कसम परेड में लिया देश की रक्षा का संकल्प

Varanasi Updated Tue, 01 May 2012 12:00 PM IST
वाराणसी। 39 जीटीसी के परेड ग्राउंड में सोमवार को आयोजित कसम परेड में जवानों ने देश की रक्षा का संकल्प लिया। यहां 108 जवानों को 42 सप्ताह तक प्रशिक्षण दिया गया है। परेड के पूर्व गोरखा जवानों को परंपरागत हथियार खुखरी भेंट की गई। प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके जवानों को जम्मू कश्मीर और मणिपुर में तैनाती मिलनी है। जवानों को सम्मानित भी किया गया।
गोरखा ट्रेनिंग सेंटर में 42 सप्ताह तक प्रशिक्षण के बाद सेना के और 108 जवान देश की रक्षा के लिए तैयार हो गए। जवानाें ने गीता पर हाथ रखकर देश की रक्षा का संकल्प लिया। लेफ्टिनेंट जनरल एनके सिंह एवं बलवीर पामा, मेजर जनरल जामवाल और ब्रिगेडियर अखिल दीक्षित ने परेड की सलामी ली। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि लेफ्टिनेंट जनरल एनके सिंह ने शानदार परेड की बधाई देने के बाद जवानों को संबोधित किया। उन्होंने जवानों को हर मौसम और परिस्थितियों में अपने आप को ढालने की नसीहत दी। कहा, देश को सेना से बड़ी उम्मीदें होती हैं। अनुशासन, शारीरिक क्षमता और लक्ष्य का हमेशा ध्यान रखें। मुख्य अतिथि ने शहीद स्मारक पर श्रद्धांजलि देने के बाद स्मृति धाम में आगंतुक पुस्तिका पर हस्ताक्षर भी किया। समारोह में कर्नल जोगिंदर सिंह तनवर, कर्नल नीतीश बिष्ट, मेजर वीएस खंडारे, कैप्टन सचिन देशमुख समेत अन्य सेनाधिकारी और जवान मौजूद थे। परेड का संचालन सूबेदार शिक्षा एएन पांडेय ने किया। सैन्य प्रशिक्षण के दौरान सराहनीय कार्य के लिए राइफल मैन गोविंद श्रेष्ठ को बेस्ट इन फायरिंग, राजेश कडेल क्षेत्री को बेस्ट इन टैक्टिस, खगेंद्र खड़का को बेस्ट इन बैनट फाइटिंग, सूर्या बहादुर थापा मगर को बेस्ट इन ड्रिल और नर बहादुर चंतयाल को ओवर ऑल सेकेंड बेस्ट से सम्मानित किया गया। राइफलमैन इंद्र बहादुर महत को ऑल राउंड बेस्ट गौरव खुखरी समेत कई सम्मान प्रदान किए गए।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

अलग अंदाज में मनाया गया BHU स्थापना दिवस, आप भी कर उठेंगे वाह-वाह

सोमवार को बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में 102वां स्थापना दिवस मनाया गया। इस मौके पर पारंपरिक परिधान में सजे छात्र-छात्रों ने झांकियां निकाली। झांकियों के साथ चल रहे स्टूडेंट्स ढोल-नगाड़ों की थाप पर थिरकते नजर आए।

23 जनवरी 2018