूरत को ध्यान में रखते हुए नई महायोजना का खाका तैयार करने में ग्राम्य एवं नगर नियोजन विभाग जुटा है।
विज्ञापन

जुलाई 2011 में ही महायोजना-2011 की समय सीमा समाप्त हो गई थी। हालांकि नई महायोजना तैयार नहीं होने के कारण अगले आदेश तक के लिए महायोजना-2011 को ही लागू रखा गया है। उधर, महायोजना-2031 का खाका खींचने के कार्य में तेजी आ गई है। इसके लिए शहर में 2031 तक की आवासीय जरूरत का जो आकलन किया गया है, उसमें आर्थिक दृष्टि से कमजोर आय वर्ग के लोगों की आबादी अपेक्षाकृत ज्यादा होगी। इस आय वर्ग के 40 प्रतिशत लोगों के आवास के लिए 1148 हेक्टेयर, निम्न आय वर्ग के 30 प्रतिशत लोगों के लिए 1550.14 हेक्टेयर, मध्यम आय वर्ग के 20 प्रतिशत लोगों के लिए 1377.92 हेक्टेयर और उच्च आय वर्ग के 10 प्रतिशत लोगों के लिए 645.90 हेक्टेयर अतिरिक्त आवासीय भूमि की जरूरत पड़ेगी। उधर, महायोजना-2011 को जब अंतिम रूप दिया गया था, तब शहर की अनुमानित आबादी 11,70,897 (परिवारों की संख्या 1,68,754) आंकी गई थी। उस समय शहर में 1,62,799 आवास थे और 5955 आवासीय भवनों की आवश्यकता जताई गई थी, जबकि-2031 में अनुमानित 28 लाख की आबादी को ध्यान में रखते हुए 2,43,917 परिवारों के और बढ़ने की बात कही गई है। इस हिसाब से कुल 2,58,358 आवास की जरूरत का अनुमान लगाया गया है। महायोजना-2031 का खाका तैयार करने की जिम्मेदारी संभाल रहे ग्राम्य एवं नगर नियोजन विभाग के अधिकारी उस समय की अनुमानित आबादी के हिसाब से ढांचागत विकास की रूपरेखा भी तैयार करने में जुटे हैं।


2031 में अनुमानित आबादी के हिसाब से आवासों की जरूरत
आय वर्ग प्रतिशत 2031 तक कुल आवासीय भूखंड का क्षेत्रफल कुल क्षेत्रफल
इकाइयों की जरूरत (वर्ग मीटर में) (हेक्टेयर में)
कमजोर आय वर्ग 40 103243 50 1148
निम्न आय वर्ग 30 77507 100 1550.14
मध्यम आय वर्ग 20 51672 200 1377.92
उच्च आय वर्ग 10 25836 300 645.90
--
अब तक प्रस्तावित महायोजनाएं
प्रथम महायोजना-1950 : इंप्रूवमेंट ट्रस्ट की सीमा को शामिल करते हुए तैयार की गई
द्वितीय महायोजना-1991 : नगर निगम सीमा एवं विनियमित क्षेत्र को शामिल करते हुए तैयार किया गया। इसमें विकास क्षेत्र का कुल क्षेत्रफल 793 वर्ग किमी प्रस्तावित था। इसमें भी वाराणसी नगर समूह, मुगलसराय रेलवे नोटीफाइड और नगर पालिका परिषद तथा 601 राजस्व ग्राम शामिल थे
तृतीय महायोजना-2011 : नगर निगम सीमा एवं 136 राजस्व ग्रामों को शामिल कर तैयार किया गया। कुल क्षेत्रफल 18449.95 हेक्टेयर
चतुर्थ महायोजना-2031 : नगर निगम सीमा एवं 208 राजस्व ग्रामों को शामिल कर बनाया जा रहा है। प्रस्तावित कुल क्षेत्रफल 24434 हेक्टेयर

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us